वैलेंटाइन डे के विरोध में बजरंग दल की 'इशारा रैली', कहा- लड़का-लड़की दिखे तो करा देंगे शादी

वैलेंटाइन डे के विरोध में बजरंग दल ने नागपुर में विरोध रैली निकाली.

वैलेंटाइन डे के विरोध में बजरंग दल की 'इशारा रैली', कहा- लड़का-लड़की दिखे तो करा देंगे शादी
वैलेंटाइन डे के विरोध में बजरंग दल ने नागपुर में रैली निकाली. तस्वीर साभार: ANI
Play

नई दिल्ली: वैलेंटाइन डे के विरोध में बजरंग दल ने नागपुर में विरोध रैली निकाली. बजरंग दल ने कहा, 'अगर उन्हें वैलेंटाइन डे मनाने का हक है तो हमें अपनी संस्कृति बचाने का भी हक है.' उन्होंने धमकी दी की अगर सड़क पर हमें कोई जोड़ा मिला तो हम उनकी शादी करा देंगे. इसके लिए हमने पंडित भी तैयार कर रखे हैं. वैलेंटाइन डे के विरोध में निकाली गई इस रैली का नाम 'इशारा रैली' रखा गया है. बजरंग दल ने मंगलवार को भी वैलेंटाइन डे के विरोध में बाइक रैली निकाली थी, जिसमें सभी को वैलेंटाइन डे नहीं मनाने के लिए सचेत किया गया था. बजरंग दल कार्यकर्ताओं का कहना है कि वैलेंटाइन डे पश्चिमी संस्‍कृति की देन है.

इससे पहले बजरंग दल के सदस्य मंगलवार को हैदराबाद के अलग-अलग पबों में पहुंचे और वहां उन्होंने पब मालिकों को ज्ञापन देते हुए ये चेतावनी दी कि वैलेंटाइन डे पर किसी भी तरह का कोई विशेष आयोजन नहीं करें. इससे पहले सोमवार को वैलेंटाइन डे के खिलाफ बजरंग दल ने अहमदाबाद की सड़कों पर पोस्टर लगाए थे. इन पोस्टरों के जरिए बजंरग दल ने प्रमियों के इस त्योहार को 'लव जिहाद' से जोड़कर दिखाया था.

अहमदाबाद की सड़कों पर बजरंग दल ने लगाए पोस्टर
आपको बता दें कि इन पोस्टरों में एक महिला की तस्वीर लगी है, जिसका चेहरा आधा बुर्के में है और आधा खुला है. पोस्टर में आगे लिखा है. 'हिंदू लड़कियां सावधान, Say no to valentines day' पोस्टर में नीचे बजरंग दलः कर्णावती लिखा है. वेलेंटाइन डे का विरोध करने वाले ज्यादातर पोस्टर शहर के कॉलेज के बाहर लगाए गए हैं. 

ये भी पढ़ें: वैलेंटाइन डे से पहले एक्शन में बजरंग दल, पब मालिकों को दी धमकी

वैलेंटाइन डे पर पाकिस्तान का पहरा
पड़ोसी देश पाकिस्तान की इलेक्ट्रॉनिक मीडिया पर नजर रखने वाली एक संस्था ने स्थानीय मीडिया को वैलेंटाइन डे समारोहों को दिखाने और बढ़ावा देने से बचने के निर्देश दिये. इस्लामाबाद हाई कोर्ट ने 13 फरवरी, 2017 को एक नागरिक की याचिका पर एक निर्णय पारित करते हुए वैलेंटाइन डे (14 फरवरी) पर देशभर में सार्वजनिक स्थानों और सरकारी कार्यालयों में होने वाले समारोहों पर ‘‘तत्काल प्रभाव’’ से रोक लगा दी थी. पाकिस्तान इलेक्ट्रॉनिक मीडिया नियामक प्राधिकरण (पीईएमआरए) ने पिछले वर्ष फरवरी में उच्च न्यायालय द्वारा पारित निर्णय के मद्देनजर ये निर्देश जारी किये है.

यह भी पढ़ेंः वैलेंटाइन डे के विरोध में बजरंग दल ने लगाए 'लव जिहाद' के पोस्टर, हिंदू लड़कियों को दी हिदायत

पीईएमआरए ने एक बयान में कहा, ‘‘इस बीच,प्रतिवादियों को यह सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए हैं कि इलेक्ट्रॉनिक और प्रिंट मीडिया पर वैलेंटाइन डे का प्रचार न किया जाये.’’  सरकारी स्तर पर और किसी सार्वजनिक स्थल पर कोई समारोह आयोजित नहीं होगा.  राष्ट्रपति ममनून हुसैन ने भी वैलेंटाइन डे से संबंधित गतिविधियों से दूर रहने का आग्रह किया है क्योंकि ये गतिविधियां पश्चिमी संस्कृति का हिस्सा हैं.

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close