भारत में अगले 5 वर्षों में 70 प्रतिशत बढ़ जाएगी अर्धअरबपतियों की संख्या

नाइट फ्रैंक इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार 2017 तक अर्ध अरबपतियों की संख्या 200 थी जो 2022 तक बढ़कर 340 हो जाएगी.

भारत में अगले 5 वर्षों में 70 प्रतिशत बढ़ जाएगी अर्धअरबपतियों की संख्या
रिपोर्ट में कहा गया है कि अर्धअरबपतियों की संख्या बढ़ने से मांग और मूल्य वृद्धि आगे चलकर बढ़ेगी.

मुंबई : भारत में 2022 तक किसानों की आमदनी दोगुनी होगी, इसके सरकार द्वारा दावे तो किए जा रहे हैं, लेकिन इस ओर अभी कोई ठोस बातें सामने नहीं आ रही हैं. लेकिन अगले 5 सालों में देश में रईसों की आमदनी में जोरदार इजाफा होगा, ऐसे दावे सर्वे में किए जा रहे हैं. पचास करोड़ डॉलर या उससे अधिक की संपत्तियों वाले अमीर भारतीयों की सूची तेजी से बढ़ रही है. एक सर्वे में कहा गया है कि भारतीय अर्धअरबपतियों (50 करोड़ डॉलर से ऊंची हैसियत के व्यक्ति) की संख्या में 2020 तक 70 प्रतिशत का इजाफा होगा. 

नाइट फ्रैंक इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार 2017 तक अर्ध अरबपतियों की संख्या 200 थी जो 2022 तक बढ़कर 340 हो जाएगी. रिपोर्ट में कहा गया है कि प्रमुख आवास बाजार मुंबई और दिल्ली पिछले पांच साल के दौरान स्थिर रहे हैं. इससे खरीदारों के लिए उनमें प्रवेश का अच्छा अवसर है. 

रिपोर्ट में कहा गया है कि अर्धअरबपतियों की संख्या बढ़ने से मांग और मूल्य वृद्धि आगे चलकर बढ़ेगी. इस विश्लेषण में कहा गया है कि पांच साल के समय में एशिया में अर्धअरबपतियों की संख्या उत्तरी अमेरिका से पहली बार अधिक हो जाएगी. 

(इनपुट भाषा से)

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close