गोरखपुर हादसा: डॉ कफील खान बीआरडी मेडिकल कॉलेज की सभी ड्यूटी से हटाए गए

डॉक्टर कफील खान बीआरडी अस्पताल में इंसेफेलाइटिस विभाग के इंचार्ज थे. साथ ही उनके पास कॉलेज के वाइस प्रिंसिपल और अस्पताल अधीक्षक भी जिम्मेदारी थी.

ज़ी न्यूज़ डेस्क | अंतिम अपडेट: Aug 13, 2017, 07:37 PM IST
गोरखपुर हादसा: डॉ कफील खान बीआरडी मेडिकल कॉलेज की सभी ड्यूटी से हटाए गए
योगी आदित्यनाथ के दौरे के बाद अस्पताल प्रशासन के खिलाफ कार्रवाई शुरू हो गई है

गोरखपुर : गोरखपुर के बीआरडी अस्पताल में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के दौरे के बाद अस्पताल प्रशासन के खिलाफ कार्रवाई शुरू हो गई है. रविवार (13 अगस्त) को बीआरडी अस्पताल के सुपरिंटेंडेंट और वाइस प्रिंसिपल डॉक्टर कफील खान को हटा दिया गया है. कफील को अस्पताल की सभी ड्यूटी से हटा दिया गया है. डॉक्टर कफील खान बीआरडी अस्पताल में इंसेफेलाइटिस विभाग के इंचार्ज थे. साथ ही उनके पास कॉलेज के वाइस प्रिंसिपल और अस्पताल अधीक्षक भी जिम्मेदारी थी. हालांकि, कफील खान को हटाने का कारण साफ नहीं किया गया है. 

इससे पहले शनिवार (12 अगस्त) को सोशल मीडिया और स्थानीय समाचार पत्रों में खबरें आई थीं कि कफील खान ने अस्पताल में ऑक्सीजन खत्म होने के बाद उसके इंतजाम की हर मुमकिन कोशिश की. मगर, रविवार सुबह मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के गोरखपुर दौरे के बाद ही कफील खान के खिलाफ एक्शन लिया गया. उनकी जगह  डॉ. भूपेंद्र शर्मा को अस्पताल का नया पीडियाट्रिक्स विभाग का नया नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है.

 

वहीं अम्‍बेडकर नगर के राजकीय मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ पीके सिंह को बीआरडी मेडिकल कॉलेज का अतिरिक्‍त प्रभार सौंपा गया है।

यह भी पढ़ें : गोरखपुर हादसा, बीआरडी मेडिकल कॉलेज के प्रिसिंपल सस्पेंड, डैमेज कंट्रोल में जुटी उप्र सरकार

बीआरडी अस्पताल में बच्चों की मौत का सिलसिला जारी है. रविवार (13 अगस्त) को भी दिमागी बुखार से एक और 4 साल के बच्चे की मौत होने की घटना सामने आई है. पिछले 3 दिनों में मौत का आंकड़ा 68 पहुंच गया है. दूसरी तरफ सीएम योगी आदित्यनाथ ने बताया है कि प्रमुख सचिव की अध्यक्षता में मामले की जांच हो रही है. उन्होंने कहा है कि दोषियों को किसी कीमत पर बख्शा नहीं जाएगा. योगी ने जांच रिपोर्ट आने के बाद हर मुमकिन कार्रवाई का आश्वासन दिया है. बता दें कि इससे पहले शनिवार (12 अगस्त) को इस मामले के तूल पकड़ने के बाद बीआरडी अस्पताल के प्रिंसिपल राजीव मिश्रा को भी हटा दिया गया था.