अमित शाह ही नहीं, कांग्रेस के 'चाणक्य' भी हैं बिहार में, महागठबंधन को मजबूत करने में जुटे

गुजरात में कांग्रेस के बेहतरीन प्रदर्शन और कर्नाटक में पार्टी की सत्ता में वापसी करवाने में अहम भूमिका निभाने वाले पार्टी महासचिव भी इन दिनों बिहार में है.

अमित शाह ही नहीं, कांग्रेस के 'चाणक्य' भी हैं बिहार में, महागठबंधन को मजबूत करने में जुटे
पटना पहुंचे कांग्रेस महासचिव अशोक गहलोत (फोटोः आईएएनएस)

पटनाः बीजेपी राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के बिहार दौरे को लेकर विपक्षी पार्टियों में भी उथल-पुथल मची है. लोकसभा चुनाव 2019 को लेकर अपने सहयोगियों को साधने में जुटी बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने नीतीश से मुलाकात के बाद संदेश दिया है कि उनके गठबंधन सब कुछ ठीक चल रहा है. दोनों नेताओं ने अगले वर्ष होने वाले लोकसभा चुनाव सहित विभिन्न मुद्दों पर करीब 45 मिनट बातचीत की. बिहार में लोकसभा की 40 सीटें हैं और बीजेपी चाहती है कि किसी भी तरह जेडीयू के साथ मिलकर वह इन 40 की 40 सीटों पर जीत दर्ज करें. हालांकि बीजेपी अध्यक्ष के दौरे से इतर कांग्रेस ने भी बिहार में सियासी गणित बैठाने के लिए अपने चाणक्य को मैदान में उतार दिया है. 

गुजरात में कांग्रेस के बेहतरीन प्रदर्शन और कर्नाटक में पार्टी की सत्ता में वापसी करवाने में अहम भूमिका निभाने वाले पार्टी महासचिव अशोक गहलोत  इन दिनों बिहार में ही हैं. गहलोत बिहार में कांग्रेस पार्टी को मजबूती देने में जुटे है. गहलोत पार्टी के नेताओं से मुलाकात कर उन्हें टिप्स देने में जुटे हैं. हालांकि वह बिहार में पार्टी के हालात को लेकर उदास है. 


अशोक गहलोत ने आरजेडी नेता लालू प्रसाद यादव से भी अस्पताल में जाकर मुलाकात की (फोटोः पीटीआई)

उनकी उदासी इस बात से दिखी कि उन्होंने आरजेडी और जेडीयू से गठबंधन करना मजबूरी बताया और इस बारे में जब अशोक गहलोत से कांग्रेस और अन्य पार्टी के साथ गठबंधन को लेकर सवाल किया गया तो उन्होंने कहा गठबंधन क्यों किया जाता है यह सबको पता है. कांग्रेस की मजबूरी है, यहीं हाल रहा तो पार्टी पैरों पर खड़ी नहीं हो पाएगी. हालांकि बाद में इस पर सफाई भी दी कि उनका गठबंधन आरजेडी के साथ हमेशा बना रहेगा.

अशोक गहलोत ने कहा कि पहले कांग्रेस काफी मजबूत थी और आजादी के समय कांग्रेस ने बहुत सारी कुर्बानियां दी. लेकिन कांग्रेस को फिर से मजबूत करने का काम किया जा रहा है. और जल्द ही कांग्रेस फिर से मजबूत स्थिति में देश में दिखेगी. अशोक गहलोत ने कांग्रेस की जेडीयू के साथ गठबंधन पर कुछ साफ जवाब नहीं देते हुए उन्होंने कहा वक्त पर सब पता चलेगा. हालांकि उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार को एक दिन पछतावा होगा. और उनके पास कोई रास्ता नहीं होगा.

गहलोत ने बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के बिहार दौरा पर तंज कसते हुए कहा कि अमित शाह के स्वागत पर इतना खर्च हो रहा है वह पैसा कहां से आ रहा है? जितने पोस्टर पीएम मोदी के आने पर नहीं लगते हैं उससे अधिक पोस्टर अमित शाह का लगाया गया है. अमित शाह देश को बर्बाद करने का काम कर रहे हैं.