'अमेरिका पर आतंकी हमले और भारत में नोटबंदी की तारीखें दुनिया के लिये अहम'

'अमेरिका पर आतंकी हमले और भारत में नोटबंदी की तारीखें दुनिया के लिये अहम'
बीजेपी के महासचिव कैलाश विजयवर्गीय (फाइल फोटो)

इंदौरः अमेरिका पर वर्ष 2001 के भीषण आतंकी हमले और नरेंद्र मोदी सरकार की वर्ष 2016 की नोटबंदी की तारीखों को एक ही तराजू पर तौलते हुए बीजेपी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि दुनिया के लिये "9/11" और "8/11", दोनों महत्वपूर्ण हैं. विजयवर्गीय ने यहां पाटनीपुरा चौराहे पर नोटबंदी के समर्थन में बीजेपी की गुरुवार रात आयोजित रैली में कहा, "8/11 और 9/11, ये दोनों तारीखें दुनिया के लिये महत्वपूर्ण हैं. मोदी सरकार ने 8/11 (आठ नवंबर 2016) को नोटबंदी की घोषणा के साथ भ्रष्टाचार समाप्त करने के लिये बड़ा कदम उठाया था, तो अमेरिका में 9/11 (11 सितम्बर 2001) की घटना के बाद आतंकवादियों को समाप्त करने के लिये संकल्प लिया गया था." उन्होंने कहा कि नोटबंदी के फैसले ने काले धन के कारोबारियों, आतंकवादियों को समर्थन देने वाले लोगों और भ्रष्टाचारियों की नींद उड़ा दी है.

बीजेपी के पश्चिम बंगाल प्रभारी ने यह दावा भी किया कि नोटबंदी के बाद इस सूबे के सरकारी तंत्र में नकदी के बजाय सोने की ईंटों के जरिये रिश्वत का लेन-देन किया जा रहा है. उन्होंने कहा, "मुझे दो महीने पहले पश्चिम बंगाल के एक उद्योगपति से पता चला कि वहां नोटबंदी के बाद भ्रष्टाचार का तरीका बदल गया है और सरकारी तंत्र में काम कराने के लिये कैडबरी के जरिये रिश्वत दी जा रही है. उद्योगपति ने मुझे बताया कि कैडबरी का मतलब सोने की एक किलोग्राम वजनी र्इंट है.’’

यह भी पढ़ेंः मध्य प्रदेश HC से विजयवर्गीय को मिली बड़ी राहत, बने रहेंगे विधायक

विजयवर्गीय ने कहा, "....तो अब प​श्चिम बंगाल में भ्रष्टाचारी नकदी नहीं, कैडबरी ले रहे हैं. मोदी इस गोरखधंधे को रोकने का भी तोड़ निकालेंगे, क्योंकि भ्रष्टाचार से सबसे ज्यादा नुकसान गरीबों का होता है." उन्होंने नोटबंदी का विरोध कर रहे विपक्षी राजनेताओं पर निशाना साधते हुए कहा, "देश के तय करना होगा कि वह नमो (नरेंद्र मोदी) का समर्थन करेगा या नमूनों का. इन नमूनों पर लतीफे बनते हैं और उनके समर्थक काले कपड़े पहनकर नोटबंदी जैसे ऐतिहासिक फैसलों का विरोध करते हैं."

रैली में बीजेपी उपाध्यक्ष श्याम जाजू भी शामिल हुए. उन्होंने कहा कि कांग्रेस पूरे देश में नोटबंदी के खिलाफ आंदोलन कर रही है. लेकिन यह "बीजेपी बनाम कांग्रेस" नहीं, बल्कि "देशभक्तों और देशद्रोहियों" के बीच की लड़ाई है. उन्होंने कहा कि नोटबंदी के फैसले से दुनिया भर में भारत का परचम लहराया है और आर्थिक क्षेत्र में देश की विश्वसनीयता बढ़ने से विदेशी निवेश को बढ़ावा मिला है.

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close