सुकमा में शहीद जवानों को CM रमन सिंह ने दी श्रद्धांजलि, नक्सली हमले में गई थी जान

मुख्यमंत्री रमन सिंह और केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री हंसराज अहीर सुकमा जिले में नक्सली हमले में शहीद सीआरपीएफ के जवानों को बुधवार सुबह माना कैम्प स्थित चौथी बटालियन परिसर में श्रद्धांजलि अर्पित की.

सुकमा में शहीद जवानों को CM रमन सिंह ने दी श्रद्धांजलि, नक्सली हमले में गई थी जान
शहीद जवानों को श्रद्धांजलि देते छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह. (ANI/14 March, 2018)

रायपुर: मुख्यमंत्री रमन सिंह और केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री हंसराज अहीर सुकमा में नक्सली हमले में शहीद जवानों को बुधवार (14 मार्च) सुबह श्रद्धांजलि दी. मुख्यमंत्री रमन सिंह और केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री हंसराज अहीर सुकमा जिले में नक्सली हमले में शहीद सीआरपीएफ के जवानों को बुधवार सुबह माना कैम्प स्थित चौथी बटालियन परिसर में श्रद्धांजलि अर्पित की. केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री अहीर मंगलवार (13 मार्च) को नई दिल्ली से भारतीय वायु सेना के विमान से देर रात रायपुर पहुंचे. वे अगले दिन सुबह माना पहुंचे और वहां शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की. इसके बाद वे भारतीय वायु सेना के विमान से नई दिल्ली लौट जाएंगे.

सुकमा में नक्सलियों ने एंटी लैंडमाइन वाहन उड़ाया, 9 जवान शहीद
सुकमा जिले के किस्टाराम क्षेत्र के पलोड़ी में मंगलवार (13 मार्च) सुबह 11 बजे नक्सलियों ने आईईडी ब्लास्ट कर एंटी लैंडमाइन वाहन को उड़ा दिया था. इसमें केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) की 212वीं वाहिनी के 9 जवान शहीद हो गए थे और 2 अन्य घायल हो गए थे. जवाबी कार्रवाई में नक्सलियों को भी भारी नुकसान उठाना पड़ा.

नक्सलियों ने आईईडी ब्लास्ट से किया हमला
बस्तर के आईजी (नक्सल ऑपरेशंस) विवेकानंद सिन्हा ने कहा था, "जवान गश्त पर गए हुए थे. इसी बीच, पहले से घात लगाए नक्सलियों ने एंटी लैंडमाइन वाहन को आईईडी ब्लास्ट से उड़ा दिया. इसके बाद जवानों पर ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी. इससे जवानों को संभलने का मौका नहीं मिला. अभी हम घायल जवानों को वहां से निकालने में लगे हुए हैं. घटनास्थल से 3 किलोमीटर की दूरी पर ही सीआरपीएफ का कैंप मौजूद है."

9 जवान शहीद
हमले में प्रधान आरक्षक लक्ष्मण, आरक्षक अजय कुमार यादव, मनोरंजन लेंका, जितेंद्र सिंह, शोभित कुमार शर्मा, धर्मेंद्र सिंह, मनोज सिंह, चंद्रा एचएस, और राजेश कुमार शहीद हुए हैं. वहीं घायल जवानों में आरक्षक मदन कुमार और राजेश कुमार शामिल हैं. इस इलाके में ये तीसरी नक्सली वारदात है. इससे पहले 11 मार्च 2017 को भी यहां हुई मुठभेड़ में 11 जवान शहीद हुए थे. कुछ दिनों पहले इसी इलाके में नक्सलियों ने 27 वाहनों को फूंका था. यह सभी वाहन सड़क निर्माण में लगे हुए थे.

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close