केरल पुनर्निर्माण के लिए विदेशों से भीख मांगना बंद करे विजयन सरकार: कांग्रेस

कांग्रेस नेता केवी थॉमस ने कहा कि इस तरह से विदेशी मदद मांगने से केरलवासियों के आत्मसम्मान और प्रतिष्ठा को ठेस पहुंचेगा.

केरल पुनर्निर्माण के लिए विदेशों से भीख मांगना बंद करे विजयन सरकार: कांग्रेस
फाइल फोटो
Play

तिरुवनंतपुरम: कांग्रेस ने बाढ़ प्रभावित केरल के पुनर्निर्माण के लिए विदेशों से सहायता लिए जाने की योजना को वापस लिए जाने का राज्य सरकार से सोमवार को आग्रह किया. राज्य सरकार ने बाढ़ प्रभावित राज्य के पुनर्निर्माण के लिए विदेशों से धनराशि इकट्ठा करने के लिए मंत्रियों को नियुक्त किया है. सरकार के इस फैसले को लेकर निशाना साधते हुए कांग्रेस नेता के वी थॉमस ने सोमवार को कहा, ‘‘राज्य सरकार को भीख मांगने के कटोरे के साथ सहायता मांगने के लिए विदेश जाकर केरल के लोगों को अपमानित नहीं करना चाहिए.’’ 

थॉमस ने मुख्यमंत्री पिनारई विजयन से इस योजना को वापस लेने का आग्रह करते हुए कहा, ‘‘मंत्रियों और अधिकारियों को भीख का कटोरा देकर बाहर के देशों में मत भेजो.’’ यह केरलवासियों के आत्मसम्मान और प्रतिष्ठा को ठेस पहुंचाएगा. उन्होंने कहा, ‘‘विदेशों में गरिमा के साथ रह रहे भारतीयों और केरलवासियों को अपमानित न करें.’’ उन्होंने बाढ़ से नष्ट हुए आधारभूत ढांचे के पुनर्निर्माण के लिए सुझाव भी रखे.

केपीसीसी के अध्यक्ष एम एम हसन ने कहा कि मंत्रियों और अधिकारियों के विदेशी दौरों पर जाने से बाढ़ प्रभावित जिलों में पुनर्वास का काम बुरी तरह से प्रभावित होगा. उन्होंने कहा, ‘‘अच्छा यह होगा कि मंत्री अपने दौरे की योजना को वापस ले ले.’’ कांग्रेस नेता और पूर्व मुख्यमंत्री ओमन चांडी ने भी कहा कि राज्य सरकार विदेशी दौरे की योजना को छोड़ दें और इसके बजाय मंत्रियों को जिलों का प्रभार लेना चाहिए और पुनर्वास प्रयासों का समन्वय करना चाहिए.

केरल के सीएम पिनारई विजयन हुए अमेरिका रवाना, तीन हफ्ते बाद लौटेंगे देश
केरल के मुख्यमंत्री पिनारई विजयन. (फाइल फोटो)

गौरतलब है कि राज्य मंत्रिमंडल ने पिछले सप्ताह गैर निवासी केरलवासियों के जरिए विदेशों से और देश में प्रमुख शहरों से वित्तीय सहायता जुटाने का निर्णय लिया था. विदेशों से धनराशि इकट्टा करने के लिए मंत्रियों और अधिकारियों की एक विशेष टीम को भी नियुक्त किए जाने का निर्णय लिया गया था. उल्लेखनीय है कि 28 मई को मानसून आने के बाद से राज्य में बारिश और बाढ से 483 लोगों की मौत हो चुकी हैं और 14 अन्य लापता हैं.

(इनपुट-भाषा)

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close