Jairam Shukla

मप्र चुनाव 2018: चित्रकूट में उग आए महिला-पुरुष डकैतों का गोपन रहस्य

मप्र चुनाव 2018: चित्रकूट में उग आए महिला-पुरुष डकैतों का गोपन रहस्य

कोई 45 साल पहले मैं अपनी दादी के साथ दीपावली मनाने चित्रकूटधाम गया था. दादी ने बताया था कि मंदाकिनी में दीपदान करने से सरग (स्वर्ग) का दरवाजा सीधे खुल जाता है.

MP विधानसभा चुनाव 2018: इस बार दल नहीं, दिल देखकर वोटर करेगा फैसला

MP विधानसभा चुनाव 2018: इस बार दल नहीं, दिल देखकर वोटर करेगा फैसला

मध्यप्रदेश में राजनीति का बैरोमीटर बता रहा है कि इस बार हवा ठहरी हुई है.

श्रद्धांजलि अन्नपूर्णा देवी: मैहर के सुरबहार का यूं खामोश हो जाना

श्रद्धांजलि अन्नपूर्णा देवी: मैहर के सुरबहार का यूं खामोश हो जाना

इन दिनों मां शारदा की पवित्र नगरी मैहर में भक्तिभाव का समागम है. मां शारदा ज्ञान की देवी हैं, वे वीणावादिनी संगीत की देवी भी हैं.

कृष्णा राजकपूर: जिन्होंने बालीवुड में घोली रीवा की संस्कृति की महक

कृष्णा राजकपूर: जिन्होंने बालीवुड में घोली रीवा की संस्कृति की महक

पिछले महीने ही जब यह खबर आई कि राजकपूर के बेटों ने तय किया है कि वे अब आरके स्टूडियो बेंच देंगे तो यह अनुमान लगाने लगा कि बेटों के इस निर्णय पर कृष्णा कपूर को क्या गुजरी होगी..?

''जा पर विपदा परत है ते आवहिं एहि देस''

''जा पर विपदा परत है ते आवहिं एहि देस''

चित्रकूट की महिमा को लेकर एक दोहा मशहूर है-  चित्रकूट मा बसि रहें रहिमन अवध नरेश, जा पर विपदा परत है ते आवत एंहि देश..

चित्रकूट में राहुल गांधी, 'जा पर विपदा परत है ते आवहिं एहि देस'

चित्रकूट में राहुल गांधी, 'जा पर विपदा परत है ते आवहिं एहि देस'

नई दिल्लीः चित्रकूट की महिमा को लेकर एक दोहा मशहूर है- ''चित्रकूट मा बसि रहें रहिमन अवध नरेश, जा पर विपदा परत है ते आवत एंहि देश''. कांग्रेस विपदा में है.

 'श्रीनिवास तिवारी' अष्टधातुई देवों से अलग एक जन नेता

'श्रीनिवास तिवारी' अष्टधातुई देवों से अलग एक जन नेता

पिछले दो दशकों में पहली बार ऐसा होगा जब श्रीनिवास तिवारी का जन्मदिन बिना उनकी मौजूदगी के आसन्न विपन्नता के साथ मनाया जाएगा. तिवारीजी कांग्रेस के कद्दावर नेता थे.

हिंदी के दांत, खाने के कुछ दिखाने के कुछ

हिंदी के दांत, खाने के कुछ दिखाने के कुछ

दिलचस्प संयोग है कि हिंदी पक्ष हर साल पितरपक्ष के साथ या आगे पीछे आता है.

गणेश उत्सव के बहाने शिव के समाजवाद की सैर

गणेश उत्सव के बहाने शिव के समाजवाद की सैर

जैसा कि पिछले साल "अगले बरस तू लौटकर आ" का वायदा किया था, गणपत बप्पा घर-घर पधार गए. क्या महाराष्ट्र, क्या गुजरात, समूचा देश आज से गणपति मय गया. बडे गणेशजी, छोटे गणेशजी, मझले गणेशजी.

कृष्ण: मुक्ति संघर्ष के महानायक

कृष्ण: मुक्ति संघर्ष के महानायक

सावन और भादौं तिथि-त्योहारों के महीने हैं. यह सिलसिला कार्तिक के डिहठोन (देवउठनी एकादशी) तक चलता है.

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close