नोबेल पुरस्कार विजेता सत्यार्थी बोले, 'पौष्टिक भोजन से बढ़ता है बच्चों का स्वाभिमान'

सबवे रेस्तरां परोपकारी संगठनों के साथ मिलकर हर साल तीन नवंबर को दुनियाभर में वर्ल्ड सैंडविच डे मनाता है. 

नोबेल पुरस्कार विजेता सत्यार्थी बोले, 'पौष्टिक भोजन से बढ़ता है बच्चों का स्वाभिमान'
(फोटो साभार- IANS)

नई दिल्ली:  नोबेल पुरस्कार विजेता कैलाश सत्यार्थी ने कहा कि संतुलित व पौष्टिक भोजन शारीरिक और मानसिक विकास के लिए जरूरी है, क्योंकि उससे किशोरावस्था में स्वाभिमान बढ़ता है. बाल अधिकार के पैरोकार सत्यार्थी ने कहा कि बेहतर पोषण और आरोग्य पर व्यक्ति की खुशहाली और स्वतंत्रता निर्भर करती है. 

त्वरित सेवा रेस्तरा श्रंखला सबवे द्वारा आयोजित सैंडविच डे के मौके पर आयोजित कार्यक्रम में सत्यार्थी ने शाकाहारी प्रोटीन और ताजा सब्जियां, शहद मिश्रित ओट-ब्रेड मिलाकर कैलाश सैंडविच बनाई, जिसे पोदीना और पीली चटनी के जायके से लबरेज किया गया था. सबवे रेस्तरां परोपकारी संगठनों के साथ मिलकर हर साल तीन नवंबर को दुनियाभर में वर्ल्ड सैंडविच डे मनाता है. 

SuperFood: शरीर को चुस्त-दुरुस्त रखने के लिए खाएं चना-गुड़, दूर होती हैं कई बीमारियां

World Sandwich Day

भारत में सबवे ने कैलाश सत्यार्थी चिल्ड्रन फाउंडेशन के साथ साझेदारी की है. सबवे के दक्षिण एशिया कंट्री डायरेक्टर, रणजीत तलवार ने कहा कि वर्ल्ड सैंडविच डे मनाने के लिए अपने मेहमानों का उत्साह बढ़ाने के मकसद से सबवे भारत में अपने सभी रेस्तराओं में दो नवंबर से बाय वन गेट वन फ्री ऑफर शुरू करेगा. 

(इनपुट: IANS)

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close