लालू ने राफेल सौदे पर मोदी सरकार पर निशाना साधा, कहा - रिश्वत की बू आती है

राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद ने राफेल लड़ाकू विमान सौदे को लेकर नरेंद्र मोदी सरकार पर करारा हमला बोला.

लालू ने राफेल सौदे पर मोदी सरकार पर निशाना साधा, कहा - रिश्वत की बू आती है
लालू 23 दिसंबर से रांची में जेल में बंद हैं

पटना: राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद ने शुक्रवार को राफेल लड़ाकू विमान सौदे को लेकर नरेंद्र मोदी सरकार पर करारा हमला बोला. कई ट्वीट करके बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री ने आरोप लगाया कि सौदे में ‘‘भाई भतीजावाद और रिश्वत की बू आती है’’. लालू ने भाजपा पर ‘‘इस तरह के गुप्त सौदों से चुनावों के लिए खूब धन एकत्रित करने’’ का आरोप लगाया.

राजद प्रमुख ने अपने ट्विटर हैंडल पर कहा, ‘‘राफेल सौदे की जानकारियां देश के सामने सार्वजनिक नहीं हो सकतीं? क्योंकि इसमें भाई भतीजावाद और घूस की बू आती है? एमआरसीए क्यों हटाया गया? क्योंकि गुप्त तरीके से नया सौदा किया गया, अत: भ्रष्टाचार हुआ? भाजपा इस तरह के सौदों से चुनावों के लिए खूब धन एकत्रित कर रही है.’’ लालू 23 दिसंबर से रांची में जेल में बंद हैं जब उन्हें एक विशेष सीबीआई अदालत ने देवघर कोषागार से धन निकालने में धोखाधड़ी के मामले में साढे तीन साल की सजा सुनाई थी. इसके बाद उन्हें चाईबासा कोषागार से अवैध रूप से धन निकालने से जुड़े एक अन्य मामले में में पांच साल की सजा हुई थी.

राफेल सौदे पर कांग्रेस अपने रुख पर कायम 
उधर, कांग्रेस ने राफेल लड़ाकू विमान सौदे को लेकर सरकार को निशाने पर लेते हुए आरोप लगाया कि कि इस मामले में ‘‘एक झूठ को छिपाने के लिए सौ झूठ बोले जा रहे हैं’’ तथा यदि इस सौदे में सरकारी राजस्व को कोई नुकसान हुआ है तो क्या प्रधानमंत्री सीधे तौर पर जिम्मेदार नहीं हैं? पार्टी ने यह भी स्पष्ट किया कि वह राफेल सौदे पर ऐसी कोई जानकारी नहीं मांग रही है जिससे राष्ट्रीय सुरक्षा प्रभावित होती हो. कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने आज संसद भवन परिसर में संवाददाताओं से कहा कि राफेल लड़ाकू विमान सौदे के ‘‘गड़बड़झाले पर एक झूठ को छिपाने के लिए सौ झूठ बोलना’’ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सरकार और भाजपा की सचाई बन गयी है. उन्होंने कहा कि इस सौदे में ‘‘दाल में काला नहीं पूरी दाल ही काली है.’’ सुरजेवाला ने कहा कि इस मुद्दे पर रक्षा मंत्री एवं वित्त मंत्री अलग अलग भाषा में बोल रहे हैं और प्रधानमंत्री चुप बैठे हुए हैं.

सुरजेवाला ने कहा कि रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने 17 नवंबर 2017 को कहा था कि वह राफेल लड़ाकू विमान के दाम का खुलासा करने की इच्छुक हैं. बाद में ऐसा क्या हो गया कि वह अब इसका दाम बताने को तैयार नहीं हैं. उन्होंने प्रधानमंत्री, रक्षा मंत्री एवं वित्त मंत्री से पूछा कि वे 36 राफेल विमानों का दाम देश को बताने पर पर्दा क्यों डाल रहे हैं. उन्होंने स्पष्ट किया कि वे विमान की तकनीकी जानकारी नहीं मांग रहे हैं जिससे राष्ट्रीय सुरक्षा प्रभावित होती हो. उन्होंने कहा कि विमान का दाम राजस्व से जुड़ा हुआ है और पार्टी केवल यही जानना चाहती है. 

जेटली ने कांग्रेस अध्यक्ष पर किया था तीखा प्रहार  
केंद्रीय बजट पर चर्चा का जवाब देते हुए गुरुवार को वित्त मंत्री अरूण जेटली ने लोकसभा में राफेल विमान सौदे को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष पर तीखा प्रहार किया था. उन्होंने राहुल के आरोपों पर पलटवार करते हुए कहा था कि इस सौदे की जानकारी सार्वजनिक करने की मांग करके राहुल गांधी भारत की राष्ट्रीय सुरक्षा के साथ गंभीर समझौता कर रहे हैं और इस बारे में उन्हें वरिष्ठ नेता प्रणब मुखर्जी से सीखना चाहिए . जेटली ने कहा था, ‘‘मेरा आरोप है कि वह (कांग्रेस अध्यक्ष) भारत की सुरक्षा से गंभीर समझौता कर रहे हैं.’ इस बारे में कांग्रेस सदस्य शशि थरूर द्वारा सवाल उठाने पर जेटली ने कहा था, ‘‘आपकी पार्टी के अध्यक्ष ने ऐसे आरोप राष्ट्रीय सुरक्षा की कीमत पर गढ़े हैं.’ 

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close