3,250 करोड़ रुपए का कर्ज लेने की तैयारी कर रही है एयर इंडिया

राष्ट्रीय विमानन कंपनी एयर इंडिया अपनी 'अत्यावश्यक' कार्यशील पूंजी की जरूरतों के लिए 3,250 करोड़ रुपये का लघु अवधि का ऋण लेने की योजना बना रही है. एक दस्तावेज से यह जानकारी मिली है. समझा जाता है कि एयर इंडिया को इस प्रस्तावित कर्ज के लिए केंद्र सरकार की गारंटी मिल सकती है. 

भाषा | Updated: Sep 14, 2017, 07:29 AM IST
3,250 करोड़ रुपए का कर्ज लेने की तैयारी कर रही है एयर इंडिया
विनिवेश की तैयारी के बीच एयर इंडिया द्वारा लघु अवधि के लिए ऋण लेना महत्वपूर्ण हो जाता है. इससे पता चलता है कि संभावित तौर पर एयरलाइन को नकदी संकट का सामना करना पड़ रहा है. (file)

नई दिल्ली: राष्ट्रीय विमानन कंपनी एयर इंडिया अपनी 'अत्यावश्यक' कार्यशील पूंजी की जरूरतों के लिए 3,250 करोड़ रुपये का लघु अवधि का ऋण लेने की योजना बना रही है. एक दस्तावेज से यह जानकारी मिली है. समझा जाता है कि एयर इंडिया को इस प्रस्तावित कर्ज के लिए केंद्र सरकार की गारंटी मिल सकती है. उल्लेखनीय है कि सरकार एयर इंडिया के विनिवेश की तैयारी कर रही है. घाटे में चल रही एयर इंडिया के पुनरोद्धार के लिए एक मंत्री स्तरीय समिति एयरलाइन और उसकी पांच अनुषंगियों के रणनीतिक विनिवेश के तौर तरीकों पर काम कर रही है.

विनिवेश की तैयारी के बीच एयर इंडिया द्वारा लघु अवधि के लिए ऋण लेना महत्वपूर्ण हो जाता है. इससे पता चलता है कि संभावित तौर पर एयरलाइन को नकदी संकट का सामना करना पड़ रहा है. एयर इंडिया की ओर से  बुधवार को जारी निविदा दस्तावेज में कहा गया है कि वह सरकार की गारंटी के जरिये 25 सितंबर, 2017 तक 3,250 करोड़ रुपये का लघु अवधि का ऋण लेने पर विचार कर रही है. यह राशि एयरलाइन अपनी कार्यशील पूंजी की जरूरतों को पूरा करने के लिए इस्तेमाल करेगी. इस ऋण की अवधि एक साल की होगी. ऋण की राशि की निकासी दो या तीन किस्तों में की जाएगी.