गौतम गंभीर ने राजनीति में आने के सवाल पर दिया जवाब, बोले- मौका मिला तो...

गौतम गंभीर ने पूर्व क्रिकेटर और पंजाब सरकार के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू के पाकिस्तान जाने को लेकर भी अपनी बात रखी.

गौतम गंभीर ने राजनीति में आने के सवाल पर दिया जवाब, बोले- मौका मिला तो...
फाइल फोटो- DNA

नई दिल्लीः पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर ने राजनीति में आने के सवाल पर 'गंभीर' जवाब दिया है. गौतम ने कहा है कि यदि किसी को मौका मिलात है तो देश सेवा करनी चाहिए. टीम इंडिया के लिए 58 टेस्ट और 147 वनडे खेलने वाले गौतम गंभीर ने 4 दिसंबर को क्रिकेट से सभी फॉरमेट से सन्यास लेने का ऐलान किया था. गौतम ने रिटायरमेंट पर किसी खिलाड़ी के लिए फेयरवेल मैच आयोजित करने और पूर्व क्रिकेटर नवजोत सिंह सिद्धू के पाकिस्तान जाने को लेकर भी अपनी बात रखी है. बता दें कि गौतम गंभीर 6 दिसंबर को दिल्ली के फिरोजशाह कोटला मैदान में आंध्र प्रदेश के खिलाफ अपना अंतिम रणजी मैच खेलेंगे.

'धोनी के साथ नहीं है कोई विवाद'
गौतम गंभीर एक अखबार को दिए इंटरव्यू में एक खिलाड़ी के लिए अंतिम मैच में सम्मान जनक विदाई को लेकर किए गए सवाल के जवाब में कहा, 'किसी भी खिलाड़ी के लिए फेयरवेल मैच आयोजित नहीं किया जाना चाहिए.' उन्होंने कहा कि टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के साथ किसी प्रकार के विवाद को लेकर भी अपनी बात रखी. गंभीर ने कहा कि उनका धोनी के साथ कोई विवाद नहीं है. 

सिद्धू के पाकिस्तान जाने को बताया गलत कदम
गौतम गंभीर ने पूर्व क्रिकेटर और पंजाब सरकार के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू के पाकिस्तान जाने को लेकर कहा कि सिद्धू को पाकिस्तान नहीं जाना चाहिए था. गौतम ने कहा कि किसी को भी लोगों की भावनाओं को ठेस नहीं पहुंचानी चाहिए.

राजनीति में आने के सवाल पर बोले गंभीर
रिटायरमेंट के बाद राजनीति में आने के सवाल पर टीम इंडिया के इस पूर्व कप्तान ने कहा कि यदि देश सेवा का मौका मिलता है तो बेहतर है कि राजनीति में जाना चाहिए. उन्होंने कहा कि यदि मुझे मौका मिला तो मैं रबर स्टैम्प नहीं बनूंगा.

केजरीवाल पर साधा निशाना
दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार पर निशाना साधते हुए गंभीर ने कहा कि केजरीवाल सरकार को जनता का भरपूर समर्थन मिला था लेकिन ये सरकार जनता की उम्मीदों पर खरी नहीं उतर सकी.   

बता दें कि गौतम गंभीर कुछ दिन पहले ही 37 साल के हुए थे. टीम इंडिया में जगह नहीं बना पाने के कारण उनके क्रिकेट भविष्य पर आए दिन लोग सवाल पूछते रहते थे, लेकिन उन्होंने इन सभी कयासों पर विराम लगा दिया. गंभीर ने 58 टेस्ट, 147 वनडे और 37 टी20 इंटरनेशनल मैच खेले. गंभीर ने 58 टेस्ट मैचों में 41.96 की औसत से 4154 रन बनाए. इनमें नौ शतकीय पारी शामिल हैं.

गौतम गंभीर ने 147 वनडे मैचों में 39.68 की औसत और 11 शतकीय पारियों की मदद से 5238 रन बनाए. गंभीर से टी20 अंतरराष्ट्रीय मैचों में भी अपनी छाप छोड़ी. उन्होंने 37 मैच में सात अर्धशतक की मदद से 932 रन बनाए. इनमें उनका औसत 27.41 का था. गौतम गंभीर 2007 में दक्षिण अफ्रीका में खेले गए टी20 फाइनल में सबसे बड़ा स्कोर बनाने वाले खिलाड़ी थे. उन्होंने पाकिस्तान के खिलाफ इस मैच में 75 रन बनाए थे. गंभीर ने 2011 में श्रीलंका के खिलाफ खेले गए वनडे विश्व कप के फाइनल में 97 रन बनाए थे. यह फाइनल में किसी भी भारतीय का टॉप स्कोर था. 

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close