केजरीवाल के झूठ का कपिल मिश्रा ने किया पर्दाफाश, मुकेश शर्मा के वीडियो का बताया सच

आम आदमी पार्टी से निलंबित नेता कपिल मिश्रा ने शुक्रवार को प्रेस कांफ्रेंस में दावा किया कि आप को 2 करोड़ रुपये चंदा देने वाला जो वीडियो वायरल हुआ है वह झूठा है. सोशल मीडिया पर झूठ फैलाया जा रहा है. अरविंद केजरीवाल ने जानबूझकर सच को छुपाने के लिए मुकेश शर्मा को मैदान में उतारा है. हेमराज नाम के शख्स को छुपाने के लिए मुकेश शर्मा को सामने लाया गया है.

ज़ी मीडिया ब्‍यूरो | अंतिम अपडेट: May 19, 2017, 01:39 PM IST
केजरीवाल के झूठ का कपिल मिश्रा ने किया पर्दाफाश, मुकेश शर्मा के वीडियो का बताया सच

नई दिल्ली : आम आदमी पार्टी से निलंबित नेता कपिल मिश्रा ने शुक्रवार को प्रेस कांफ्रेंस में दावा किया कि आप को 2 करोड़ रुपये चंदा देने वाला जो वीडियो वायरल हुआ है वह झूठा है. सोशल मीडिया पर झूठ फैलाया जा रहा है. अरविंद केजरीवाल ने जानबूझकर सच को छुपाने के लिए मुकेश शर्मा को मैदान में उतारा है. हेमराज नाम के शख्स को छुपाने के लिए मुकेश शर्मा को सामने लाया गया है.

कपिल मिश्रा ने चुनौती दी कि हिम्मत है तो केजरीवाल कुर्सी छोड़कर जांच करवाएं. केजरीवाल सीधे तिहाड़ जाएंगे. कपिल मिश्रा ने कहा कि केजरीवाल अपने हवाला कनेक्शन पर परदा डालना चाहते हैं. जांच अरविंद केजरीवाल के घर तक पहुंच चुकी है इसलिए बलि का बकरा बनाकर मुकेश शर्मा को सामने लेकर आए हैं. आयकर विभाग और ईडी हेमप्रकाश शर्मा को ढूंढ रही है.

कपिल मिश्रा ने प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि मैंने एक हफ्ते पहले कुछ सवाल पूछे थे और अभी तक किसी ने कोई जवाब नहीं दिया. अरविंद केजरीवाल इन सवालों पर इस तरह चुप हैं जैसे कि उनके मुंह में दही जम गई हो. जो व्यक्ति 2 करोड़ का चंदा देने की बात कह रहा है, अरविंद केजरीवाल सोशल मीडिया पर उसका गलत वीडियो चला रहे हैं. केजरीवाल एक आईआरएस अफसर रहे हैं, इसलिए उन्हें पता है कि कौन सा काम कैसे करना है.

कपिल मिश्रा ने प्रेस कांफ्रेंस में एक प्रेजेंटेशन दिखाई. इसमें उन्होंने दिखाया कि एक साथ रात को 12.00 बजे चार कंपनियों ने 50 लाख रुपये भेजे. इस प्रक्रिया में जिस लेटर हेड का इस्तेमाल किया गया है, वह लेटर हेड नकली है. यह घर में बैठकर बनाया गया है. कपिल ने दिखाया कि दो कंपनियों के लेटर हेड में मुकेश कुमार के दस्तखत हैं और दो लेटर हेड में दस्तखत नहीं हैं. 

कपिल मिश्रा ने कहा कि अब तो अरविंद केजरीवाल ने वीडियो ट्वीट कर दिया है कि मुकेश कुमार ने उन्हें 2 करोड़ रुपये दिये हैं, अब उन्हें आयकर विभाग में जाकर यह बताना चाहिए. उन्होंने बताया कि मुकेश कुमार इसी साल 2017 में कंपनियों के निदेशक बने हैं, जबकि यह डोनेशन 2014 में दी गई थी. इन्हें एमसीडी चुनावों के एक दिन पहले ही निदेशक बनाया गया था. 2012 में उन्होंने दो कंपनियों को छोड़ दिया था, तो फिर वह 2014 में पैसा कैसे दे सकते हैं.