हार्दिक पटेल की 5 नई कथित सेक्‍स सीडी जारी, बीजेपी पर लगाया आरोप

जब पहली बार इस तरह के वीडियो सामने आए थे तो हार्दिक ने इनको फर्जी करार देते हुए बीजेपी पर तंज कसते हुए कहा था, ''बीजेपी ने पता नहीं क्‍यों जल्‍दबाजी में इस तरह के वीडियो जारी कर दिए. इस तरह के वीडियो तो चुनाव के पांच-छह दिन पहले जारी करने चाहिए थे.''

Atul Chaturvedi अतुल चतुर्वेदी | Updated: Dec 7, 2017, 01:33 PM IST
हार्दिक पटेल की 5 नई कथित सेक्‍स सीडी जारी, बीजेपी पर लगाया आरोप
हार्दिक पटेल (फाइल फोटो)

अहमदाबाद: गुजरात चुनाव की जबर्दस्‍त तपिश के बीच पाटीदार नेता हार्दिक पटेल के पांच नए कथित सेक्‍स वीडियो जारी हुए हैं. इसके जारी होने के साथ ही पाटीदार अनामत आंदोलन समिति (PAAS) और बीजेपी के बीच आरोप-प्रत्‍यारोप का दौर शुरू हो गया है. द टाइम्‍स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक इस बार यह तीसरा वीडियो सेट जारी हुआ है. पिछले महीने इसी तरह के दो कथित वीडियो सेट जारी हुए थे.

जब पहली बार इस तरह के वीडियो सामने आए थे तो हार्दिक ने इनको फर्जी करार देते हुए बीजेपी पर तंज कसते हुए कहा था, ''बीजेपी ने पता नहीं क्‍यों जल्‍दबाजी में इस तरह के वीडियो जारी कर दिए. इस तरह के वीडियो तो चुनाव के पांच-छह दिन पहले जारी करने चाहिए थे.'' उस वक्‍त हार्दिक ने यह भी कहा था कि आने वाले दिनों में बीजेपी उनको बदनाम करने के लिए इस तरह के और भी वीडियो जारी कर सकती है. 

गुजरात चुनाव: हार्दिक पटेल के लिए प्रतिष्‍ठा का सवाल बनी यह सीट

इन वीडियो क्लिप में कथित रूप से हार्दिक और दो लोगों एक लड़की के साथ दिखते हैं. एक दूसरी क्लिप में दोनों लोग बाहर चले जाते हैं कमरे की बत्‍ती बुझ जाती है. उसके बाद अंधेरा होने के कारण कुछ भी दिखाई नहीं देता. 

पास के सह-संयोजक दिनेश बंभाणिया ने आरोप लगाते हुए कहा है कि बीजेपी ने छेड़छाड़ कर इस वीडियो को बनाया है. उन्‍होंने कहा कि हम लोग लगातार कह रहे हैं कि हार्दिक को बदनाम करने के लिए बीजेपी ने इस तरह के फर्जी वीडियो बनाए हैं. इसके साथ ही जोड़ा कि हम मीडिया से अपील करते हैं कि इस तरह के वीडियो को नहीं दिखाएं क्‍योंकि ये वास्‍तविक नहीं हैं. हमारे आंदोलन को भटकाने और कमजोर करने के लिए इस तरह के प्रयास किए जा रहे हैं.  

इससे पहले के कथित वीडियो मामले में राष्ट्रीय महिला आयोग (एनसीडब्ल्यू) ने रविवार (3 दिसंबर) को कहा था कि उसकी अध्यक्ष रेखा शर्मा उस महिला से भेंट करेंगी जिसका पाटीदार आरक्षण आंदोलन के नेता हार्दिक पटेल ने कथित रूप से यौन शोषण किया था. एनसीडब्ल्यू ने यह भी कहा कि इस मामले में पीड़िता शिकायतकर्ता नहीं है लेकिन वह आयोग की सदस्यों से बात करना चाहती है.