बीके हरिप्रसाद पर पीएम मोदी की टिप्पणी को राज्यसभा के रिकॉर्ड से निकाला गया

राज्यसभा के सभापति वैंकेया नायडू ने शिकायत पर कहा था कि भाषण को देखा जाएगा और यदि कुछ आपत्तिजनक लगा तो उसे रिकॉर्ड से हटा दिया जाएगा.

बीके हरिप्रसाद पर पीएम मोदी की टिप्पणी को राज्यसभा के रिकॉर्ड से निकाला गया
राज्यसभा में भाषण के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राज्यसभा उपसभापति के रूप में एनडीए प्रत्याशी हरिवंश की जीत के बाद दिए गए अपने भाषण में कांग्रेस उम्मीदवार बीके हरिप्रसाद को लेकर एक टिप्पणी की थी, जिसे 'अपमानजनक' मानकर सदन के रिकॉर्ड से हटा दिया है. इससे पहले राज्यसभा के सभापति वैंकेया नायडू ने शिकायत पर कहा था कि भाषण को देखा जाएगा और यदि कुछ आपत्तिजनक लगा तो उसे रिकॉर्ड से हटा दिया जाएगा.

कांग्रेस की आपत्ति 
प्रधानमंत्री मोदी की टिप्पणी पर कांग्रेस ने आपत्ति जताई थी. इसके बाद उनके बयान के उस हिस्से को सदन की कार्यवाही से निकाल दिया गया. आमतौर पर सदन में भाषण के दौरान किसी आपत्तिजनक बात को कह देना आम बात है, लेकिन ऐसा बहुत कम होता है कि प्रधानमंत्री के भाषण के किसी हिस्से को हटाना पड़े.

सदन में 'हरि-कृपा' 
एनडीए उम्मीदवार हरिवंश नारायण सिंह को जीत की बधाई देते हुए प्रधानमंत्री ने कहा था कि यह चुनाव दो हरि के बीच में था. अब सदन पर 'हरि-कृपा' बनी रहेगी. पीएम मोदी ने इसके बाद बीके हरिप्रसाद के नाम का जिक्र कर एक टिप्पणी की, जिस पर कांग्रेस पार्टी ने आपत्ति की. राज्यसभा सचिवालय के मुताबिक प्रधानमंत्री के भाषण के एक हिस्से को आपत्तिजनक और अपमानजनक माना गया और उसे रिकॉर्ड से हटा दिया गया है.

राज्यसभा के उपसभापति चुनाव के लिए गुरुवार को वोट डाले गये. चुनाव में एनडीए के उम्मीदवार हरिवंश और विपक्ष के उम्मीदवार बीके हरिप्रसाद के बीच सीधा मुकाबला था. इस चुनाव में  हरिवंश को जीत मिली. जनता दल यूनाइटेड से राज्यसभा सांसद हरिवंश ने कांग्रेस के बीके हरिप्रसाद को हरा दिया. एनडीए उम्मीदवार हरिवंश को सदन में 125 वोट मिले, जबकि विपक्ष के उम्मीदवार बीके हरिप्रसाद को 105 वोट ही मिले.

(एजेंसी इनपुट के साथ)

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close