ट्रेन में पहचान के लिए आधार कार्ड ले जाने की नहीं पड़ेगी जरूरत!

यहां ध्यान देने वाली बात ये है कि इसे उसी मोबाइल नंबर के जरिए डाउनलोड किया जा सकता है जो आधार से जुड़ा हुआ है.

Updated: Sep 14, 2017, 09:05 AM IST
ट्रेन में पहचान के लिए आधार कार्ड ले जाने की नहीं पड़ेगी जरूरत!
ट्रेन में नहीं पड़ेगी आधार कार्ड की जरूरत (प्रतीकात्मक तस्वीर)

नई दिल्ली: अब ट्रेन में सफर करने के दौरान आधार कार्ड रखने की जरूरत नहीं पड़ेगी. रेल मंत्रालय ने आरक्षित श्रेणी के यात्री के पहचान पत्र के तौर पर आधार कार्ड के डिजीटल प्रारूप ‘एम-आधार’ को भी स्वीकार करने का फैसला किया है. ‘एम-आधार’ मोबाइल ऐप है, जिसे भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण ने पेश किया है जिस पर कोई व्यक्ति अपना आधार कार्ड डाउनलोड कर सकता है. यानि ऐप पर आधार कार्ड दिखाना ही अब काफी होगा. आपको कार्ड की हार्ड कॉपी साथ में ले जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी.

हालांकि, यहां ध्यान देने वाली बात ये है कि इसे उसी मोबाइल नंबर के जरिए डाउनलोड किया जा सकता है जो आधार से जुड़ा हुआ है.

ये भी पढ़ें- जल्‍द से जल्‍द आधार से लिंक करा लें सिम कार्ड, नहीं तो इस तारीख के बाद बंद हो जाएगा नंबर
 
मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि आधार दिखाने के लिए यात्रियों को ऐप खोलना होगा और अपना पासवर्ड डालना होगा. भारतीय रेल की ट्रेनों में किसी भी आरक्षित श्रेणी के डिब्बे में ‘एम -आधार’ को यात्री की पहचान के सबूत के तौर पर स्वीकार किया जाएगा.

ये भी पढ़ें- ड्राइविंग लाइसेंस न होने पर पुलिस अब नहीं काट सकेगी आपका चालान, लेकिन ये है शर्त

आधार सेंटर कर रहे लोगों से ठगी

सरकारी काम से लेकर टैक्स फाइल करने तक के लिए अब आधार कार्ड अनिवार्य कर दिया गया है. लेकिन कई लोग अभी भी ऐसे हैं जिनके पास आधार कार्ड नहीं है. ऐसे में वे सरकार के रुख को देखते हुए आधार कार्ड बनवा रहे हैं. वहीं जिनके पास पहले से आधार है वे सरकार के हर नए आदेश के साथ उसे जरूरी दस्तावेजों के साथ लिंक करवा रहे हैं. लेकिन इस सब के बीच कहीं आप ठग तो नहीं लिए गए. कहीं आपने भी तो आधार पाने के लिए एनरोलमेंट सेंटर वाले को पैसे नहीं दिए? क्योंकि अगर आपने ऐसा किया है तो इसका मतलब ये है कि आप भी सेंटर वालों के जरिए ठग लिए गए हैं. पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें...