दिल्ली में जल्द ही शेयरिंग कैब सर्विस हो सकती है बंद, फैसला लेने के मूड में केजरीवाल सरकार

दिल्ली में चल रही ऐप बेस टैक्सी की सेवाओं में पूल राइड या कैब शेयरिंग की सेवा पर जल्द रोक लग सकती है.

दिल्ली में जल्द ही शेयरिंग कैब सर्विस हो सकती है बंद, फैसला लेने के मूड में केजरीवाल सरकार
दिल्ली में ऐप आधारित टैक्सी की शेयरिंग सेवाओं पर लग सकती है रोक (फाइल फोटो)

नई दिल्ली : दिल्ली में चल रही ऐप बेस टैक्सी की सेवाओं में पूल राइड या कैब शेयरिंग की सेवा पर जल्द रोक लग सकती है. वहीं ऐप बेस टैक्सी ऑपरेटर्स को गाड़ियों का रियल टाइम जीपीएस डेटा दिल्ली के ट्रांस्पोर्ट विभाग के साथ साझा करने के लिए भी कहा जा सकता है. इस तरह के कुछ महत्वपूर्ण मुद्दों पर वार्ता करने के लिए दिल्ली सरकार की ओर से सोमवार को एक हाई पावर कमेटी की बैठक की गई.

नियमों के तहत कई जगहों से सवारी नहीं उठा सकती ऐप बेस टैक्सी
बैठक में ऐप बेस टैक्सी में शेयरिंग सेवा के मुद्दे पर कहा गया कि ऐप बेस टैक्सियों का परिचालन कांट्रेक्ट कैरेज पर्मिट के तहत किया जाता है. इसके तहत किसी ऐप बेस टैक्सी को विभिन्न जगहों से यात्रियों को एकबार में उठाने और उन्हें छोड़ने की अनुमति नहीं दी जाती है. वहीं सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार नई नीति के तहत टैक्सी के लिए लाइसेंस देने के पूर्व टैक्सी खड़ी करने के लिए पार्किंग उपलब्ध होने के कागज दिखाने की भी मांग की जा सकती है.

सिटी टैक्सी स्कीम 2017 बनाने पर हो रहा है काम
इस हाई पावर कमेटी का गठन इसी वर्ष जनवरी महीने में किया गया था. ये कमेटी दिल्ली की सिटी टैक्सी स्कीम 2017 पर काम कर रही है. आने वाले समय में इसी स्कीम के तहत ऐप बेस टैक्सी सेवाओं को लाइसेंस दिए जाएंगे और उनका नियमन किया जाएगा. इसी योजना के तहत ऐप बेस प्रीमियम बस सेवाओं का भी नियमन किया जाएगा.

ये भी पढ़ें : दिल्ली में डेंगू के डंक से लोग बेहाल, मरीजों की संख्या में हुआ इजाफा, मामले बढ़कर हुए 343

ये लोग हैं इस हाई पावर कमेटी के सदस्य
इस हाई पावर कमेटी की अध्यक्षता दिल्ली के पीडब्लूडी मंत्री सतेंद्र जैन कर रह हैं. कमेटी में दिल्ली के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोट, मुख्य सचिव अंशू प्रकाश, प्रमुख सचिव वित्त और दिल्ली डायलाग एंड डेवलपमेंट कमीशन के पूर्व उपाध्यक्ष आशीष खेतान को रखा गया है. माना जा रहा है कि ये कमेटी अगली बैठक में ऐप बेस टैक्सियों की सेवाओं को ले कर अंतिम निर्णय ले लेगी.

 

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close