PNB घोटाला: नीरव मोदी और मेहुल चोकसी को CBI ने फिर भेजा सम्मन

पेशी के संबंध में सीबीआई द्वारा जारी नोटिस पर अपने विस्तृत ई- मेल जवाब में चोकसी ने कहा कि अधिकारियों ने उसका पासपोर्ट निलंबित कर दिया. 

PNB घोटाला: नीरव मोदी और मेहुल चोकसी को CBI ने फिर भेजा सम्मन
नीरव मोदी ने जवाब दिया और कहा कि वह भी जांच से जुड़ने के लिए भारत नहीं आ सकता.(फाइल फोटो)
Play

नई दिल्ली: केंद्रीय जांच ब्यूरो( सीबीआई) ने अरबपति नीरव मोदी और उसके मामा मेहुल चोकसी को यथाशीघ्र जांच से जुड़ने के लिए फिर सम्मन भेजा और दोनों को स्पष्ट किया कि जांच एजेंसी के साथ सहयोग करना उनका दायित्व बनता है. जांच एजेंसी ने 19, 23 और 28 फरवरी को सम्मन भेजा था और उनसे यथाशीघ्र जांच से जुड़ने को कहा था. उन्हें सात मार्च को पेश होने को कहा गया था. गीतांजलि जेम्स के प्रवर्तक चोकसी ने सात पन्नों के अपने जवाबी पत्र में कहा है कि उसका पासपोर्ट निलंबित होने तथा उसके खराब स्वास्थ्य के चलते उसके लिए भारत लौटना तथा जांच से जुड़ना असंभव है.

चोकसी के वकील ने जारी किया पत्र 
चोकसी के वकील ने यह पत्र जारी किया. पेशी के संबंध में सीबीआई द्वारा जारी नोटिस पर अपने विस्तृत ई- मेल जवाब में चोकसी ने कहा कि अधिकारियों ने उसका पासपोर्ट निलंबित कर दिया और वह इलाज करा रहा है.  सोलह फरवरी को उसे पासपोर्ट कार्यालय से ई-मेल मिला था जिसमें उसे बताया गया था कि भारत पर सुरक्षा खतरे के चलते उसका यात्रा दस्तावेज निलंबित कर दिया गया है. हालांकि मुंबई के क्षेत्रीय पासपोर्ट कार्यालय ने उसे उसके पासपोर्ट के निलंबन का कारण नहीं बताया या यह कि वह कैसे सुरक्षा खतरा है. 

यह भी पढ़ें- मेहुल चोकसी का PNB स्कैम में CBI को पत्र, 'मुझसे भारत की सुरक्षा को कैसा खतरा'

चोकसी ने कहा- यात्रा करने की स्थिति में नहीं हूं
उसने कहा, ‘‘ मैं अपनी स्वास्थ्य समस्याओं की वजह से यात्रा करने की स्थिति में नहीं हूं. मेरी फरवरी, 2018 के पहले हफ्ते में हृदय चिकित्सा हुई थी. तथा उस संबंध में अभी और कुछ प्रक्रियाएं होनी हैं. किडनी को खतरे की वजह से पूरी प्रक्रिया सभी शिराओं पर पूरी नहीं की जा सकती अत: मुझे अगले कम से कम चार से छह महीने तक यात्रा करने की इजाजत नहीं है.’’ 

नीरव मोदी ने दिया जवाब 
इसी तर्ज पर नीरव मोदी ने जवाब दिया और कहा कि वह भी जांच से जुड़ने के लिए भारत नहीं आ सकता. अधिकारियों के अनुसार अपने कड़े जवाब में सीबीआई ने उन्हें कहा है कि वे जिस किसी भी देश में हैं, वहीं वे भारतीय मिशन से संपर्क करें, ताकि भारत की उनकी यात्रा का तत्काल इंतजाम कराया जा सके.

सीबीआई ने इससे पहले दोनों को मुम्बई में पंजाब नेशनल बैंक की ब्रैडी हाउस शाखा से धोखाधड़ी से आश्वासन पत्र( एलओयू) एवं ऋणपत्र( एलओसी) जारी करवाने से संबद्ध दो अरब डॉलर के घोटाले की जांच से जुड़ने को कहा था.

आरोप है कि चोकसी और नीरव की मामा- भांजे की जोड़ी की कंपनियों को स्विफ्ट संदेशों के माध्यम से पीएनबी की ब्रैडी रोड शाखा से दो अरब डॉलर के एलओयू और एलओसी जारी किये गये थे .  निगरानी से बचने के लिए इन स्विफ्ट संदेशों को पीएनबी के बैंकिंग सॉफ्टवेयर में प्रविष्ट नहीं किया गया. 

इनपुट भाषा से भी 

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close