Health News

अत्यधिक शर्करा के सेवन से हो सकता है अल्जाइमर: अध्ययन

अत्यधिक शर्करा के सेवन से हो सकता है अल्जाइमर: अध्ययन

अत्यधिक शर्करा वाले भोजन करने वाले लोगों पर अल्जाइमर नामक बीमारी का खतरा बढ़ सकता है। यह चेतावनी एक नए अध्ययन में दी गई है। ब्रिटेन के बैथ विश्वविद्यालय और किंग्स कॉलेज लंदन के वैज्ञानिकों ने पहली बार रक्त शर्करा ग्लूकोस और अल्जाइमर बीमारी के बीच एक अहम आणविक संबंध की पहचान की है।

चुकंदर, कच्चा लहसुन और प्याज के सेवन से आती है अच्छी नींद

चुकंदर, कच्चा लहसुन और प्याज के सेवन से आती है अच्छी नींद

अमेरिका में किये गये एक अध्ययन में पता चला है कि चुकंदर, कच्चे लहसुन और प्याज जैस खाद्य पदार्थों में प्राकृतिक रूप से पाये जाने वाले प्रीबायोटिक्स नींद में सुधार कर सकते हैं और तनाव की वजह से शरीर पर पड़ने वाले प्रभावों को कम करने में मददगार साबित हो सकते हैं। यह इस तरह का पहला अध्ययन है।

सेहत के लिए चुइंग गम खतरनाक, बिगाड़ता है हाजमा

सेहत के लिए चुइंग गम खतरनाक, बिगाड़ता है हाजमा

चुइंग गम से लेकर ब्रेड तक में डाले जाने वाले संरक्षक पदार्थों से छोटी आंत की कोशिकाओं के पोषक पदार्थों को शोषित करने की क्षमता और रोगाणुओं को रोकने की क्षमता में कमी आ सकती है। 

वजन कम नहीं होता? अपनाएं ये टिप्स और बनाएं सुडौल काया

वजन कम नहीं होता? अपनाएं ये टिप्स और बनाएं सुडौल काया

मोटापा कई बीमारियों की जड़ है, यह सभी जानते है। लेकिन इससे मुक्ति पाना इतना आसान भी नहीं होता। यहां वजन कम करने यानी मोटापा घटाने से संबंधित कुछ आसान उपाय दिए गए है जिन्हें रोजाना अपनाकर आप सिर्फ एक हफ्ते यानी सात दिन में वजन कम कर सुडौल काया एक बार फिर से पा सकते है।

प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में कारगर है पपीता

प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में कारगर है पपीता

पपीते में फाइबर, विटामिन सी और एंटी-ऑक्सीडेंट प्रचुर मात्रा में होता है जो आपकी रक्त-शिराओं में कोलेस्ट्रोल के थक्के नहीं बनने देता। कोलेस्ट्रोल के थक्के दिल का दौरा पड़ने और उच्च रक्तचाप समेत कई अन्य ह्रदय रोगों का कारण बन सकते हैं। 

मानसिक बीमारी सिजोफ्रेनिया के लक्षणों को कम करता है विटामिन बी

मानसिक बीमारी सिजोफ्रेनिया के लक्षणों को कम करता है विटामिन बी

गंभीर मानसिक बीमारी सिजोफ्रेनिया के मरीजों का इलाज विटामीन-बी (बी6, बी8 तथा बी12) के उच्च खुराक से करने से इस रोग के लक्षणों में कमी आ सकती है। शोधकर्ताओं ने यह खुलासा किया है। सिजोफ्रेनिया एक गंभीर मानसिक बीमारी है, जो रोगी की सोचने-समझने, महसूस करने तथा व्यवहार करने की क्षमता को प्रभावित करती है।

सुबह जल्दी उठने में परेशानी है? ये रहे टिप्स, जल्दी उठने के हैं तमाम फायदे

सुबह जल्दी उठने में परेशानी है? ये रहे टिप्स, जल्दी उठने के हैं तमाम फायदे

हम सभी जानते हैं कि सुबह जल्दी उठने के तमाम फायदे हैं जल्दी उठने से आदमी, स्वस्थ धनी, और बुद्धिमान होता है। लेकिन क्या ऐसा हो पाता है जी हां सुबह जल्दी उठना अपने आप में एक भारी काम लगता है।

कम नहीं हो रहा आपका मोटापा! कही ये पांच कारण तो नहीं, WATCH VIDEO

कम नहीं हो रहा आपका मोटापा! कही ये पांच कारण तो नहीं, WATCH VIDEO

मोटापा मानव शरीर के लिए बीमारी का घर होता है। मोटापा शरीर में जमा होनेवाली अतिरिक्त चर्बी होती है जिससे वजन बढ़ जाता है और यही मोटापा कई बीमारियों का घर बन जाता है। मोटापे का मतलब है, शरीर में बहुत ज्यादा चर्बी होना। जबकि ज्यादा वजनदार होने का मतलब है, वजन का सामान्य से ज्यादा होना। कई बार लोग मोटापा कम करने की कोशिश तो करते है लेकिन उनका वजन कम नहीं होता है या फिर जिस परिणाम की वो उम्मीद करते हैं वो उन्हें हासिल नहीं होता। आइए नजर डालते हैं उन पांच कारणों पर जो आपके मोटापे को कम नहीं होने देते।

दिल का मामला: कोरोनरी स्टेंट्स 85% तक हुए सस्ते

दिल का मामला: कोरोनरी स्टेंट्स 85% तक हुए सस्ते

वेलेंटाइन-डे के दिन दिल के लाखों मरीजों को राहत पहुंचाते हुये सरकार ने मंगलवार को जीवन रक्षक कोरोनरी स्टेंट्स के दाम 85% तक घटा दिये हैं और केवल धातु वाले स्टेंट्स का अधिकतम मूल्य 7,260 रुपये और ड्रग वाली किस्म का अधिकतम मूल्य 29,600 रुपये तय कर दिया गया है।

नया फंडा: कम खाओ, जवान रहो, ज्यादा जियो

नया फंडा: कम खाओ, जवान रहो, ज्यादा जियो

एक नए अध्ययन में वैज्ञानिकों ने चिर-यौवन के कुछ राज खोलते हुए कहा है कि कम खाने से और कम कैलोरियों के सेवन से बुढ़ापे की रफ्तार सुस्त की जा सकती है और लंबे एवं स्वस्थ जीवन को बढ़ावा दिया जा सकता है।

कई रोगों को दूर रखने में कारगर है अंगूर!

कई रोगों को दूर रखने में कारगर है अंगूर!

वैसे तो अल्जाइमर उम्र होने पर ही होता था लेकिन आज के संदर्भ में इसके लिए उम्र की बंदिश नहीं रह गई है। वर्क लोड और टेंशन इस बीमारी के होने के खतरे को दिन ब दिन बढ़ा रहा है। लेकिन हाल के एक रिसर्च से ये पता चला है कि अपने डायट में इस फल को शामिल करने से इस बीमारी के खतरे को किया जा सकता है कम। जानें सिर्फ एक कटोरी अंगूर खाने से क्या होता है 

इस तरह से पाएं कैंसर पर काबू!

इस तरह से पाएं कैंसर पर काबू!

कैंसर के बढ़ते मामलों पर काबू पाने के लिए विशेषज्ञों की ओर से दिए गए सुझावों में इस बीमारी से निपटने के प्रति आक्रामक रवैया अपनाना, विभिन्न शहरों में किफायती उपचार उपलब्ध करवाना और स्वस्थ जीवनशैली अपनाना शामिल है।

500 Kg वजन वाली मिस्र की महिला पतला होने के लिए पहुंची मुंबई

500 Kg वजन वाली मिस्र की महिला पतला होने के लिए पहुंची मुंबई

दुनिया की सबसे ज्यादा वजन वाली महिलाओं में से एक मिस्र की 36 वर्षीय एमन अहमद वजन घटाने का इलाज कराने के लिए आज यहां पहुंच गयीं।मिस्र के एक विमान से भारत आने वाली एमन करीब चार बजे मुंबई अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर उतरीं।

योग से पुराना पीठ दर्द ठीक होने में मिल सकती है मदद

योग से पुराना पीठ दर्द ठीक होने में मिल सकती है मदद

नियमित योग से कमर में होने वाले दर्द को ठीक करने में काफी मदद मिलती है। भारत, ब्रिटेन और अमेरिका में हुए शोध की हाल में हुई समीक्षा में ये बात सामने आई।

Zee जानकारी: जापान में महिलाओं को सफेद चादर में कैद क्यों कर दिया गया?

Zee जानकारी: जापान में महिलाओं को सफेद चादर में कैद क्यों कर दिया गया?

आप में बहुत सारे लोग ऐसे होंगे जो Office में तय वक्त से ज्यादा देर तक काम करते होंगे, हमेशा तनाव में रहते होंगे और मुमकिन है कि इस वक्त भी आप ऑफिस के काम के बारे में सोच रहे होंगे। इसलिए आज हम आपके

बड़ा गुणकारी है तिल का तेल, जानिए उसके बेहतरीन फायदे

बड़ा गुणकारी है तिल का तेल, जानिए उसके बेहतरीन फायदे

तिल का तेल पूरी दुनिया में प्रमुखता से इस्तेमाल किया जाता है। इसमें न केवल त्वचा और बालों को पोषित करने की खूबी होती है बल्क‍ि हीलिंग क्वालिटी भी होती है। यह बात वैज्ञानिक तौर पर साबित हो चुकी है कि तिल के तेल से बालों को संपूर्ण पोषण मिलता है। इसमें पर्याप्त मात्रा में विटामिन ई, बी कॉम्प्लेक्स, कैल्शि‍यम, मैग्नीशि‍यम, फॉस्फोरस और प्रोटीन पाया जाता है।

जानें, आपके बॉडी सिस्टम पर कैसा प्रभाव डालता है स्ट्रेस

जानें, आपके बॉडी सिस्टम पर कैसा प्रभाव डालता है स्ट्रेस

हम सब ने कभी न कभी स्ट्रेस को झेला है। स्ट्रेस से शरीर में प्राकृतिक तौर पर किसी खास स्थिति, उत्तेजना या परिवर्तन में बदलाव दिखता है। सभी स्ट्रेस खतरना नहीं होता है क्योंकि यह लोगों को अपने कार्यों या उद्देश्यों को पूरा करने के लिए प्रोत्साहित करता है। इसलिए जानना जरूरी है कि स्ट्रेस या स्ट्रेसफुल इवेंट का सामना कैसे किया जाए। यह शरीर पर पड़ने वाले स्ट्रेस के प्रभाव को कम या रोक सकता है।

ये हैं छह सुपरफूड जो कैंसर से लड़ने में हैं मददगार!

ये हैं छह सुपरफूड जो कैंसर से लड़ने में हैं मददगार!

कैंसर दुनिया में सबसे खतरनाक बीमारी से एक के रूप में मानी जाती है। एक इस घातक बीमारी से लड़ने के लिए स्वस्थ संतुलित आहार की जरूरत होती है।

मधुमेह के प्रमुख कारण हैं सफेद चीनी, मैदा और चावल: आईएमए

मधुमेह के प्रमुख कारण हैं सफेद चीनी, मैदा और चावल: आईएमए

भारत में मधुमेह, महामारी की तरह फैल रहा है और इस बीमारी की मुख्य वजह जीवनशैली और खानपान में बदलाव है। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) का मानना है कि इस बीमारी के प्रमुख कारणों में हमारे रोजमर्रा के भोजन में सफेद चीनी, मैदा और चावल जैसी खाद्य वस्तुओं की अधिकता है।

निजी स्वच्छता, खतना, तंबाकू छोड़ने से कैंसर रोकने में मिलेगी मदद!

निजी स्वच्छता, खतना, तंबाकू छोड़ने से कैंसर रोकने में मिलेगी मदद!

मसालेदार भारतीय भोजन, निजी स्वच्छता, खतना, तंबाकू के इस्तेमाल पर प्रतिबंध कुछ ऐसी चीजें हैं, जो कैंसर से खुद को बचाने में मददगार साबित हो सकती हैं। यह जानकारी एक जाने-माने कैंसर विशेषज्ञ ने दी है। टाटा मेमोरियल सेंटर के निदेशक राजेंद्र ए बाडवे ने कहा कि कैंसर शब्द का इस्तेमाल ही अकसर इंसान में कंपकपी पैदा कर देता है लेकिन यदि इसकी पहचान जल्दी हो जाए तो इसका उपचार संभव है। उन्होंने एक साक्षात्कार में कैंसर से जुड़े कई मुद्दों और इससे निपटने के तरीकों पर बात की।

कहीं आप स्लीप एप्निया (खर्राटे) के मरीज तो नहीं हैं? यह जानलेवा है

कहीं आप स्लीप एप्निया (खर्राटे) के मरीज तो नहीं हैं? यह जानलेवा है

रात को सोते समय स्लीप एप्निया की वजह से सांस लेने में आने वाली समस्या मौत के खतरे को बढ़ा देती है। स्लीप एप्निया भविष्य में हृदयाघात और गर्दन की धमनियों के मोटे होने का कारण भी बन सकता है। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) के अध्यक्ष डॉ. के.के. अग्रवाल के अनुसार, स्लीप एप्निया एक सामान्य समस्या है जिसकी वजह से सोते समय हम सांस लेने में रुक जाते हैं या बेहद कम सांस आती है।