सेल घटने पर पेट्रोल पंप मालिक ने निकाले आकर्षक ऑफर, अब तेल भराने को लग रही है लंबी लाइन

पेट्रोल पंप पर आने वाले ग्राहकों के लिए चाय-नाश्ते से लेकर मोटरबाइक तक के इनाम देकर ग्राहकों को आकर्षित करने का प्रयास किया जा रहा है.

सेल घटने पर पेट्रोल पंप मालिक ने निकाले आकर्षक ऑफर, अब तेल भराने को लग रही है लंबी लाइन
(फाइल फोटो)
Play

नई दिल्लीः महाराष्ट्र सीमा से सटे सेंधवा में बायपास पर स्थित गीतांश पेट्रोल पंप मालिक ने अपने वहां सेल घटने के चलते डीजल-पेट्रोल भराने वाले के लिए आकर्षक योजना निकाली है. जिसके तहत पेट्रोल पंप पर आने वाले ग्राहकों के लिए चाय-नाश्ते से लेकर मोटरबाइक तक के इनाम देकर ग्राहकों को आकर्षित करने का प्रयास किया जा रहा है. दरअसल, इस तरह की इनामी योजना के पीछे पंप मालिक की अपनी अलग ही मजबूरी है. पेट्रोल पंप के मालिक के अनुसार 'मध्यप्रदेश में पेट्रोल डीजल पर टैक्स ज्यादा होने से महाराष्ट्र की तुलना में मध्य प्रदेश में पेट्रोल-डीजल महंगा है, इसलिए गाड़ी वाले यहां से डीजल नहीं डलवाते हैं.'

आज फिर बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम, जानिए क्या है भाव

MP में कीमत ज्यादा होने की वजह से नहीं भराते पेट्रोल
पेट्रोल पंप के मालिक के मुताबिक 'अगर लोग महाराष्ट्र से मध्य प्रदेश आते हैं तो महाराष्ट्र से पेट्रोल या डीजल डलवा कर ही आते हैं. साथ ही एडवांस में भी पेट्रोल-डीजल रखकर चलते हैं. इसके अलावा अगर मध्य प्रदेश में लोग पेट्रोल डलवाते भी हैं तो उतना ही डलवाते हैं जितने में वह महाराष्ट्र पहुंच सकें. ऐसे में रास्ते से गुजरने वाले लोग पेट्रोल पंप की तरफ रुख भी नहीं करते. इसलिए हमने यह उपहार योजना शुरू की.' उनके अनुसार यह स्थिति सिर्फ उनके ही पेट्रोल पंप के साथ नहीं बल्कि महाराष्ट्र सीमा से लगे मध्य प्रदेश के जितने भी गांव और शहर है वहां सब दूर सेल घटा है और और यही स्थिति है. इसी के चलते वह यह सब कर रहे हैं.'

पेट्रोल-डीजल के दाम कम करने के लिए इस 'खास प्‍लान' पर काम कर रही है महाराष्ट्र सरकार

ऑफर की वजह से पेट्रोल भरा रहे लोग
गीतांश पेट्रोल पंप के मालिक के मुताबिक वह चाहते हैं कि सरकार टैक्स कम करे ताकि उनके यहां पेट्रोल और डीजल की बिक्री पहले की तरह बढ़ सके. वहीं पेट्रोल पंप द्वारा निकाली गई इस योजना के बाद ट्रक से लेकर छोटे वाहन वाले लोग भी यहां रुक रहे हैं और डीजल डलवा कर इनाम भी पा रहे हैं. ट्रकों के ड्राइवर साफ तौर पर कहते हैं कि अगर इनाम नहीं मिलता तो हम यहां के बजाय महाराष्ट्र से डीजल डलवाते.

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close