लोगों ने मोदी सरकार को तीन तलाक कानून के लिए नहीं, राम मंदिर बनाने के लिए चुना : प्रवीण तोगड़िया

वीएचपी के अंतरराष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया ने कहा कि लोगों ने अयोध्या में राम मंदिर बनाने के लिए मोदी सरकार को चुना था, तीन तलाक पर कानून बनाने के लिए नहीं. 

ज़ी न्यूज़ डेस्क ज़ी न्यूज़ डेस्क | Updated: Feb 9, 2018, 11:15 PM IST
लोगों ने मोदी सरकार को तीन तलाक कानून के लिए नहीं, राम मंदिर बनाने के लिए चुना : प्रवीण तोगड़िया
प्रवीण तोगड़िया ने राम मंदिर मुद्दे पर बीजेपी पर ही निशाना साधा है (फाइल फोटो)

औरंगाबाद : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सत्ताधारी भाजपा पर परोक्ष हमला बोलते हुए विश्व हिंदू परिषद (वीएचपी) के अंतरराष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया ने कहा कि लोगों ने अयोध्या में राम मंदिर बनाने के लिए मोदी सरकार को चुना था, तीन तलाक पर कानून बनाने के लिए नहीं. तोगड़िया ने कहा कि सरकार को राम मंदिर निर्माण का रास्ता साफ करने के लिए एक कानून बनाना चाहिए. उन्होंने कहा कि लोगों ने आपको (मोदी सरकार) तीन तलाक पर कानून बनाने के लिए नहीं बल्कि अयोध्या में राम मंदिर बनाने के लिए चुना है. औरंगाबाद और परभनी के दो दिन के दौरे पर आए तोगड़िया कल शाम यहां पहुंचे थे.

मंदिर के लिए कानून
उन्होंने कहा कि राम मंदिर निर्माण के लिए एक कानून पारित करना चाहिए, ताकि इसका निर्माण जल्द हो सके. तीन तलाक पर कानून बनाना है कि नहीं बनाना है, यह सरकार पर निर्भर है, लेकिन उन्हें राम मंदिर पर एक कानून बनाना चाहिए.

वीएचपी नेता ने तोगड़िया ने कहा, ‘‘हमें न्यायपालिका पर भरोसा है, लेकिन चूंकि मंदिर नहीं बनाया गया है, इसलिए इस बाबत एक कानून पारित करना चाहिए ताकि इसका निर्माण हो सके और इसके बगल में मस्जिद नहीं हो.’’ उन्होंने कहा कि उच्चतम न्यायालय ने एक बार फिर राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद पर सुनवाई स्थगित कर दी है.

जब VHP नेता प्रवीण तोगड़िया सनसनीखेज आरोप लगाते हुए रोने लगे, पढ़ें 15 खास बातें

सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई
प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा की अध्यक्षता वाली उच्चतम न्यायालय की एक पीठ ने कहा था कि वह बाबरी मस्जिद-राम जन्मभूमि विवाद पर दायर अपीलों की सुनवाई 14 मार्च को करेगी.

मंदिर का लंबे समय से इंतजार
तोगड़िया ने कहा कि लंबे समय से हिंदू समुदाय मंदिर का इंतजार करता रहा है, इसलिए इसका निर्माण होना चाहिए. विहिप नेताओं की यात्रा के मद्देनजर शहर की पुलिस ने सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए हैं. उन्होंने कहा कि दो डीसीपी, पांच एसीपी और 17 पुलिस इंस्पेक्टरों सहित सात सौ पुलिसकर्मियों को सुरक्षा मुहैया कराने की ड्यूटी में तैनात किया गया है.

जब लापता हुए तोगड़िया
पिछले सप्ताह प्रवीण तोगड़िया लापता हो गए थे. वह कई दिनों बाद अहमदाबाद के एक पार्क में बेहोशी की हालत में पड़े मिले. उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया. इससे पहले सोमवार को उनके लापता होने की वजह से वीएचपी के कार्यकर्ता सड़कों पर उतर आए थे और उनका पता लगाए जाने की मांग की. विहिप ने दावा किया कि राजस्थान पुलिस ने एक केस के सिलसिले में 62 वर्षीय तोगड़िया को हिरासत में लिया है लेकिन पुलिस ने इस बात से इनकार किया.

(इनपुट भाषा से)