Axis Bank को खरीद सकता है कोटक महिंद्रा बैंक! ये हैं सबसे मजबूत संकेत

कोटक महिंद्रा बैंक मार्केट कैपिटलाइजेशन के लिहाज से देश का दूसरा सबसे बड़ा बैंक बन गया है. ऐसा पहली बार हुआ है जब कोटक महिंद्रा बैंक टॉप 3 बैंकों में शुमार हुआ हो.

Axis Bank को खरीद सकता है कोटक महिंद्रा बैंक! ये हैं सबसे मजबूत संकेत
कोटक महिंद्रा बैंक ने अपने ऑल टाइम हाई 1174 रुपए का भाव पहुंच गया है.

नई दिल्ली: कोटक महिंद्रा बैंक मार्केट कैपिटलाइजेशन के लिहाज से देश का दूसरा सबसे बड़ा बैंक बन गया है. ऐसा पहली बार हुआ है जब कोटक महिंद्रा बैंक टॉप 3 बैंकों में शुमार हुआ हो. दरअसल, एक्सिस बैंक को खरीदने की खबरों के बाद से ही कोटक महिंद्रा बैंक का शेयर लगातार भाग रहा है. कोटक का शेयर अपने लाइफ टाइम हाई पर पहुंच चुका है. मार्केट वैल्यू के लिहाज से वह एचडीएफसी के बाद दूसरे नंबर पर अब कोटक महिंद्रा बैंक है. कोटक महिंद्रा बैंक का मार्केट कैपिटलाइजेशन 2.23 लाख करोड़ रुपए पर पहुंच गया है. ऐसे में यह चर्चा फिर से तेज हो गई है कि कोटक महिंद्रा बैंक जल्द ही एक्सिस बैंक के लिए बोली लगा सकता है.

कोटक महिंद्रा बैंक का मार्केट कैप
कोटक महिंद्रा बैंक ने अपने ऑल टाइम हाई 1174 रुपए का भाव पहुंच गया है. हालांकि, मंगलवार के कारोबार में स्टॉक में कुछ दबाव दिख रहा है. लेकिन, अब वह 1174 के पास आसपास ट्रेड कर रहा है. सोमवार को कोटक बैंक का मार्केट कैप 4192 करोड़ रुपए बढ़ गया. जिसके बाद वह इस लिहाज से देश का दूसरा सबसे बड़ा बैंक बन गया है. सालभर में कोटक महिंद्रा बैंक का शेयर 33% की रिटर्न दे चुका है. ऐसे में उसकी वैल्युऐशन में बड़ा इजाफा हुआ है.

क्यों बढ़ रहा है कोटक बैंक?
दिसंबर 2017 के अंत तक कोटक महिंद्रा बैंक के पास 1.2 करोड़ डिपॉजिट कस्टमर्स थे. जबकि, यह संख्या मार्च 2017 के मुकाबले 50 फीसदी थी. 811 अकाउंट्स के चलते कस्टमर ऐक्विजिशन कॉस्ट और कस्टमर्स को सर्विस देने की कॉस्ट, दोनों में कमी आई. विभिन्न रेट साइकल्स में कोटक का प्रदर्शन अच्छा रहा है. बाजार के एक्सपर्ट्स की मानें तो उम्मीद है कि मार्च तिमाही में भी यह दमदार प्रदर्शन करेगा.

एक्सिस बैंक को खरीदने की खबरें तेज
एक तरफ कोटक महिंद्रा बैंक तेजी से बढ़ रहा है तो वहीं, एक्सिस बैंक की हालत खस्ता है. बड़े एनपीए के बोझ तले दबे इस बैंक के लिए मुश्किल घड़ी है. हाल ही में बैंक की सीईओ शिखा शर्मा के कार्यकाल को भी घटा दिया गया है. इसलिए संकेत मिल रहे हैं कि कोटक महिंद्रा बैंक जल्द ही एक्सिस बैंक को ऑफर कर सकता है. नोमुरा ने भी अपनी रिपोर्ट में दावा किया था कि एशिया के सबसे अमीर बैंकर उदय कोटक बैंक को खरीदने के लिए बोली लगा सकते हैं. नोमुरा ने इसके लिए यह सही वक्त बताया है. आपको बता दें, एक्सिस बैंक देश का तीसरा सबसे बड़ा प्राइवेट सेक्टर बैंक है.

और बड़ा हो जाएगा कोटक महिंद्रा बैंक
नोमुरा के मुताबिक, अगर दोनों बैंकों का मर्जर होता है तो उसके बाद बनने वाले बैंक के पास 5,760 ब्रांच होंगी. इतनी ब्रांच देश के किसी प्राइवेट सेक्टर बैंक के पास नहीं है. ICICI बैंक के पास 4,860 ब्रांच हैं. मर्जर के बाद बैंक की लोन बुक 6.16 लाख करोड़ रुपए हो जाएगी, जो HDFC बैंक की 6.31 लाख करोड़ की लोन बुक से कुछ ही कम होगी. एक्सिस बैंक के पास कोटक महिंद्रा बैंक की तुलना में दोगुनी लोन बुक है.

स्वाप रेशियो से होगी डील
कोटक महिंद्रा बैंक लगातार बढ़ती वैल्युऐशन इस बात का संकेत है कि जल्द ही बैंक कोई नया बड़ा उठाएगा. एक्सिस बैंक को खरीदने की इच्छा खुद उदय कोटक भी जाहिर कर चुके हैं. नोमुरा की रिपोर्ट के मुताबिक कोटक के लिए एक्सिस बैंक को खरीदने का शानदार मौका है. मौजूदा शेयर प्राइस पर 2.15 का स्वाप रेशियो के जरिए डील हो सकती है.

क्यों होनी चाहिए डील?
नोमुरा का कहना है कि एक्सिस बैंक ने ज्यादातर बैड लोन की पहचान पहले ही कर ली है. रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि पिछली बार जब दोनों बैंकों के बीच मर्जर की बात हुई थी, उसके बाद से कोटक महिंद्रा बैंक के शेयर ने एक्सिस बैंक को 30 फीसदी से आउटपरफॉर्म किया. इसलिए उस समय की तुलना में डील अभी कहीं ज्यादा आकर्षक है.

हिस्सेदारी कम करने में मिलेगी मदद
अगर दोनों बैंकों के बीच डील होती है तो इसका मतलब यह है कि एक्सिस बैंक के 2.15 शेयरों के लिए कोटक महिंद्रा बैंक का एक शेयर मिलना चाहिए. इस डील के बाद कोटक की हिस्सेदारी बैंक में अभी के 30 फीसदी से घटकर 17.6 फीसदी रह जाएगी. इस तरह कोटक बैंक को दिसंबर 2018 तक एक्सिस में अपनी हिस्सेदारी कम करने की शर्त को पूरा करने में मदद मिलेगी.

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close