भोपाल: CM चौहान को काले झंडे दिखाने को लेकर पुलिस सर्तक, छात्राओं से उतरवाया दुपट्टा

मध्यप्रदेश में बैतूल जिले के मुलताई में मंगलवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के जन आशीर्वाद यात्रा कार्यक्रम में शामिल होने आई कॉलेज की कुछ छात्राओं की पुलिस ने कथित तौर पर काले रंग का दुपट्टा उतरवा कर रख लिया. 

भोपाल: CM चौहान को काले झंडे दिखाने को लेकर पुलिस सर्तक, छात्राओं से उतरवाया दुपट्टा
छात्राओं का ड्रेस कोड गुलाबी कुर्ती, काली सलवार और काला दुपट्टा है.(फाइल फोटो)

बैतूल (मध्यप्रदेश): मध्यप्रदेश में बैतूल जिले के मुलताई में मंगलवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के जन आशीर्वाद यात्रा कार्यक्रम में शामिल होने आई कॉलेज की कुछ छात्राओं की पुलिस ने कथित तौर पर काले रंग का दुपट्टा उतरवा कर रख लिया. मुख्यमंत्री को काला झंडा दिखाने की आशंका को लेकर ये दुपट्टा उतरवाया गया. छात्राओं ने बताया, ‘‘एक महिला पुलिस अधिकारी ने पहले हमारा दुपट्टा उतरवाकर हमारे ही बैग में रखवा दिया.  फिर कुछ देर बाद मुख्यमंत्री के आने से पहले पुलिस ने हमारे दुपट्टे को ले लिया और कहा कि कहा कि मुख्यमंत्री का कार्यक्रम समाप्त हो जाने के बाद वापस लौटा दी जाएगा.

रात साढ़े आठ बजे तक उन्हें दुपट्टा नहीं मिल पाया है. दरअसल, मुख्यमंत्री सामुदायिक नेतृत्व विकास क्षमता कार्यक्रम के तहत कराए जाने वाले बैचलर ऑफ सोशल वर्क (बीएसडब्ल्यू) की आधा दर्जन से अधिक छात्राएं मुख्यमंत्री के मंगलवार को मुलताई पहुंचने की खबर सुनकर उनके कार्यक्रम में शामिल होने पहुंची थीं. 

इन छात्राओं का ड्रेस कोड गुलाबी कुर्ती, काली सलवार और काला दुपट्टा है. हालांकि, मुलताई पुलिस थाना प्रभारी रामस्नेही चौहान ने कहा, ‘‘मेरी ड्यूटी विरोध प्रदर्शन करने वालों की गिरफ्तारी में लगी हुई थी.  सभा स्थल पर क्या हुआ, इसकी मुझे कोई जानकारी नहीं है. ’’ पूर्व विधायक एवं प्रदेश कांग्रेस महासचिव सुखदेव पांसे ने इस घटना की कड़ी निंदा करते हुए कहा, ‘‘यह घटना मानवता को शर्मसार करने वाली है. 

फर्जी घोषणा करने वाले मुख्यमंत्री इतने ज्यादा भयभीत हैं कि वे छात्राओं की यूनिफार्म तक से खौफ खा रहे हैं.’’ वहीं, मुलताई के भाजपा विधायक चंद्रशेखर देशमुख ने कहा, ‘‘मेरी जानकारी में यह मामला नहीं है.  अगर ऐसा हुआ है तो यह गंभीर बात है.  मैं तत्काल इस मामले में अनुविभागीय अधिकारी पुलिस (एसडीओपी) से बात कर पता लगाता हूं कि इस मामले में क्या हुआ और ऐसा क्यों किया गया?’’

गौरतलब है कि जनआशीर्वाद यात्रा के दौरान बैतूल, मुलताई और भैंसदेही पहुंचे मुख्यमंत्री चौहान जैसे ही मुलताई पहुंचे, कांग्रेस के पूर्व विधायक सुखदेव पांसे के नेतृत्व में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने जोरदार नारेबाजी करते हुए ‘मुख्यमंत्री वापस जाओ’ के नारे लगाये. साथ ही, जनआशीर्वाद यात्रा का रथ जैसे ही बैतूल जिला मुख्यालय स्थित लल्ली चौक पहुंचा, वहां मौजूद कांग्रेस की दो महिला नेताओं ने मुख्यमंत्री को काले झंडे दिखाये.  हालांकि, बाद में पुलिसकर्मियों ने दोनों महिलाओं से काला कपड़ा छीन लिया. 

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close