ऑड-ईवन योजना के दौरान सर्ज प्राइसिंग नहीं वसूलेगी ओला

कंपनी ने कहा कि वह ओला शेयर पर किरायों में कटौती कर रही है. अब इस राइट पर शुरुआती कीमत 35 रुपये होगी.

ऑड-ईवन योजना के दौरान सर्ज प्राइसिंग नहीं वसूलेगी ओला
कतार में खड़ी ओला कैब सर्विस की गाड़ियां. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: एप आधारित टैक्सी सेवा देने वाली कंपनी ओला ने शुक्रवार (10 नवंबर) को कहा कि वह राजधानी दिल्ली में अगले सप्ताह सम विषम योजना लागू होने के दौरान डायनामिक या सर्ज किराया नहीं वसूलेगी. कंपनी ने बयान में कहा कि वह सम विषम योजना का समर्थन करती है. राष्ट्रीय राजधानी में वायु प्रदूषण का मौजूदा स्तर चिंताजनक है और इस दिशा में तत्काल कदम उठाने की जरूरत है. ओला ने बयान में हम सम विषम पहल का स्वागत करते हैं. राष्ट्रीय राजधानी में प्रदूषण का मौजूदा स्तर तथा धुंध काफी चिंताजनक है. यह जरूरी हो जाता है कि हम इस स्थिति से निपटने के लिए सरकार का सहयोग करें. कंपनी ने कहा कि वह ओला शेयर पर किरायों में कटौती कर रही है. अब इस राइट पर शुरुआती कीमत 35 रुपये होगी.

वहीं दूसरी ओर खबर है कि शहर में सम विषम योजना के पांच दिनों के दौरान डीटीसी बसों की मुफ्त सवारी के दिल्ली सरकार के फैसले से उसे करीब साढ़े नौ करोड़ रुपये का नुकसान हो सकता है. परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने घोषणा की कि दिल्ली सरकार यात्रियों को 13 से 17 नवंबर तक समविषम योजना के दौरान सभी डीटीसी और क्लस्टर बसों में मुफ्त यात्रा की अनुमति देगी ताकि सार्वजनिक परिवहन को बढ़ावा दिया जा सके.

इस साल जून के आंकड़ों के अनुसार, दिल्ली परिवहन निगम (डीटीसी) की बसों में प्रतिदिन करीब 28 लाख यात्री यात्रा करते हैं और वह रोजाना 1.88 करोड़ रुपये कमाता है. पांच दिन की मुफ्त सेवा से डीटीसी को करीब साढ़े नौ करोड़ रुपये का नुकसान होगा.

डीटीसी के एक अधिकारी ने बताया, ‘यह हम पर अतिरिक्त बोझ होगा क्योंकि हम पहले से ही नुकसान में चल रहे हैं.’ कैग रिपोर्ट के अनुसार, डीटीसी लगातार नुकसान में चल रहा है. डीटीसी का 2014-15 में कुल नुकसान 2917 .75 करोड़ रुपये था जो पिछले पांच वित्तीय वर्ष में सर्वाधिक था.

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close