महंगाई: डीजल अब तक का सबसे महंगा, पेट्रोल पर भी बढ़े 9 पैसे/लीटर दाम

दिल्ली में पेट्रोल-डीजल के दाम साल के सबसे उच्चतम स्तर के करीब हैं. दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 4 साल के बाद इतनी बढ़ रही है. वहीं, डीजल की कीमतें अब तक के सबसे ऊंचे स्तर पर हैं. 

महंगाई: डीजल अब तक का सबसे महंगा, पेट्रोल पर भी बढ़े 9 पैसे/लीटर दाम
राजधानी में पेट्रोल 74.02 रुपए/लीटर और डीजल 65.18 रुपए प्रति लीटर पर बिक रहा है.

नई दिल्ली: दिल्ली में पेट्रोल-डीजल फिर महंगा हो गया. पेट्रोल में 4 पैसे की वृद्धि की गई है, जबकि डीजल में 9 पैसे की बढ़ोतरी हुई है. रोजाना तय होने वाले रेट के चलते पिछले दो दिन में पेट्रोल 9 पैसे वहीं डीजल 17 पैसे महंगा हो चुका है. दिल्ली में पेट्रोल-डीजल के दाम साल के सबसे उच्चतम स्तर के करीब हैं. दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 4 साल के बाद इतनी बढ़ रही है. वहीं, डीजल की कीमतें अब तक के सबसे ऊंचे स्तर पर हैं. राजधानी में पेट्रोल 74.02 रुपए/लीटर और डीजल 65.18 रुपए प्रति लीटर पर बिक रहा है. आपको बता दें, सोमवार दिल्ली में पेट्रोल 4 साल बाद सबसे महंगा बिक रहा है. इससे पहले 2014 में पेट्रोल के दाम इस स्तर तक पहुंचे थे. क्रूड ऑयल में तेजी के कारण पेट्रोल के दाम नई ऊंचाइयों पर पहुंच रहे हैं.

17 पैसे महंगा हुआ डीजल
रोजाना तय होने वाली पेट्रोल-डीजल की कीमतों के चलते तेल कंपनियों ने दिल्ली में दाम में बढ़ोतरी की है. सोमवार को दिल्‍ली में डीजल की कीमतों में 9 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोत्‍तरी की गई. दरअसल, सरकारी तेल कंपनियां जून, 2017 से रोजाना पेट्रोल-डीजल के दाम की समीक्षा करती हैं. इसके चलते हर दिन रेट बदलते हैं.

4 साल पुराने स्तर को छूने के करीब
दिल्ली में पेट्रोल 74.02 रुपए लीटर पहुंच गया है. आपको बता दें दिल्ली में अब तक सबसे महंगा पेट्रोल सितंबर 2014 में था. उस वक्त इसकी कीमत 76.06 रुपए प्रति लीटर पहुंची थी. वहीं, डीजल की बात करें तो दिल्ली में यह 65.18 रुपए प्रति लीटर बिक रहा है. यह डीजल का अब तक का सबसे ज्यादा भाव है. इसी साल में डीजल की कीमतें 5.50 रुपए प्रति लीटर तक बढ़ चुकी हैं. डीजल इस वक्त सबसे ऊंचे स्तर पर है.

सरकार की कटौती पर ना
केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि सरकार ने पेट्रोलियम कंपनियों को पेट्रोल-डीजल की कीमतें घटाने का कोई निर्देश नहीं दिया है. मतलब साफ है कि सरकार फिलहाल पेट्रोल-डीजल की कीमतों को लेकर चिंतित नहीं है. साथ ही वह लगातार हो रही बढ़ोतरी को भी रोकने के पक्ष में नहीं है.

एक्साइज ड्यूटी घटाने की मांग
हालांकि, पेट्रोलियम मंत्रालय लगातार एक्साइज ड्यूटी घटाने की मांग चुका है. साथ ही जीएसटी के तहत लाकर पेट्रोल-डीजल की कीमतों को नियंत्रित करने का भी प्रस्ताव है. लेकिन, अभी तक इस पर कोई फैसला नहीं लिया गया है. दरअसल, अंतरराष्ट्रीय बाजार में क्रूड की कीमतें लगातार बढ़ रही हैं. इसका असर पेट्रोल-डीजल की कीमतों पर भी पड़ा रहा है.

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close