दूर हुए चाचा-भतीजे के गिले-शिकवे, 2022 में शिवपाल सिंह को राज्यसभा भेजेंगे अखिलेश यादव

अखिलेश ने कहा, 'मैं हिंदू हूं लेकिन बैकवर्ड हिंदू हूं और इसका मुझे गर्व है. मैं भी व्रत रखता हूं लेकिन कभी इसका प्रचार नहीं करता.' 

ज़ी न्यूज़ डेस्क ज़ी न्यूज़ डेस्क | Updated: Mar 13, 2018, 11:59 PM IST
दूर हुए चाचा-भतीजे के गिले-शिकवे, 2022 में शिवपाल सिंह को राज्यसभा भेजेंगे अखिलेश यादव
सपा प्रमुख ने कहा है कि उनके परिवार में अब मनमुटाव नहीं है, सभी एक हैं

लखनऊ : समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने कहा है कि वर्ष 2022 में अपने चाचा शिवपाल यादव को राज्यसभा भेंजेगे. उनका यह बयान पार्टी और परिवार में चल रहे अन्तर्कलह को खत्म करने की दिशा में बढ़ाया गया कदम माना जा रहा है. हालांकि उन्होंने दावा किया है कि उनके परिवार में कोई झड़गा नहीं है. उनका परिवार नहीं टूटा है. वहीं मुख्यमंत्री योगी के एक बयान पर उन्होंने कहा कि भाजपा यह तय नहीं करेगी कि मैं किस भगवान की पूजा करूं और किसी नहीं.

कुर्सी नहीं तो कोई झगड़ा नहीं
एक न्यूज चैनल से हुई बातचीत में सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने परिवार के अन्तर्कलह व टूटने पर किए सवाल पर कहा कि किसी का भी परिवार नहीं टूटना चाहिए. हमारा परिवार भी नहीं टूटा है. अखिलेश ने कहा कि कुर्सी थी तो झगड़ा था. अब कुर्सी नहीं तो कोई झगड़ा नहीं. शिवपाल को लेकर किए सवाल पर उन्होंने कहा, 'कोई मनमुटाव नहीं है. हम होली पर मिले थे. मैंने उनके पैर छुए और उन्होंने मुझे आशीर्वाद दिया.' 

2022 में राज्यसभा भेजेंगे शिवपाल को
शिवपाल को राज्यसभा नहीं भेजे जाने पर किए सवाल पर अखिलेश ने कहा कि चाचा विधायक हैं, फिर उस सीट पर चुनाव हो ये ठीक नहीं. लेकिन मैं आप सबको यकीन दिलाता हूं कि 2022 में चाचा शिवपाल सिंह यादव को मैं राज्यसभा का टिकट दे दूंगा. वह राज्यसभा में रहेंगे तो काफी चीजें बेहतर हो जाएंगी.

अखिलेश यादव ने करवा चौथ से एक दिन पहले बताई 'लव स्टोरी' की ये बातें

सपा अध्यक्ष ने कहा, 'नेता जी ने मुझे किसी भरोसे से ही मुख्यमंत्री बनाया. क्या मैं खरा नहीं उतरा? नेता जी ने मुझे जो आदेश दिया मैंने पूरा किया. 23 महीने में एक्सप्रेस वे बनवाकर नेता जी से उद्घाटन करवाया, जहां लड़ाकू विमान भी उतर सकते हैं.'

हिंदू होने का गर्व है
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के 'हिन्दू हूं और ईद नहीं मनाने' वाले बयान पर किए सवाल पर अखिलेश ने कहा, 'मैं हिंदू हूं लेकिन बैकवर्ड हिंदू हूं और इसका मुझे गर्व है. मैं भी व्रत रखता हूं लेकिन कभी इसका प्रचार नहीं करता.' उन्होंने कहा कि भाजपा यह तय नहीं करेगी कि मैं किस भगवान की पूजा करूं और किसकी नहीं. इस बार मैं भी नवरात्रि का व्रत रखूंगा और फोटो भी ट्वीट करूंगा. 

(इनपुट आईएएनएस से)