भाजपा में आतंरिक लोकतंत्र पर मुझे गर्व है : अमित शाह

व्यापमं सहित अन्य सभी विवादों से दूरी बनाते हुए भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने आज दावा किया कि उनकी पार्टी देश की ऐसी इकलौती है जो आंतरिक लोकतंत्र के सिद्धांतों का पालन करती है। बतौर पार्टी अध्यक्ष शाह के कार्यकाल का एक वर्ष आज पूरा हुआ।

भाजपा में आतंरिक लोकतंत्र पर मुझे गर्व है : अमित शाह

मुंबई : व्यापमं सहित अन्य सभी विवादों से दूरी बनाते हुए भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने आज दावा किया कि उनकी पार्टी देश की ऐसी इकलौती है जो आंतरिक लोकतंत्र के सिद्धांतों का पालन करती है। बतौर पार्टी अध्यक्ष शाह के कार्यकाल का एक वर्ष आज पूरा हुआ।

शाह ने यहां कहा, ‘देश में करीब 1600 पार्टियां हैं लेकिन बहुत कम ही आंतरिक लोकतंत्र के सिद्धांतों पर काम करती हैं। भाजपा इकलौती पार्टी है जहां आंतरिक लोकतंत्र के सिद्धांत का प्रभावी तरीके से पालन होता है और मुझे इस पर गर्व है।’ महाराष्ट्र सहित पश्चिमी क्षेत्र के पांच राज्यों के ‘महा संपर्क अभियान’ की समीक्षा के साथ बांद्रा में हुई पार्टी की बैठक को संबोधित करते हुए शाह ने उपरोक्त बातें कहीं।

शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने दुनिया में भारत का कद बढ़ाकर देश का गौरव बढ़ाया है। यह रेखांकित करते हुए कि भाजपा ऐसी पार्टी है जहां जमीनी स्तर से जुड़ा कार्यकर्ता भी अपनी कड़ी मेहनत और लगन के बल पर शीर्ष पद पर पहुंचने की सोच सकता है। शाह ने कहा, ‘भाजपा में पद पाने के लिए किसी को परिवार विशेष में जन्म लेने की जरूरत नहीं है। पार्टी का कोई भी कार्यकर्ता जो पूरी लगन से काम करता है पार्टी अध्यक्ष या देश का प्रधानमंत्री बन सकता है।’ 

उन्होंने कहा, ‘वर्तमान में भाजपा में 11 करोड़ सदस्य हैं। देश में बड़ी संख्या में लोग भाजपा के हितैषी हैं। हमने इन लोगों तक पहुंचने के लिए सदस्यता अभियान शुरू किया है। हम दक्षिणी और पूर्वोत्तर के राज्यों पर विशेष ध्यान देते हैं।’ उन्होंने कहा कि पार्टी की सदस्य संख्या में तीन से सात गुना वृद्धि हुई है और यह पार्टी कार्यकर्ताओं की कड़ी मेहनत का नतीजा है।

शाह ने कहा, भविष्य में पार्टी ‘महा संपर्क’ और प्रशिक्षण अभियान चलाएगी। शाह को पिछले वर्ष नौ जुलाई को ही भाजपा अध्यक्ष चुना गया था। उन्होंने कहा कि पिछले वर्ष सत्ता में आने के बाद भाजपा नीत केन्द्र सरकार ने 24 जनकल्याणकारी योजनाएं शुरू की हैं। उन्होंने पार्टी की विभिन्न शाखाओं में पारदर्शिता लाने की जरूरत पर भी जोर दिया।

पार्टी द्वारा चलाए जा रहे विभिन्न संगठनों में शुचिता सुनिश्चित करने पर जोर देते हुए भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कहा, ‘मैं आपको बताना चाहता हूं कि पार्टी द्वारा चलाए जाने वाले विभिन्न ट्रस्ट की हालत ठीक नहीं है। मैं चाहता हूं कि आप लोग इन ट्रस्ट की बैलेंस शीट तय समय सीमा में चैरिटी आयुक्त को सौंपें।’ शाह ने पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा कि वे जमीनी स्तर के कार्यकर्ताओं के मूल सिद्धांतों के आधार पर संगठन को मजबूत बनाएं।

उन्होंने कार्यकर्ताओं की मदद से एक निधि की स्थापना पर भी जोर दिया ताकि पार्टी को ‘धनपशु’ पर निर्भर ना रहना पड़े। उन्होंने कहा, ‘हमें अपनी निधि इतनी मजबूत और पारदर्शी बनानी होगी कि पांच वर्ष बाद पार्टी निधि से मिलने वाले ब्याज से चले ना कि धनपतियों द्वारा।’ शाह ने राज्य में पार्टी की राजनीतिक स्थिति का जायजा लिया और पार्टी के ‘महा संपर्क अभियान’ की प्रगति की समीक्षा की। भाजपा प्रमुख ने महाराष्ट्र, गुजरात और गोवा के पार्टी सांसदों, विधायकों और अन्य पार्टी पदाधिकारियों से भी बातचीत की।

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close