मणिशंकर अय्यर को कांग्रेस ने निलंबित किया, कारण बताओ नोटिस जारी

कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर के अमर्यादित बयान पर कांग्रेस ने एक्शन लेते हुए उन्हें पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया है. 

मणिशंकर अय्यर को कांग्रेस ने निलंबित किया, कारण बताओ नोटिस जारी
अय्यर ने कमजोर हिंदी का बहाना बनाते हुए मांफी मांगने की कोशिश की थी...(फोटो साभार: ANI)

नई दिल्ली: कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर के अमर्यादित बयान पर कांग्रेस ने एक्शन लेते हुए उन्हें पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया है. पार्टी ने प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ असंसदीय भाषा का इस्तेमाल करने पर कारण बताओ नोटिस भी जारी किया है. हांलांकि, अय्यर ने कमजोर हिंदी का बहाना बनाते हुए मांफी मांग ली थी लेकिन पार्टी ने उसे अस्वीकार करते हुए कार्रवाई की है. मणिशंकर अय्यर ने अपने बयान पर देते हुए कहा था, "मैंने 'नीच' कहा तो मेरा मतलब निचले स्तर से था. हिंदी मेरी मातृभाषा नहीं है, इसलिए जब मैं हिंदी बोलता हूं तो अंग्रेजी में सोचता हूं. ऐसे में इसका कोई और मतलब निकलता है तो मैं माफी मांगता हूं." उन्होंने कहा, "पीएम ने क्यों बाबा साहब अबेंडकर सेंटर के उद्घाटन पर कांग्रेस और राहुल गांधी पर निशाना साधा? हर रोज पीएम मोदी हमारे नेताओं के खिलाफ अभद्र भाषा का इस्तेमाल करते हैं. मैं एक फ्रीलांस कांग्रेसी हूं, मैं पार्टी में किसी पोस्ट पर नहीं हूं, इसलिए पीएम को उनकी ही भाषा में जवाब दे सकता हूं." 

जाहिर है कि मणिशंकर अय्यर ने माफी मांगने के दौरान भी अपनी अकड़ जारी रखी. माना जा रहा है कि पार्टी ने गुजरात में बने माहौल को ध्यान में रखते हुए यह कार्रवाई की है. उधर, कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल ने जैसे ही अय्यर का बयान सामने आया था, उसके बाद ट्वीट करते हुए कहा था, "पीएम मोदी पर मणिशंकर द्वारा दिए गए बयान से हम सहमत नहीं है. उम्मीद करते हैं कि अय्यर माफी मांगेंगे." राहुल ने बीजेपी पर आरोप लगाते हुए कहा कि पीएम मोदी और उनकी पार्टी ने कई बार उनका अपमान किया है.  

बीजेपी ने बनाया मुद्दा
इधर, प्रधानमंत्री मोदी ने पलटवार करते हुए पीएम मोदी पर पलटवार किया. उन्होंने कहा कि अय्यर का बयान मुगल जैसी मानसिकता को दर्शाता है. उन्होंने सूरत में एक रैली को संबोधित करते हुए कहा कि अय्यर ने पूरे गुजरात का अपमान किया है और जनता अपना वोट देकर नीच कहने वालों को जवाब दें. उन्होंने रैली में उपस्थित लोगों से पूछा कि क्या मैं नीच काम करता हूं? क्या मैं ऊंच नीच में भेद करता हूं? 

गुजरात में चुनाव प्रचार में जुट पीएम मोदी ने कहा कि भले ही मुझे नीच कहें लेकिन मैं काम गांधीजी के विचारों के अनुरूप करता हूं. मान-मर्यादा भारतीय जनता पार्टी का संस्कार है. उन्होंने आरोप लगाया कि मणिशंकर अय्यर अक्सर मुझे नीच कहते हैं. पीएम मोदी ने याद दिलाया कि गुजरात की सीएम रहने के दौरान भी कांग्रेस उनका अपमान करती रही है. मुझे जेल भेजने की साजिश रची गई थी. उन्होंने भरोसा जताया कि जनता बताएगी कि आपने गुजरात के बेटे के साथ क्या न्याय किया? पीएम मोदी ने कहा कि कोई भी बीजेपी कार्यकर्ता उनके लिए अपशब्द नहीं कहेगा. हमारे संस्कार अनुशासन सिखाते हैं. 

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close