पाकिस्तानी मीडिया में छा गए सिद्धू की रैली में लगे ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के नारे

पंजाब सरकार के मंत्री और कांग्रेस के नेता नवजोत सिंह सिद्धू की रैली में लगे पाकिस्तान जिंदाबाद के नारों ने पाकिस्तानी मीडिया को भारत के खिलाफ जहर उगलने का एक और मौका दे दिया है. जी न्यूज पर अलवर रैली में पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे का वीडियो चलने के बाद पाकिस्तान के कुछ समाचार चैनलों ने भी इस वीडियो को चलाया.

पाकिस्तानी मीडिया में छा गए सिद्धू की रैली में लगे ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के नारे

नई दिल्ली: पंजाब सरकार के मंत्री और कांग्रेस के नेता नवजोत सिंह सिद्धू की रैली में लगे पाकिस्तान जिंदाबाद के नारों ने पाकिस्तानी मीडिया को भारत के खिलाफ जहर उगलने का एक और मौका दे दिया है. जी न्यूज पर अलवर रैली में पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे का वीडियो चलने के बाद पाकिस्तान के कुछ समाचार चैनलों ने भी इस वीडियो को चलाया.

यह वीडियो दिखाकर पाकिस्तानी मीडिया ने दावा किया कि भारत में हो रही इस तरह की नारेबाजी बताती है कि भारत के लोग पाकिस्तान से दोस्ताना संबंध चाहते हैं. पाकिस्तानी समाचार चैनलों के न्यूज एंकर और पत्रकारों ने इससे आगे बढ़कर यह दावा भी किया कि भारत सरकार और भारत का मीडिया दोनों पड़ोसियों के मधुर संबंधों के खिलाफ है.

जी न्यूज ने न सिर्फ इस वीडियो को प्रमुखता से चलाया बल्कि राजस्थान विधानसभा चुनाव 2018 में अलवर की रैली में लगाए गए पाकिस्तान जिंदाबाद के नारों पर कांग्रेस पार्टी और सिद्धू से उनका रुख स्पष्ट करने को भी कहा. जी न्यूज ने कांग्रेस के उन आरोपों को भी धो डाला, जिसमें पार्टी ने कहा था कि वीडियो फर्जी है. कांग्रेस पार्टी के लोगों ने जानबूझकर ऐसे वीडियो सोशल मीडिया पर डाले जिनमें पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे वाले हिस्से काट दिए गए थे.

वीडियो की प्रामाणिकता का परीक्षण करने के लिए सिद्धू की रैली में मौजूद पत्रकारों और आम नागरिकों से जी न्यूज ने बातचीत की. जी न्यूज को वहां मौजूद लोगों से सात अलग-अलग वीडियो मिले. ये वीडियो वहां मौजूद पत्रकारों ने बनाए थे. एक स्थानीय पत्रकार ने सामने आकर कैमरे पर कहा कि सिद्धू की रैली में पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाए गए थे. नारे तब लगे जब सिद्धू रैली को संबोधित कर रहे थे.

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने दावा किया कि रैली में सत श्री अकाल के नारे लगाए गए थे, वहीं सिद्धू ने जी न्यूज के खिलाफ मानहानि का दावा ठोकने की धमकी दी थी.

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close