छत्तीसगढ़: पुलिसकर्मियों ने सड़क पर बैठी गाय को जानबूझकर कुचल दिया, वीडियो हुआ वायरल

पुलिस वालों द्वारा नेशनल हाइवे में सड़क पर बैठी गाय को जानबूझकर कुचलने का मामले सामने आया है.

छत्तीसगढ़: पुलिसकर्मियों ने सड़क पर बैठी गाय को जानबूझकर कुचल दिया, वीडियो हुआ वायरल
वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस के बड़े अफसर भी दोषी पुलिस कर्मियों को बचाने में लग गए हैं.(प्रतीकात्मक फोटो)

राजनांदगांव/किशोर शिल्लेदार: शहर में पुलिस का एक वहशी चेहरा सामने आया है. सोमवार रात नेशनल हाइवे में सड़क पर बैठी गाय को जानबूझकर कुचलने का मामले सामने आया है. पुलिस जवानों ने इस घटिया करतूत को ड्यूटी में रहते हुए सरकारी गाड़ी से अंजाम दिया है. गाय को कुचलने वीडियो वायरल हुआ है. हद यह है कि वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस के बड़े अफसर भी दोषी पुलिस कर्मियों को बचाने में लग गए हैं. वीडियो में साफ तौर पर दिखाई दे रही घटना को अफसर अपने कर्मियों की चूक बताने की कोशिश में लगे हैं.

दरअसल, राजनांदगांव में सोमवार देर रात करीब साढ़े 12 बजे का एक वीडियो वायरल हुआ है. इस वीडियो में साफ दिखाई दे रहा है कि कैसे पुलिस वालों ने सामने बैठी गाय पर जानबूझकर सरकारी गाड़ी चढ़ा दी. इसके बाद बाहर खड़े एक पुलिसकर्मी ने एक अन्य व्यक्ति के साथ मिलकर घायल गाय को किनारे किया. वो गाय को लात मारकर देख रहे थे कि गाय जिंदा है कि नहीं. पुलिस की इस करतूत के साथ एक और वीडियो वायरल हुआ है. यह दूसरा वीडियो इस पूरी घटना की प्रत्यक्षदर्शी महिला का है. इस महिला का कहना है कि सड़क पर बैठी गाय पर पुलिस वालों ने गाड़ी जानबूझकर चढ़ा दी। इस दौरान बार-बार पुलिस वालों से मिन्नतें की गईं कि ऐसा मत करो, पर फिर दोबारा गाड़ी चढ़ा दी गई. इस महिला ने दावा किया कि वह इन पुलिसकर्मियों को पहचान सकती है. उसने कहा कि सभी पुलिसकर्मी शराब के नशे में थे. 

पुलिसकर्मियों की इस हरकत की शहर में तीखी प्रतिक्रिया हो रही है. सोशल मीडिया में लोग लगातार इस घटना को शर्मनाक बताते हुए इन पुलिसकर्मियों पर कड़ी कार्रवाई की मांग कर रहे हैं. हैरान करने वाली बात है जब पुलिस वाले इस घटना को अंजाम दे रहे थे, तब वे वर्दी में थे. घटना के बाद हंसते हुए वहां से निकल गए. राजनांदगांव की सामाजसेवी संस्था जैनम फाउंडेशन के सदस्यो ने इस घटना की निंदा करते हुए जिला कलक्टर और एसपी को जिम्मेदार पुलिसकर्मियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की मांग का ज्ञापन सौपा है. राजनांदगांव के एसपी प्रशांत अग्रवाल ने इस मामले मे मीडिया से बात करते हुए कहा कि घटना की जांच की जाएगी और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close