छत्तीसगढ़: शिक्षा विभाग ने जारी किया नोटिस, PM मोदी के 'मन की बात' सुनना होगा अनिवार्य

प्रधानमंत्री 16 फरवरी को सुबह 11 से 12 बजे तक छात्रों को संबोधित करेंगे. इस संबोधन में पीएम बताएंगे कि बच्चे परीक्षा का तनाव कैसे कम करें.

छत्तीसगढ़: शिक्षा विभाग ने जारी किया नोटिस, PM मोदी के 'मन की बात' सुनना होगा अनिवार्य
प्रतीकात्मक फोटो.

रायपुर: राज्य के स्कूलों में प्रधानमंत्री के 'मन की बात' सुनने को अनिवार्य कर दिया गया है. दरअसल, प्रधानमंत्री 16 फरवरी को सुबह 11 से 12 बजे तक छात्रों को संबोधित करेंगे. इस संबोधन में पीएम बताएंगे कि बच्चे परीक्षा का तनाव कैसे कम करें. इसलिए यह संबोधन सभी बच्चों को सुनाना अनिवार्य किया गया है. राज्य के शिक्षा विभाग ने एक नोटिस जारी कर इस बात की जानकारी दी है. 

राज्य शिक्षा विभाग द्वारा जारी नोटिस में कहा गया है कि कक्षा छठवीं से बाहरवीं तक के छात्रों को आकाशवाणी और दूरदर्शन पर 16 फरवरी को सुबह 11 बजे आने वाला संदेश सुनाया जाएगा. उनके साथ शिक्षक, शाला प्रबंधन समिति और बीएड और डीएड के विद्यार्थियों को भी यह संदेश सुनना होगा.

विभाग ने इस संबंध में सभी जिलों के अधिकारियों को पत्र लिखकर इसकी अनिवार्यता सुनिश्चित करने का भी आदेश दिया है. साथ ही छात्रों को संदेश सुनने की व्यवस्था करने के लिए भी निर्देश दिए गए हैं.

नोटिस में कहा गया है-
''दिनांक 16 फरवरी 2018 को सुबह 11 से 12 बजे जिले में संचालित समस्त माध्यमिक शालाओं एवं हायर सेकेंडरी स्कूलों के कक्षा 6वीं से 12वीं के विद्यार्थियों के लिए परीक्षा की तैयारी के संदर्भ में माननीय प्रधानमंत्री महोदय द्वारा बच्चों में परीक्षा के तनाव को कम कैसे करें इस संदर्भ में सीधे इंटरनेट, टीवी, रेडियो के माध्यम से लाइव प्रसारण सुन सकते हैं.'' इसमें आगे लिखा गया है इस प्रसारण को सुनने के लिए आवश्यक तैयारी सुनिश्चित करें.