वीवीआईपी हेलीकाप्टर घोटालाः प्रवर्तन निदेशालय ने सप्लमेन्ट्री चार्जशीट दायर किया

ईडी: ने बुधवार को 3600 करोड़ रुपये के वीवीआईपी हेलीकाप्टर धन शोधन मामले में दुबई की दो फर्मों और कंपनियों की एक महिला निदेशक के खिलाफ आरोपपत्र दायर किया. अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश अरविंद कुमार के सामने दायर पूरक आरोपपत्र में ईडी ने शिवानी सक्सेना का नाम दुबई की मैसर्स यूएचवाई सक्सेना और मैसर्स मैट्रिक्स होल्डिंग्स की ‘‘सक्रिय’’ निदेशक के रूप में शामिल किया.

भाषा | Updated: Sep 14, 2017, 07:33 AM IST
वीवीआईपी हेलीकाप्टर घोटालाः प्रवर्तन निदेशालय ने सप्लमेन्ट्री चार्जशीट दायर किया
(file pic)

नई दिल्लीः  प्रवर्तन निदेशालय :ईडी: ने बुधवार को 3600 करोड़ रुपये के वीवीआईपी हेलीकाप्टर धन शोधन मामले में दुबई की दो फर्मों और कंपनियों की एक महिला निदेशक के खिलाफ आरोपपत्र दायर किया. अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश अरविंद कुमार के सामने दायर पूरक आरोपपत्र में ईडी ने शिवानी सक्सेना का नाम दुबई की मैसर्स यूएचवाई सक्सेना और मैसर्स मैट्रिक्स होल्डिंग्स की ‘‘सक्रिय’’ निदेशक के रूप में शामिल किया.

एजेंसी धन शोधन रोकथाम कानून के विभिन्न प्रावधानों के तहत दोनों कंपनियों के खिलाफ आरोपपत्र दायर कर चुकी है.

एक जनवरी 2014 को भारत ने सौदे के लिए 423 करोड़ रुपये की रिश्वत और अनुबंध के दायित्वों के उल्लंघन के आरोपों में फिनमेक्कानिका की ब्रिटिश कंपनी अगस्ता वेस्टलैंड के साथ भारतीय वायुसेना को 12 एडब्ल्यू 101 वीवीआईपी हेलीकाप्टरों की आपूर्ति का अनुबंध खत्म कर दिया था.