रेसिपी: ग्रीन चटनी को आसानी से कैसे तैयार करें- ये वीडियो देखें

रेसिपी: ग्रीन चटनी को आसानी से कैसे तैयार करें- ये वीडियो देखें

यदि खाने के साथ चटनी मिल जाए तो भोजन का आनंद बढ़ जाता है। और अगर ग्रीन चटनी मिल जाए तो खाने का स्‍वाद काफी बढ़ जाता है। आज हम आपको एक नए तरीके से ग्रीन चटनी बनाना सिखाएंगे। जानें क्या है इसे बनाने की विधि, इसे आप घर पर भी आसानी से बना सकते हैं।

इन पांच उपायों से जोड़ों के दर्द को कहें अलविदा इन पांच उपायों से जोड़ों के दर्द को कहें अलविदा

जोड़ों का दर्द बहुत तकलीफदेह हो सकता है। जोड़ों की बीमारियों से दर्द और चलने-फिरने में परेशानी हो सकती है। इनमें से कुछ समस्याओं के लिए सर्जरी की आवश्यकता होती है। लेकिन ज्यादातर जोड़ों के दर्द में राहत के लिए आप इन उपायों का अपना सकते हैं।

चिकुनगुनिया के उपचार के कुछ घरेलू नुस्खे चिकुनगुनिया के उपचार के कुछ घरेलू नुस्खे

चिकुनगुनिया एक तरह का वायरल बुखार है जो कि मच्छरों के काटने से फैलता है। चिकुनगुनिया अल्फावायरस के कारण होता है जो मच्छरों के काटने के दौरान मनुष्यों के शरीर में प्रवेश कर जाते हैं। चिकुनगुनिया में जोड़ों में दर्द , सिर दर्द , उल्टी और जी मिचलाने के लक्षण उभर सकते हैं । चिकुनगुनिया के उपचार के लिए कुछ घरेलू नुस्खे हैं जिनका इस्तेमाल कर चिकुनगुनिया से खुद को बचाया जा सकता है।

कमर दर्द से बचना है तो अपनाएं ये उपाय! कमर दर्द से बचना है तो अपनाएं ये उपाय!

कमर दर्द की समस्या आजकल आम हो गई है। इसकी एक प्रमुख वजह, काम के दौरान ज्यादातर घंटे तक बैठे रहना है। इसके अलावा भारी वस्तु उठाने से कमर के निचले क्षेत्र की डिस्क खिसकने से भी कमर दर्द होने लगता है। 

सर्दी-खांसी और बुखार में असरदार हैं तुलसी के पत्ते सर्दी-खांसी और बुखार में असरदार हैं तुलसी के पत्ते

कुछ लोग इम्युनिटी कमजोर होने के चलते बार-बार सर्दी-खांसी और बुखार की चपेट में आ जाते हैं। इससे निपटने के लिए वो पेरासिटामोल या कफ़ सिरप ले लेते हैं। लेकिन क्या आपको पता है कि बार-बार इन दवाओं का इस्तेमाल आपके लिए घातक साबित हो सकता है। खैर, अब आप तुलसी की चंद हरी-हरी पत्तियों से इन छोटी-छोटी समस्यायों से राहत पा सकते हैं। आपको बता दें कि तुलसी में कई औषधीय गुण होते हैं। ये इम्युनिटी सिस्टम मजबूत करने और आपको तनाव, सिरदर्द व साइनसाइटिस आदि से बचाने में सहायक होते है।

70% नूडल्स में नमक की मात्रा बहुत अधिक: अध्ययन 70% नूडल्स में नमक की मात्रा बहुत अधिक: अध्ययन

देश में मिलने वाले 70 फीसदी नूडल्स में नमक की मात्रा बहुत अधिक होती है और इससे जुड़ी पोषण सूचना पैनल की सूची में भारत नौवें स्थान पर है।

पेट की धमनियों को फटने से बचाती है ग्रीन टी पेट की धमनियों को फटने से बचाती है ग्रीन टी

ग्रीन टी के प्रति आपकी दीवानगी आपके पेट के धमनियों को टूटने से बचाती है। शोधकर्ताओं का कहना है कि शरीर की मुख्य धमनियों का खतरनाक स्थिति में चले जाना धीमी मौत की मुख्य वजह होती है। निष्कर्ष बताता है कि ग्रीन टी का मुख्य घटक पॉलीफिनाल है। यह पेट के महाधमनी को टूटने से बचाने में मददगार होता है। इस स्थिति में मुख्य धमनी में ज्यादा खिंचाव आने से यह फूल जाती है।

चिकनगुनिया से घबराएं नहीं, आराम करें और तरल पदार्थ का करें सेवन चिकनगुनिया से घबराएं नहीं, आराम करें और तरल पदार्थ का करें सेवन

दिल्ली में चिकनगुनिया मामलों में सहसा वृद्धि के बीच चिकित्सकों एवं सरकारी अधिकारियों ने लोगों से कहा है कि इससे घबरायें नहीं क्योंकि यह वाहक (वेक्टर) जनित रोग है जिसमें रोगी पस्त तो हो जाता है किन्तु मृत्युभय नहीं रहता है। उन्होंने मच्छरों के प्रजनन को रोकने के कई उपायों का सुझाव दिया है।

दिल के रोगियों में डेंगू से बढ़ सकती है हृदय संबंधी मुश्किलें दिल के रोगियों में डेंगू से बढ़ सकती है हृदय संबंधी मुश्किलें

एक निजी अस्पताल के अध्ययन में यह बात सामने आई है कि दिल के रोगियों में डेंगू से उनकी हृदय संबंधी परेशानियां बढ़ सकती हैं। फोर्टिस हेल्थकेयर ने पिछले तीन महीने में दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के अस्पतालों में भर्ती किये गये 150 रोगियों पर यह अध्ययन किया।

हमारी दिनचर्या को प्रभावित करती है नींद की कमी हमारी दिनचर्या को प्रभावित करती है नींद की कमी

नींद की कमी हमारी नियमित दिनचर्या को बुरी तरह प्रभावित करती है। एक अध्ययन में कहा गया है कि पर्याप्त नींद नहीं ले पाने के कारण एक व्यक्ति लोगों के चेहरे के भाव को ठीक से नहीं पढ़ पाता।

बरसात के मौसम में मसालेदार चीजें खाने से बचें बरसात के मौसम में मसालेदार चीजें खाने से बचें

बरसात के मौसम में बाहर की चीजें खाने से परहेज करें क्योंकि कई बार रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होने से बैक्टीरिया का हमला जल्दी होता है। फ्राइड फूड न खाएं क्योंकि पाचन क्रिया इस मौसम में धीमी पड़ जाती है जिससे एसिडिटी की समस्या हो सकती है। मांसाहार के प्रयोग से भी बचें।

बीमारियों के खतरे को कम करता है अखरोट  बीमारियों के खतरे को कम करता है अखरोट

अखरोट को पसंद करने वाले इसे डर से नहीं खाते हैं कि इसमें कैलोरी ज्यादा होती है और इससे उनका वजन बढ़ सकता है। लेकिन एक नए अध्ययन में यह बात सामने आई है कि अमेरिकी सरकार ने अखरोट में जितनी कैलोरी बताई हुई हैं उससे 21 प्रतिशत कम केलोरी होती हैं। प्रतिष्ठित ‘जनरल ऑफ न्यूट्रीशिन’ में प्रकाशित हुए इस अध्ययन में बताया गया है कि अमेरिका के कृषि विभाग (यूएसडीए) ने अखरोट में जितनी कैलोरी होने की बात कही है, असल में, अखरोट में उससे 21 फीसदी कम कैलोरी होती हैं।

फूड प्वाइज़निंग होने पर अपनायें ये सात उपाय! फूड प्वाइज़निंग होने पर अपनायें ये सात उपाय!

फूड प्वाइज़निंग दूषित भोजन से होने वाली एक बीमारी है। ये ऐसी बीमारी है जिसका इलाज आप एक दो दिन में या फिर हफ्ते में खुद ही कर सकते हैं। फूड प्वाइज़निंग के आम लक्षणों में शामिल हैं- मतली, उल्टी, दस्त, ऐंठन।

अपने घर में 'पंजीरी' कैसे बनाएं, देखें यह वीडियो अपने घर में 'पंजीरी' कैसे बनाएं, देखें यह वीडियो

आप अपने घर में स्वादिष्ट हेल्दी रेसिपी 'पंजीरी' मशहूर शेफ रणवीर बराड़ के डायरेक्शन में आसानी से बना सकते हैं। नीचे दिये गये वीडियो का अनुसरण करें। 'पंजीरी' में काफी मात्रा में पोषक तत्व पाये जाते हैं और स्वाद में मीठा होता है। आप इसे ड्राई फूट की तरह भी अपने भोजन में शामिल कर सकते हैं। देखें वीडियो- 

कैसे बनाएं केसर बादाम आईसक्रीम?, बनाने की विधि जानने के लिए देखें यह वीडियो कैसे बनाएं केसर बादाम आईसक्रीम?, बनाने की विधि जानने के लिए देखें यह वीडियो

अगर आप गर्मी से परेशान हो रहे हैं तो चिंता की कोई बात नहीं हमने इस भीषण गर्मी से राहत दिलाने के लिए खास व्यवस्था की है यानी आप केसर बादाम आईसक्रीम खाकर गर्मी से राहत पा सकते हैं। इस स्वादिष्ट आईसक्रीम के लिए आपको चिलचिलाती धूप में घर के बाहर भी जाने की जरूरत नहीं है। आप इसे घर में ही बना सकते हैं। आप इसे घर में कैसे बनाएंगे? देखें यह वीडियो-  

ये रहीं वो 6 टिप्स जिनसे अपने गुस्से को करें काबू! ये रहीं वो 6 टिप्स जिनसे अपने गुस्से को करें काबू!

क्रोध एक सामान्य, स्वस्थ भावना है, और हम सभी को तमाम मौकों पर गुस्सा आता है। लेकिन, जब यह नियंत्रण से बाहर है, यह आपके मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य के साथ-साथ आपको अपनों के साथ रिश्तों को भी नुकसान पहुंचा सकता है।

'ब्रेड डोसा' को कुछ इस तरह बनाएं- देखें वीडियो 'ब्रेड डोसा' को कुछ इस तरह बनाएं- देखें वीडियो

प्‍लेन डोसा या मसाला डोसा तो आपने जरूर खाया होगा। यह बनाने में बेहद आसान है और इसका स्वाद भी काफी उम्दा है। लेकिन क्‍या आपने ब्रेड डोसा बनाने के बारे में कभी सोचा है। इस वीडियो को देखकर आप जान जाएंगे कि घर के किचन में आप ब्रेड डोसा कैसे बना सकते हैं।

किडनी स्टोन: इन 10 लक्ष्णों को हर्गिज नहीं करें नजरअंदाज किडनी स्टोन: इन 10 लक्ष्णों को हर्गिज नहीं करें नजरअंदाज

किडनी स्टोन लोगों में तेजी से बढ़ रहा है और यह एक आम समस्या बनता जा रहा है, हालांकि इसके कुछ प्रारंभिक चेतावनी संकेत होते हैं जिन्हें समय से पहचान कर इससे बचा जा सकता है। यह बीमारी मूत्रतंत्र का एक रोग है, जिसमें किडनी के अंदर छोटे-छोटे पत्थर जैसे कठोर टुकड़े बन जाते हैं।

इन आसान उपायों से कान दर्द से मिलेगी राहत इन आसान उपायों से कान दर्द से मिलेगी राहत

आप जल्द और सुविधाजनक यात्रा के लिए हवाई मार्ग का चयन करते हैं और फ्लाइट से कहीं आने-जाने में आनंद भी आता है लेकिन जब आप टेक ऑफ और लेंड करते हैं तो कानों में काफी पीड़ादायक होता है। असमान दबावों के कारण प्रायः कान में दर्द होता है। जब प्लेन उतरता है तो कानों के पर्दा में दबाव बढ़ जाता है। फ्लाइट में कान दर्द से बचने के लिए यहां कुछ तरीके बताये गये हैं।

मल्टीपल स्क्लेरोसिस से सावधान! इन 15 लक्ष्णों को नजरअंदाज ना करें मल्टीपल स्क्लेरोसिस से सावधान! इन 15 लक्ष्णों को नजरअंदाज ना करें

मल्टीपल स्क्लेरोसिस यानी (MS) तंत्रिका तंत्र की बीमारी है जो ब्रेन और स्पाइनल कॉर्ड को प्रभावित करता है। इस बीमारी के शुरुआती लक्ष्णों को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए क्योंकि अगर यह बीमारी लंबे समय तक बनी रहती है तो प्रभावित व्यक्ति को विकलांगता का शिकार होना पड़ता है। इस बीमारी के होनेवाले कारणों के बारे में अबतक पता नहीं लग पाया है।

मोटापे और शराब सेवन के कारण भारतीय हैं कैंसर के लिहाज से संवेदनशील: विशेषज्ञ मोटापे और शराब सेवन के कारण भारतीय हैं कैंसर के लिहाज से संवेदनशील: विशेषज्ञ

चिकित्सीय विशेषज्ञों का कहना है कि लंबे समय तक बैठे रहने वाली जीवनशैली और खानपान की गलत आदतों से होने वाले मोटापे और शराब के सेवन के कारण भारतीयों पर आहार नली के कैंसर और इस बीमारी की अन्य किस्मों का ज्यादा खतरा है।