चिकनगुनिया से घबराएं नहीं, आराम करें और तरल पदार्थ का करें सेवन

चिकनगुनिया से घबराएं नहीं, आराम करें और तरल पदार्थ का करें सेवन

दिल्ली में चिकनगुनिया मामलों में सहसा वृद्धि के बीच चिकित्सकों एवं सरकारी अधिकारियों ने लोगों से कहा है कि इससे घबरायें नहीं क्योंकि यह वाहक (वेक्टर) जनित रोग है जिसमें रोगी पस्त तो हो जाता है किन्तु मृत्युभय नहीं रहता है। उन्होंने मच्छरों के प्रजनन को रोकने के कई उपायों का सुझाव दिया है।

दिल के रोगियों में डेंगू से बढ़ सकती है हृदय संबंधी मुश्किलें दिल के रोगियों में डेंगू से बढ़ सकती है हृदय संबंधी मुश्किलें

एक निजी अस्पताल के अध्ययन में यह बात सामने आई है कि दिल के रोगियों में डेंगू से उनकी हृदय संबंधी परेशानियां बढ़ सकती हैं। फोर्टिस हेल्थकेयर ने पिछले तीन महीने में दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के अस्पतालों में भर्ती किये गये 150 रोगियों पर यह अध्ययन किया।

हमारी दिनचर्या को प्रभावित करती है नींद की कमी हमारी दिनचर्या को प्रभावित करती है नींद की कमी

नींद की कमी हमारी नियमित दिनचर्या को बुरी तरह प्रभावित करती है। एक अध्ययन में कहा गया है कि पर्याप्त नींद नहीं ले पाने के कारण एक व्यक्ति लोगों के चेहरे के भाव को ठीक से नहीं पढ़ पाता।

बरसात के मौसम में मसालेदार चीजें खाने से बचें बरसात के मौसम में मसालेदार चीजें खाने से बचें

बरसात के मौसम में बाहर की चीजें खाने से परहेज करें क्योंकि कई बार रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होने से बैक्टीरिया का हमला जल्दी होता है। फ्राइड फूड न खाएं क्योंकि पाचन क्रिया इस मौसम में धीमी पड़ जाती है जिससे एसिडिटी की समस्या हो सकती है। मांसाहार के प्रयोग से भी बचें।

बीमारियों के खतरे को कम करता है अखरोट  बीमारियों के खतरे को कम करता है अखरोट

अखरोट को पसंद करने वाले इसे डर से नहीं खाते हैं कि इसमें कैलोरी ज्यादा होती है और इससे उनका वजन बढ़ सकता है। लेकिन एक नए अध्ययन में यह बात सामने आई है कि अमेरिकी सरकार ने अखरोट में जितनी कैलोरी बताई हुई हैं उससे 21 प्रतिशत कम केलोरी होती हैं। प्रतिष्ठित ‘जनरल ऑफ न्यूट्रीशिन’ में प्रकाशित हुए इस अध्ययन में बताया गया है कि अमेरिका के कृषि विभाग (यूएसडीए) ने अखरोट में जितनी कैलोरी होने की बात कही है, असल में, अखरोट में उससे 21 फीसदी कम कैलोरी होती हैं।

फूड प्वाइज़निंग होने पर अपनायें ये सात उपाय! फूड प्वाइज़निंग होने पर अपनायें ये सात उपाय!

फूड प्वाइज़निंग दूषित भोजन से होने वाली एक बीमारी है। ये ऐसी बीमारी है जिसका इलाज आप एक दो दिन में या फिर हफ्ते में खुद ही कर सकते हैं। फूड प्वाइज़निंग के आम लक्षणों में शामिल हैं- मतली, उल्टी, दस्त, ऐंठन।

अपने घर में 'पंजीरी' कैसे बनाएं, देखें यह वीडियो अपने घर में 'पंजीरी' कैसे बनाएं, देखें यह वीडियो

आप अपने घर में स्वादिष्ट हेल्दी रेसिपी 'पंजीरी' मशहूर शेफ रणवीर बराड़ के डायरेक्शन में आसानी से बना सकते हैं। नीचे दिये गये वीडियो का अनुसरण करें। 'पंजीरी' में काफी मात्रा में पोषक तत्व पाये जाते हैं और स्वाद में मीठा होता है। आप इसे ड्राई फूट की तरह भी अपने भोजन में शामिल कर सकते हैं। देखें वीडियो- 

कैसे बनाएं केसर बादाम आईसक्रीम?, बनाने की विधि जानने के लिए देखें यह वीडियो कैसे बनाएं केसर बादाम आईसक्रीम?, बनाने की विधि जानने के लिए देखें यह वीडियो

अगर आप गर्मी से परेशान हो रहे हैं तो चिंता की कोई बात नहीं हमने इस भीषण गर्मी से राहत दिलाने के लिए खास व्यवस्था की है यानी आप केसर बादाम आईसक्रीम खाकर गर्मी से राहत पा सकते हैं। इस स्वादिष्ट आईसक्रीम के लिए आपको चिलचिलाती धूप में घर के बाहर भी जाने की जरूरत नहीं है। आप इसे घर में ही बना सकते हैं। आप इसे घर में कैसे बनाएंगे? देखें यह वीडियो-  

ये रहीं वो 6 टिप्स जिनसे अपने गुस्से को करें काबू! ये रहीं वो 6 टिप्स जिनसे अपने गुस्से को करें काबू!

क्रोध एक सामान्य, स्वस्थ भावना है, और हम सभी को तमाम मौकों पर गुस्सा आता है। लेकिन, जब यह नियंत्रण से बाहर है, यह आपके मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य के साथ-साथ आपको अपनों के साथ रिश्तों को भी नुकसान पहुंचा सकता है।

'ब्रेड डोसा' को कुछ इस तरह बनाएं- देखें वीडियो 'ब्रेड डोसा' को कुछ इस तरह बनाएं- देखें वीडियो

प्‍लेन डोसा या मसाला डोसा तो आपने जरूर खाया होगा। यह बनाने में बेहद आसान है और इसका स्वाद भी काफी उम्दा है। लेकिन क्‍या आपने ब्रेड डोसा बनाने के बारे में कभी सोचा है। इस वीडियो को देखकर आप जान जाएंगे कि घर के किचन में आप ब्रेड डोसा कैसे बना सकते हैं।

किडनी स्टोन: इन 10 लक्ष्णों को हर्गिज नहीं करें नजरअंदाज किडनी स्टोन: इन 10 लक्ष्णों को हर्गिज नहीं करें नजरअंदाज

किडनी स्टोन लोगों में तेजी से बढ़ रहा है और यह एक आम समस्या बनता जा रहा है, हालांकि इसके कुछ प्रारंभिक चेतावनी संकेत होते हैं जिन्हें समय से पहचान कर इससे बचा जा सकता है। यह बीमारी मूत्रतंत्र का एक रोग है, जिसमें किडनी के अंदर छोटे-छोटे पत्थर जैसे कठोर टुकड़े बन जाते हैं।

इन आसान उपायों से कान दर्द से मिलेगी राहत इन आसान उपायों से कान दर्द से मिलेगी राहत

आप जल्द और सुविधाजनक यात्रा के लिए हवाई मार्ग का चयन करते हैं और फ्लाइट से कहीं आने-जाने में आनंद भी आता है लेकिन जब आप टेक ऑफ और लेंड करते हैं तो कानों में काफी पीड़ादायक होता है। असमान दबावों के कारण प्रायः कान में दर्द होता है। जब प्लेन उतरता है तो कानों के पर्दा में दबाव बढ़ जाता है। फ्लाइट में कान दर्द से बचने के लिए यहां कुछ तरीके बताये गये हैं।

मल्टीपल स्क्लेरोसिस से सावधान! इन 15 लक्ष्णों को नजरअंदाज ना करें मल्टीपल स्क्लेरोसिस से सावधान! इन 15 लक्ष्णों को नजरअंदाज ना करें

मल्टीपल स्क्लेरोसिस यानी (MS) तंत्रिका तंत्र की बीमारी है जो ब्रेन और स्पाइनल कॉर्ड को प्रभावित करता है। इस बीमारी के शुरुआती लक्ष्णों को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए क्योंकि अगर यह बीमारी लंबे समय तक बनी रहती है तो प्रभावित व्यक्ति को विकलांगता का शिकार होना पड़ता है। इस बीमारी के होनेवाले कारणों के बारे में अबतक पता नहीं लग पाया है।

मोटापे और शराब सेवन के कारण भारतीय हैं कैंसर के लिहाज से संवेदनशील: विशेषज्ञ मोटापे और शराब सेवन के कारण भारतीय हैं कैंसर के लिहाज से संवेदनशील: विशेषज्ञ

चिकित्सीय विशेषज्ञों का कहना है कि लंबे समय तक बैठे रहने वाली जीवनशैली और खानपान की गलत आदतों से होने वाले मोटापे और शराब के सेवन के कारण भारतीयों पर आहार नली के कैंसर और इस बीमारी की अन्य किस्मों का ज्यादा खतरा है।

 ये हैं वो कारण जो दिल का दौरा पड़ने के लिए ज़िम्मेदार हैं! ये हैं वो कारण जो दिल का दौरा पड़ने के लिए ज़िम्मेदार हैं!

किसी को दिल का दौरा, यहां तक ​​कि युवा लोगों को भी दिल का दौरा पड़ सकता है, हालांकि यह आम नहीं है, लेकिन यह किसी को भी हो सकता है।दिल का दौरा तब होता है जब हृदय की मांसपेशियों को ऑक्सीजन युक्त रक्त का प्रवाह अवरुद्ध हो जाता है।

Zee जानकारी : इंटरनेट और मोबाइल फोन्स की लत लग गई है तो डिजिटल डिटॉक्स कराएं  Zee जानकारी : इंटरनेट और मोबाइल फोन्स की लत लग गई है तो डिजिटल डिटॉक्स कराएं

अगर आप भी छुट्टियों पर जाने की योजना बना रहे हैं और ऐसी जगहों और ऐसे होटल्स की तलाश में हैं जहां इंटरनेट और वाईफाई जैसी सुविधाएं मौजूद हों। तो कृपया आप अपनी योजना में थोड़ा बदलाव करें। हमारी राय है कि आप ऐसी जगह और ऐसे होटल्स तलाशें जहां आपको इंटरनेट और वाई-फाई की सुविधा ना मिल पाएं। जहां आपका मोबाइल नेटवर्क भी काम ना करें और आप अपने साथ टैबलेट, लैपटॉप और स्मार्ट वॉच जैसे उपकरण भी लेकर ना जाएं।

शराब पीने से शरीर को होते है ये छह नुकसान शराब पीने से शरीर को होते है ये छह नुकसान

शराब की बुराइयों और उसके नुकसान के बारे में अक्सर आप पढ़ते सुनते होंगे। डॉक्टरों के मुताबिक यकृत यानी लीवर से जुड़ी बीमारियों की मुख्य वजह शराब है। बहुत से डाक्टरों का कहना है कि यकृत की बीमारियों से बचने के लिए शराब की दुकानों पर रोक लगाई जानी चाहिए। ज्यादा शराब पीने से ये नुकसान शरीर को हो सकते हैं जो हैं-

अपनी एड़ियों को सॉफ्ट और स्मूथ बनाना चाहते हैं? तो अपनाएं ये 5 आसान घरेलू नुस्खे! अपनी एड़ियों को सॉफ्ट और स्मूथ बनाना चाहते हैं? तो अपनाएं ये 5 आसान घरेलू नुस्खे!

हम अपने स्किन, बाल, चेहरे और हाथों का खास ध्यान रखते हैं लेकिन अक्सर शरीर ने उन महत्वपूर्ण अंगों को भूल जाते हैं या नजरअंदाज कर देते हैं। जैसे- हमारे पैर। हमारी रोजमर्रा की जिंदगी में हमारे पैर सबसे अधिक कष्ट सहते हैं और पैरों की एड़ियां (हील्स) उचित देखभाल के बिना क्षतिग्रस्त हो जाती हैं। सूरज की रोशनी, गंदगी और प्रदूषण के संपर्क में आने से सबसे अधिक क्षति का पता चलता है ये एड़ियों को रफ, परतदार, लाल और खुजली होने जैसा बना देते हैं। इस प्रकार, स्किन के सूखेपन से एड़ियों में दरारें आ जाती हैं यानी फट जाती हैं। लेकिन सामान्य घरेलू उपचार से कोई भी फटी एड़ियों से मुक्ति पा सकता है।  

सावधान! वसा नहीं, मांस-प्रोटीन है मोटापे की असली वजह सावधान! वसा नहीं, मांस-प्रोटीन है मोटापे की असली वजह

शोधकर्ताओं के एक अध्ययन में यह बात सामने आया है कि मांस में पाया जाने वाला प्रोटीन ठीक चीनी की तरह मोटापा बढ़ाने की वजह बन रहा है। अध्ययन में कहा गया है कि मांस में मौजूद प्रोटीन वसा और कार्बोहाइड्रेट के पाचन के बाद मोटापा बढ़ने की वजह है। यह प्रोटीन से निकलने वाली ज्यादा ऊर्जा की वजह से है जो बाद में वसा के रूप में परिवर्तित होकर मानव शरीर में अतिरिक्त वसा के रूप में जमा हो जाती है।

बिना एक्सरसाइज किये एक महीने में ऐसे घटायें अपना वजन! बिना एक्सरसाइज किये एक महीने में ऐसे घटायें अपना वजन!

हां, हम मानते हैं कि इन दिनों लाइफ बहुत ज्यादा हैक्टिक हो गई है। अगर आप की जॉब 9 से 10 घंटे की है तो निश्चित रूप से आपको जिम जाने और एक्सरसाइज करने का समय नहीं मिलता होगा जबकि आप अपने स्वास्थ्य पर बहुत अधिक ध्यान देते हैं। लेकिन चिंता करने की कोई बात नहीं हैं। खासकर उनके लिए जो अतिरिक्त वजन घटाने के लिए काफी मेहनत कर रहे हैं लेकिन अत्यधिक व्यस्तता के कारण वे मेहनत नहीं कर पाते हैं। यहां कुछ टिप्स दिये गये हैं जिसके जरिये बिना जिम गये आप अपना वजन कम कर सकते हैं।

पाचन से जुड़ी समस्याओं से बचने के लिए खान-पान पर रखें ध्यान पाचन से जुड़ी समस्याओं से बचने के लिए खान-पान पर रखें ध्यान

 जो लोग इरिटेबल बॉवेल सिंड्रोम से पीड़ित होते हैं उनके पेट में जलन और अपच जैसी समस्याएं अक्सर हो जाती हैं। खानपान में किये कुछ बदलावों से इस बीमारी से छुटकारा पाया जा सकता है।