सुप्रीम कोर्ट ने यूनिटेक लिमिटेड से देनदारी मुक्त संपत्तियों का विवरण मांगा

उच्चतम न्यायालय ने जमीन जायदाद का कारोबार करने वाली कंपनी यूनिटेक लि को सोमवार को अपनी देनदारी मुक्त संपत्तियों का विवरण देने का निर्देश दिया और कहा कि इन सम्पत्तियों को नीलाम किया जाएगा ताकि कंपनी के मकानों के ग्राहकों का फंसा पैसा लौटाया जा सके. 

सुप्रीम कोर्ट ने यूनिटेक लिमिटेड से देनदारी मुक्त संपत्तियों का विवरण मांगा
(फाइल फोटो)

नई दिल्ली : उच्चतम न्यायालय ने जमीन जायदाद का कारोबार करने वाली कंपनी यूनिटेक लि को सोमवार को अपनी देनदारी मुक्त संपत्तियों का विवरण देने का निर्देश दिया और कहा कि इन सम्पत्तियों को नीलाम किया जाएगा ताकि कंपनी के मकानों के ग्राहकों का फंसा पैसा लौटाया जा सके. 

प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा, न्यायमूर्ति ए. एम. खानविलकर और न्यायमूर्ति धनन्जय वाई. चन्द्रचूड़ की तीन सदस्यीय खंडपीठ ने इसके साथ ही जे. एम. फाइनेन्शियल रिकंशट्रक्शन कंपनी पर 25 लाख रूपए का जुर्माना भी लगाया. इस कंपनी ने एचडीएफसी बैंक द्वारा यूनिटेक लिमिटेड को दिए गए कर्ज में से कुछ कर्ज को खरीद लिया था. 

और क्या हुआ कोर्ट में? 
पीठ ने कहा कि रिकंशट्रक्शन कंपनी की संपत्ति ने ऐसा आभास कराया था कि वह मकान खरीदारों को धन लौटाने के लिये पैसा देगी और अब सारी रकम दूसरे काम में लगा दी गई है. पीठ ने इस पर जुर्माना लगाते हुये कहा, ‘‘ हम इसे मुख्य मामले से एक अनावश्यकभटकाव के रूप मे देखते हैं.’’ 

6 माह में पूरी करें 2जी जांच, सुप्रीम कोर्ट की CBI और ईडी को फटकार

 

पीठ ने रियल इस्टेट कंपनी को अपनी समस्त देनदारी मुक्त संपत्तियों का विवरण देने का निर्देश दिया और स्पष्ट किया कि परेशान मकान खरीदारों के सौदों के निबटारे के लिये इसकी नीलामी की जायेगी. कंपनी को संपत्तियों का विवरण आज से15 दिन के भीतर देना है.

इस कंपनी ने पांच मार्च को न्यायालय से कहा था कि मुंबई स्थित जे. एम. फाइनेन्शियल लि की उसकी निर्माणाधीन परियोजनाओं को वित्तीय सहायता देने में दिलचस्पी है. शीर्ष अदालत ने पिछले साल30 अक्तूबर को कहा था कि यूनिटेक लि के प्रबंध निदेशक संजय चन्द्रा को रजिस्ट्री में अपेक्षित धन जमा करने पर ही जमानत दी जायेगी. संजय चन्द्रा इस समय तिहाड़ जेल में बंद है.

(इनपुट - भाषा)

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close