एयरसेल, मैक्सिस FIPB मंजूरी: सीबीआई ने कार्ति चिदंबरम को तलब किया

केन्द्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने 2006 में एयरसेल मैक्सिस सौदे को विदेशी निवेश प्रोत्साहन बोर्ड (एफआईपीबी) की मंजूरी की जांच के संबंध में पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम के बेटे कार्ति को तलब किया. 

भाषा | अंतिम अपडेट: Sep 14, 2017, 07:33 AM IST
एयरसेल, मैक्सिस FIPB मंजूरी: सीबीआई ने कार्ति चिदंबरम को तलब किया
सीबीआई सूत्रों ने कहा कि कार्ति से गुरुवार को एजेंसी के सामने पेश होने को कहा गया है. (FILE)

नई दिल्ली: केन्द्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने 2006 में एयरसेल मैक्सिस सौदे को विदेशी निवेश प्रोत्साहन बोर्ड (एफआईपीबी) की मंजूरी की जांच के संबंध में पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम के बेटे कार्ति को तलब किया. सीबीआई सूत्रों ने कहा कि कार्ति से गुरुवार को एजेंसी के सामने पेश होने को कहा गया है. एक विशेष अदालत में सीबीआई द्वारा दायर आरोपपत्र के अनुसार, मैक्सिस की एक सहयोगी कंपनी मारिशस की मैसर्स ग्लेाबल कम्युनिकेशन सर्विसेज होल्डिंग्स लिमिटेड ने एयरसेल में 80 करोड़ डालर के निवेश की मंजूरी मांगी थी. यह मंजूरी आर्थिक मामलों की कैबिनेट समिति को देनी थी.

आरोपपत्र में 2014 में कहा गया कि हालांकि तत्कालीन वित्त मंत्री ने मंजूरी दे दी. तत्कालीन वित्त मंत्री द्वारा एफआईपीबी मंजूरी देने की परिस्थितियों को लेकर आगे की जांच जारी है. संबंधित मुद्दों पर भी जांच चल रही है. बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने दावा किया कि पूर्व वित्त मंत्री ने एक ऐसे सौदे को एफआईपीबी मंजूरी दे दी जिसे प्रधानमंत्री की अध्यक्षता वाली सीसीईए के पास भेजा जाना चाहिए था क्योंकि सीसीईए को ही 600 करोड़ रुपये से अधिक के विदेशी निवेश को मंजूरी देने की शक्ति प्राप्त है.

पी चिदंबरम से वर्ष 2014 में इस मामले के संबंध में एजेंसी द्वारा पूछताछ की गई थी. उन्होंने इस साल एक बयान देकर कहा था कि एफआईपीबी मंजूरी 'सामान्य प्रक्रिया के तहत' दी गई.