VIDEO: जब दलाई लामा ने खींची बाबा रामदेव की दाढ़ी और पेट में कर दी गुदगुदी

महाराष्ट्र के वर्ली में विश्व शांति और वैश्विक समुदाय के लिए इस कार्यक्रम का आयोजन जैनाचार्य डॉ. लोकेश मुनि द्वारा स्थापित संस्था अहिंसा विश्व भारती ने किया. 

ज़ी न्यूज़ डेस्क | अंतिम अपडेट: Aug 13, 2017, 01:42 PM IST
VIDEO: जब दलाई लामा ने खींची बाबा रामदेव की दाढ़ी और पेट में कर दी गुदगुदी
विश्व शांति सम्मेलन के दौरान बाबा रामदेव और दलाई लामा. (फोटो साभार: एएनआई)

मुंबई: महाराष्ट्र के वर्ली में रविवार को 'विश्व शांति सम्मेलन' के लिए एक मंच पर विभिन्न धर्मों के धर्म गुरु जुटे. इस दौरान तिब्बती धर्म गुरु दलाई लामा और बाबा रामदेव के बीच शरारत भरा पल देखने को मिला. यहां मंच पर योग गुरु बाबा रामदेव जैसे ही दलाई लामा के पैर छूकर खड़े हुए तो लामा ने उनकी दाढ़ी पकड़ ली और कुछ देर तक उनके कान के पास झुके रहे फिर उनके उनके पेट में गुदगुदी करने लगे. इसके बाद ही रामदेव ने पेट की मांसपेशियों को घुमाने वाला योग नौलि भी करके दिखाया. 
 

कार्यक्रम में बोलते वक्त तिब्बती धर्म गुरु ने कहा, ''डर से चिढ़चिढ़ापन पैदा होता है, चिढ़चिढ़ेपन से क्रोध पैदा होता है और क्रोध से हिंसा जन्म लेती है.'' वहीं बाबा रामदेव ने इस दौरान चीन पर जमकर निशाना साधा उन्होंने कहा, ''चीन शांति में विश्वास नहीं करता. अगर वह ऐसा करता तो दलाई लामा यहां नहीं होते''. उन्होंने कहा, ''जैसे के साथ तैसा व्यवहार करना चाहिए. हम योग की भाषा में बात करते हैं लेकिन अगर किसी को ये बात समझ नहीं आती उसे निश्चित ही युद्ध की भाषा में जवाब दिया जाना चाहिए.''

फिलहाल दोनों धर्मगुरुओं के बीच ये शरारत भरा पल देख कर एनएससीआई डोम में मौजूद लोग ठहाका मार कर हंसने लगे. इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर आने के बाद ये तेजी से वायरल हो रहा है. मालूम हो ये पहली बार नहीं है जब दलाई लामा और बाबा रामदेव के बीच इस तरह की शरारत और मस्ती देखने को मिली है. इससे पहले 3 अप्रैल 2010 को हरिद्वार में एक धार्मिक सम्मेलन के दौरान मिलने पर भी उन्होंने बाबा रामदेव की दाढ़ी पकड़कर खींच दी थी.
 
इस कार्यक्रम का आयोजन जैनाचार्य डॉ. लोकेश मुनि द्वारा स्थापित संस्था अहिंसा विश्व भारती ने किया. जिसमें बौध्द धर्म के सर्वोच्च धर्म गुरु दलाई लामा, योगऋषि बाबा रामदेव के अलावा अतंरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त जैनाचार्य डॉ. लोकेश मुनि, जैनाचार्य कुलचंद्र जी महाराज, नम्र मुनि, सिख धर्म के सर्वोच्च धर्म गुरु अकालतख्त के प्रमुख जत्थेदार ज्ञानी गुरुबचन सिंह, अखिल भारतीय मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के उपाध्यक्ष और इस्लाम के विद्‌वान डॉ. कल्बे सादिक, इसाई धर्म के आर्चबिशप फेलिक्स मव्हादो मौजूद रहे. इनके अलावा सरकार की ओर से केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल, डॉ. हर्षवर्धन और डॉ. महेश शर्मा और पुरुषोत्तम रुपाला उपस्थित रहे.