चंद रोज में लग जाएगी एग्री एक्सपोर्ट पॉलिसी पर मुहरः नीति आयोग

इस पॉलिसी के आने के बाद कृषि उत्पादों का निर्यात भी बढ़ेगा. 

चंद रोज में लग जाएगी एग्री एक्सपोर्ट पॉलिसी पर मुहरः नीति आयोग
फाइल फोटो

सुमन अग्रवाल, नई दिल्लीः एग्री एक्सपोर्ट पॉलिसी को लेकर सरकार ने अपनी कमर कस ली है. इस शुक्रवार को कृषि मंत्रालय, नीति आयोग एक अहम बैठक करने जा रही है, इस बैठक में इस पॉलिसी पर लगभग अंतिम फैसला ले लिया जाएगा ताकि आगे इसे कैबिनेट में पेश किया जा सके. आज नीति आयोग के सदस्य रमेश  चंद ने जी बिजनेस से बात करते हुए बताया कि अब इस पॉलिसी के रास्ते में कोई बाधा नहीं है. इस पॉ़लिसी से किसानों की आय दोगुनी होने में मदद मिलेगी. इस पॉलिसी के आने के बाद कृषि उत्पादों का निर्यात भी बढ़ेगा. पॉलिसी में साल 2022-23 के अंदर कृषि निर्यात 60 बिलियन डॉलर करने का लक्ष्य रखा गया है. सरकारी सूत्र ने ये भी बताया कि इस वित्तीय वर्ष कृषि निर्यात 16-20 फीसदी के ग्रोथ की उम्मीद कर रहा है. 

दरअसल, वित्त मंत्री अरुण जेटली ने बजट 2018—19 में घोषणा की थी कि देश से एग्री उत्पादों के निर्यात को बढ़ाकर 100 बिलियन अमे‌रिकी डॉलर तक बढ़ाया जा सकता है, जो फिलहाल 30 बिलियन अमेरिकी डॉलर है. उसके बाद मार्च के अंत में पॉलिसी के ड्राफ्ट की घोषणा की गई. उसके बाद सरकार ने इस पॉलिसी पर राज्यों की सलाह मांगी थी ताकी अगर इस पॉलसी में कोई और सुधार जोड़ा जा सके. इसके लिए आखिरी तारीख 5 अप्रैल तय की गई थी.

पॉलिसी में क्या है
-पूरे देश में एक समान मंडी फीस लगनी चाहिए,  लैंड लीज के नियमों में बदलाव पर भी जोर दिया गया है. 
-पॉलिसी में कृषि के ढांचागत विकास, लॉजिस्टिक्स और अनुसंधान और विकास में सुधार की बातें भी कही गई हैं. 
- पॉलिसी में एपीएमसी एक्ट में सुधार करने पर खासा जोर दिया गया है
- एग्री उत्पादों से जुड़े करीब 50 क्लस्टर बनाने के साथ ही एग्री उत्पादों को बढ़ावा देने पर जोर होगा.
- पालिसी से कृषि जिंसों के कारोबार में राज्यों की भागीदारी बढ़ने की संभावना है.  
नई  पॉलिसी में नेशनल एग्रीकल्चर एक्सपोर्ट पॉलिसी में किसानों की आय दोगुनी करने का लक्ष्य रखा 
गया है.
-पॉलिसी में 2022 तक एग्री एक्सपोर्ट 3 हजार करोड़ डॉलर से बढ़ाकर 6 हजार करोड़ डॉलर ले जाने का 
लक्ष्य है. 
- एग्री एक्सपोर्ट के लिए अलग से स्र्टाट अप फंड बनाने की योजना है.
-पॉलिसी में 2022-23 तक 60 बिलियन एक्सपोर्ट का लक्ष्य है. 
-वित्तीय वर्ष 18-19 में एग्री एक्सपोर्ट की ग्रोथ 16-20 फीसदी रखने का लक्ष्य .