Movie Review: अभिषेक-तापसी-विक्‍की के बीच 'प्‍यार और फ्यार' की 'मनमर्जियां' पसंद आएंगी 'पर...'

'मनमर्जियां' के तीनों मुख्‍य किरदारों में अगर सबसे ज्‍यादा नंबर दिए जाएंगे तो वह विक्‍की कौशल के खाते में जाते हैं, जिसने एक कंफ्यूज लड़के के किरदार में जबरदस्‍त काम किया है.

Movie Review: अभिषेक-तापसी-विक्‍की के बीच 'प्‍यार और फ्यार' की 'मनमर्जियां' पसंद आएंगी 'पर...'

नई दिल्‍ली: निर्देशक अनुराग कश्‍यप अभी तक बेहद देसी फ्लेवर वाली फिल्‍मों को पर्दे पर लाते रहे हैं. लेकिन 'मनमर्जियां' अनुराग कश्‍यप की बिलकुल के कमान से निकला बिलकुल अलग तीर है, जिसमें वह 'प्‍यार और फ्यार' की केमिस्‍ट्री समझाते और इसी कश्‍मकश को दिखाते नजर आ रहे हैं. 'मनमर्जियां' के म्‍यूजिक ने पहले ही काफी तारीफें पा ली हैं. आज रिलीज हुई यह फिल्‍म एक लव-ट्राएंगल है, जिसमें विक्‍की कौशल, तापसी पन्नू और अभिषेक बच्‍चन जैसी बिलकुल नई कास्‍ट नजर आ रही है. फिल्‍म में बहुत कुछ है, जिसके लिए आप सिनेमाघर में जा सकते हैं. जानिए कैसी है अनुराग कश्‍यप की यह रोमांटिक फिल्‍म.

कहानी: 'मनमर्जियां' कहानी है रूमी (तापसी पन्नू) की, जो एक बिंदास लड़की है. अपनी जिंदगी के फैसले खुद लेती है और अपनी पड़ोस के लड़के विक्‍की ( विक्‍की कौशल) से बेहद प्‍यार करती है. विक्‍की एक डीजे बनना चाहता है और एक दिलचस्‍प किरदार है. यह दोनों एक दूसरे से बेहद प्‍यार करते हैं लेकिन विक्‍की प्‍यार-मोहब्‍बत तो करना चाहता है पर शादी जैसे कमिटमेंट के लिए तैयार नहीं है. रूमी के घरवाले विक्‍की को उसके साथ देख लेते हैं और फिर बाद शुरू होती है शादी की. लेकिन विक्‍की, जो रूमी के बिना रह नहीं सकता, पर शादी की बात करने के लिए घर नहीं पहुंचता. वहीं एंट्री होती है रोबी ( अभिषेक बच्‍चन) की जो लंदन से अरेंज मैरेज करने अमृतसर अपने घर आता है. उसे रूमी का फोटो देखते ही उससे प्‍यार हो जाता है और यहीं से शुरू होता है यह लव ट्राएंगल. अब रूमी किसका प्‍यार होती है, विक्‍की का या रोबी का, यह देखने के लिए आपको सिनेमाघरों तक जाना होगा.

manmarziyaan

फिल्‍म की यूएसपी की बात करें तो वह है किरदारों की एक्टिंग, जिसने दिल जीत लिया है. चाहे तापसी पन्नू का अक्‍खड़ अंदाज हो या लंदन रिटर्न अभिषेक बच्‍चन, हर किसी ने अपने किरदार में शानदार काम किया है. तापसी पन्नू की तारीफ करनी होगी जो रूमी जैसी लड़की के किरदार को शानदार तरीके से पर्दे पर उतारती हैं. लेकिन फिल्‍म के तीनों किरदारों में अगर सबसे ज्‍यादा नंबर दिए जाएंगे तो वह विक्‍की कौशल के खाते में जाते हैं, जिसने एक कंफ्यूज लड़के के किरदार में जबरदस्‍त काम किया है. इस तरह के किरदार से अक्‍सर फिल्‍मों में आप बड़ी आसानी से चिढ़ सकते हैं, क्‍योंकि वह जिम्‍मेदारियों से भागता है, लेकिन विक्‍की ने इस किरदार को इस मासूमियत से निभाया है कि आपको कहीं भी उसकी नीयत पर शक नहीं होता. विक्‍की कौशल एक एक्‍टर के तौर पर बॉलीवुड को मिला तौहफा हैं.

वहीं फिल्‍म का म्‍यूजिक भी जबरदस्‍त है. गानों के लिरिक्‍स से लेकर उसके म्‍यूजिक तक, सब कुछ फिल्‍म में एकदम सटीक बैठता है. कहानी में पंजाब को बेहद खूबसूरती से दिखाया गया है. इन सारी बातों को सुनकर आपको लग रहा होगा कि फिल्‍म में सबकुछ इतना अच्‍छा है, तो ये 'पर' बीच में क्‍यों आ रहा है. दरअसल यह 'पर' है इस फिल्‍म की घिसी-पिटी कहानी, जो इससे पहले आप कई और फिल्‍मों में देख चुके हैं. प्‍यार का ट्राएंगल, सही और गलत प्‍यार की पहचान जैसा आप इससे पहले कई कहानियों में देख चुके हैं और ऐसी कुछ कहानियां पहले भी हिट हो चुकी हैं.

manmarziyaan

हालांकि यहां कहना होगा कि इस कहानी को अनुराग कश्‍यप ने बेहद अलहदा तरीके से बयां करने और दिखाने की कोशिश की है. लेकिन फिर भी फिल्‍म एक मूमेंट के बाद बिलकुल अटकी सी लगती है. इंटरवेल से पहले तक की कहानी हमें काफी मोड़ हैं, लेकिन इंटरवेल के कुछ देर बाद महसूस होता है कि चीजें बस गोल-गोल घूम रही हैं. हालांकि मुझे फिल्‍म का क्‍लाइमेंक्‍स काफी अच्‍छा लगा, जो एक दिलचस्‍प अंदाज में दिखाया गया है. क्‍लाइमैक्‍स में इस कदर का ठहराव काफी कम देखने को मिलता है और इसके लिए निर्देशक को पूरा नंबर.

कास्‍ट: तापसी पन्नू, विक्‍की कौशल, अभिषेक बच्‍चन
डायरेक्‍टर: अनुराग कश्‍यप
स्‍टार: 3 स्‍टार

manmarziyaan

'मनमर्जियां' एक मजेदार फिल्‍म है, जो प्‍यार के एक नए फ्लेवर को लेकर आती है. पर काश इसकी कहानी पर कुछ और काम किया गया होता, तो यह अपने समय की सबसे शानदारन लव-स्‍टोरीज में से एक बन सकती थी. मेरी तरफ से इस फिल्‍म को 3 स्‍टार.

बॉलीवुड की और खबरें पढ़ें

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close