RSS ने पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या पर दुख जताया

बेंगलुरू की एक पत्रिका की संपादक 55 वर्षीय पत्रकार गौरी लंकेश की कर्नाटक के बेंगलूरू स्थित उनके आवास पर अज्ञात लोगों ने करीब एक महीने पहले गोली मारकर हत्या कर दी थी.

ज़ी न्यूज़ डेस्क | Updated: Oct 13, 2017, 01:03 PM IST
RSS ने पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या पर दुख जताया
गोली मारकर हुई थी गौरी लंकेश की हत्या (फाइल फोटो-Zee)

भोपाल: राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) ने गुरुवार को मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में शुरू हुई अखिल भारतीय कार्यकारी मंडल की तीन दिवसीय बैठक में वरिष्ठ पत्रकार गौरी लंकेश सहित समाज के अन्य जानेमाने लोगों के निधन पर गहरा दुख व्यक्त किया है. आरएसएस के एक वरिष्ठ नेता ने मीडिया से बातचीत करते हुए जानकारी दी कि संघ ने बैठक में वरिष्ठ पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या सहित समाज के अन्य जानेमाने लोगों के निधन पर शोक व्यक्त किया है.

बेंगलुरू की एक पत्रिका की संपादक 55 वर्षीय पत्रकार गौरी लंकेश की कर्नाटक के बेंगलूरू स्थित उनके आवास पर अज्ञात लोगों ने करीब एक महीने पहले गोली मारकर हत्या कर दी थी. गौरी लंकेश (55) पर तीन अज्ञात हमलावरों ने सात गोलियां दागी थी जिससे उनकी मौत हो गई थी. लंकेश अपने ऑफिस से घर लौटी थीं. लंकेश के सीने में दो गोलियां और एक गोली माथे पर लगी थी. गौरी लंकेश लोकप्रिय कन्नड़ टेबलॉयड 'गौरी लंकेश पत्रिके' की संपादक थीं. लंकेश की नृशंस हत्या का पत्रकारों, सामाजिक कार्यकर्ताओं, लेखकों, विचारकों, महिला संगठनों व दूसरे लोगों ने देश भर में निंदा की.

RSS न होता तो वंदे मातरम् के बारे में न जान पाते : सीएम आदित्यनाथ योगी

बैठक में संघ के कार्यों की समीक्षा
भोपाल में चल रही आरएसएस की बैठक में आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत एवं आरएसएस के अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख मनमोहन वैद्य सहित संघ के कई नेता शामिल हुए. इस बैठक में संघ के कार्यों की समीक्षा के साथ देश के समसामायिक विषयों पर भी चर्चा की जा रही है.

अखिल भारतीय कार्यकारी मंडल बैठक स्थल को भव्य रूप दिया गया है. साथ ही बैठक कक्ष को गुरु गोविंद सिंह के नाम पर रखा गया है. अखिल भारतीय कार्यकारी मंडल बैठक स्थल पर एक प्रदर्शनी भी लगाई जाएगी. इस प्रदर्शनी में पद्मभूषण कुशोक बकुल रिनपोछे के जीवन दर्शन को दिखाया जाएगा. रिनपोछे द्वारा जम्मू कश्मीर में शिक्षा के प्रचार-प्रसार और समाज सुधार के लिए किए गए कार्यो को इस प्रदर्शनी में दिखाया जाएगा.

मध्य भारत प्रांत के प्रचार प्रमुख दीपक शर्मा के मुताबिक, इस बैठक में देशभर के 11 क्षेत्रों और 42 प्रांतों से लगभग 300 प्रतिनिधियों के हिस्सा लेंगे.

(इनपुट एजेंसी से भी)