रविशंकर प्रसाद ने राहुल गांधी पर किया करारा प्रहार, बोले- उनसे किसी मर्यादा की उम्मीद बेकार है

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली मौजूदा सरकार की निंदा करते हुए गुरुवार को छत्तीसगढ़ में एक जनसभा में देश के वर्तमान राजनीतिक हालात की तुलना पाकिस्तान से कर दी.

रविशंकर प्रसाद ने राहुल गांधी पर किया करारा प्रहार, बोले- उनसे किसी मर्यादा की उम्मीद बेकार है
बातचीत के दौरान रविशंकर प्रसाद ने साफ कहा कि राहुल गांधी से किसी मर्यादा की उम्मीद बेकार है (फोटो: वीडियो ग्रैब)
Play

रविंद्र कुमार, नई दिल्ली: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली मौजूदा सरकार की निंदा करते हुए गुरुवार को छत्तीसगढ़ में एक जनसभा में देश के वर्तमान राजनीतिक हालात की तुलना पाकिस्तान से कर दी. राहुल गांधी ने कहा, 'पहली बार 70 साल में आपने देखा होगा, आम तौर से जनता सुप्रीम कोर्ट की ओर जाती है, न्याय के लिए, कानून की जरूरत होती है, तो जनता कोर्ट जाती है. पहली बार आपने देखा होगा कि सुप्रीम कोर्ट के जज जनता के बीच जाकर खड़े होकर कहते हैं कि हमें डराया और धमकाया जा रहा है, शायद ये पहली बार डेमोक्रेटिक देश में हुआ है. ऐसा डिक्टेटरशिप में जरूर होता है. पाकिस्तान में हुआ है. अफ्रीका के अलग -2 देश में हुआ है.' इसी मुद्दे पर जी मीडिया ने केन्द्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद से बात की. बातचीत के दौरान उन्होंने साफ कहा कि राहुल गांधी से किसी मर्यादा की उम्मीद बेकार है. पढ़िए पूरा इंटरव्यू...

सवाल: राहुल गांधी कह रहे हैं कि संविधान की हत्या हो रही है बीजेपी और नरेंद्र मोदी की सरकार में
रविशंकर प्रसाद: ये आरोप वो कई बार से लगा रहे हैं. विरासत से अध्यक्ष बन गए हैं पार्टी में. बार-बार हार जाती है उनकी पार्टी. आज जनादेश बीजेपी के पक्ष में है. जिस मुख्ययमंत्री की वो तारीफ कर रहे हैं वो हार गए हैं. एक जगह से बड़ी मुश्किल से जीते हैं वे, उनके 16 मंत्री हार गए हैं. फिर भी राहुल कहते हैं कि सरकार बनाएंगे. जोड़-तोड़ की राजनीति कर रहे हैं. जनादेश को लूटने में माहिर है कांग्रेस. वो चाहते हैं कि किसी तरह से हम सरकार बनाएं. राहुल की आज जो टिप्पणी है (प्रधानमंत्री के बारे में) वो हताशा और खीज का नतीजा है. अब जनता भी उनसे सवाल पूछ रही है. उनके नेता भी उनसे सवाल पूछ रहे हैं. आज राहुल का नेतृत्व डोल रहा है. उन्होंने ज्यूडिशरी में टकराव लाने की कोशिश की है. इससे गैरजिम्मेदाराना बात एक राष्ट्रीय पार्टी के अध्यक्ष की हो नहीं सकती. कांग्रेस पार्टी ने कभी भी संस्थाओं का सम्मान नहीं किया. चाहे वो मिडिया हाउस हो, CVC हो, चुनाव आयोग हो या कोर्ट हो. आज मुझे राहुल गांधी को एक नेक सलाह देनी है. वो बार-बार संख्या की बात कर रहे हैं. 1984 में उनके पिता राजीव गांधी ने 400 से ज्यादा सीटें जीती थीं. 1989 में बोफोर्स के भ्रष्टाचार के बाद सबसे बड़ी पार्टी रही उनकी. लेकिन उन्होंने कहा कि जनादेश उनके पक्ष में नहीं है. फिर बाद में वी पी सिंह की सरकार बनी. जिसको बीजेपी ने भी समर्थन दिया था. राहुल गांधी अपने पिता की ये सब बातें सीखें.

सवाल: राहुल गांधी ने एक गंभीर आरोप लगाया है. इशारों और संकेतों में ही तानाशाही की बात कही है. और इसकी तुलना पाकिस्तान और अफ्रीका के देशों से की है. जैसा वहां देखने को मिलता है वैसा ही नरेंद्र मोदी सरकार में है?
रविशंकर प्रसाद: ये बिलकुल गैरजिम्मेदाराना आरोप है, इससे बड़ी बेशर्मी की बात हो ही नहीं सकती. आपातकाल किसने लगाया. जजों को सुपर्षिड किसने किया. मीडिया पर पाबंदी किसने लगाई. निर्दोष लोगों को जेल किसने भेजा. लोकनारायन जय प्रकाश नारायण को जेल में किसने बंद किया. राहुल गांधी को पच नहीं रहा है कि गरीब व्यक्ति के परिवार का बेटा भारत का प्रधानमंत्री है. आपकी पार्टी में इतनी भी शर्म नहीं है कि राष्ट्रपति को अभी तक उनसे बधाई तक नहीं मिली है. ये तो आपके संस्कार हैं. जब भारत दुनिया की बड़ी ताकत बन रही है तो आपको इस तरह की बातें करना शोभा नहीं देता. राहुल गांधी से किसी मर्यादा की उम्मीद बेकार है. आज की बात से ये लगता है कि वे गुस्से में हैं और हताश हैं. क्योकि जनता बार-बार हरा देती है उनको.

सवाल: जनादेश से हारने के बाद अब कोर्ट का सहारा ले रहे हैं?
रविशंकर प्रसाद: कोर्ट ने किसी को रोका नहीं है. विधानसभा में जो होगा वो होगा. पर राहुल गांधी की आजकल एक और फितरत हो गई है. बार-बार हारने के बाद भी वे कोर्ट से राजनीति को परिवर्तित करने की कोशिश करते हैं. जो आज किया है. कभी लोया केस उठाते हैं, कभी कोई और केस. राहुल गांधी को अब गरिमा का ख्याल रखना चाहिए, भले ही वे विरासत से आए हैं, पर उस पद की गरीमा का ख्याल रखना ही चाहिए उनको.

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close