Nida Rahman

#MeToo से सजा तो नहीं लेकिन दुनिया जरूर बदलेगी

#MeToo से सजा तो नहीं लेकिन दुनिया जरूर बदलेगी

भारत के सबसे पवित्र त्योहारों में एक है नवरात्र, दुर्गापूजा है. 9 दिन तक देश में बेटियां पूजी जाएंगी, उनको भोज कराया जाएगा.

हलाला-बहुविवाह, औरतों पर जुल्म का ये जरिया बंद हो

हलाला-बहुविवाह, औरतों पर जुल्म का ये जरिया बंद हो

ट्रिपल तलाक के बाद सुप्रीम कोर्ट ने मुस्लिम बहु विवाह, हलाला, मुता निकाह पर केंद्र सरकार और लॉ कमीशन को नोटिस भेजा है.

लड़कियों को देवी नहीं इंसान समझिए

लड़कियों को देवी नहीं इंसान समझिए

हमें बेटियां चाहिए पूजने के लिए या फिर रौदने के लिए. ये बात आपकी बुरी लग सकती है शायद बहुत बुरी और लगनी भी चाहिए क्योंकि यही तो सच है हमारे तथाकथित सभ्य समाज का.

लड़कियों का शरीर कोई पब्लिक प्रॉपर्टी नहीं है

लड़कियों का शरीर कोई पब्लिक प्रॉपर्टी नहीं है

दिल्ली में 23 साल की लड़की ने बस में गंदे तरीके से घूरने वाले एक शख्स को अपनी बहादुरी और हिम्मत की बदौलत पुलिस के हवाले कर दिया. ये खबर हर जगह चल रही है.

बुरा क्यों न मानें ऐसी होली का

बुरा क्यों न मानें ऐसी होली का

बुरा ना मानो होली है. ठीक है हम बुरा नहीं मानते है जब कोई प्यार से, इज्ज़त से रंग और गुलाल लगाता है.

पर्दे पर दिखने वाली खूबसूरती के पीछे का सच

पर्दे पर दिखने वाली खूबसूरती के पीछे का सच

सोनम कपूर का एक ख़त सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है जिसमें सोनम टीनएज लड़कियों को रुपहले पर्दे पर दिखने वाली खूबसूरती की असलियत बता रही हैं.

असमां जहांगीर : शांतिदूत जिसने पाकिस्तानी ही नहीं भारतीयों के लिए भी किया संघर्ष

असमां जहांगीर : शांतिदूत जिसने पाकिस्तानी ही नहीं भारतीयों के लिए भी किया संघर्ष

इंसानी हकूक़ों की पैरोकार असमां जहांगीर बड़ी खामोशी से इस दुनिया को अलविदा कह गईं.

इस ख़ामोशी का खामियाज़ा सबको भुगतना पड़ेगा!

इस ख़ामोशी का खामियाज़ा सबको भुगतना पड़ेगा!

सबसे ख़तरनाक होता है मुर्दा शांति से भर जाना तड़प का न होना सबकुछ सहन कर जाना घर से निकलना काम पर और काम से लौटकर घर आना  

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close