हार्दिक पटेल ने खोला एजेंडा, मेरा मुख्य मुद्दा बीजेपी को हराना है, आरक्षण नहीं

पाटीदार अनामत आंदोलन समिति के प्रमुख हार्दिक पटेल ने शुक्रवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में स्पष्ट किया कि मुख्य मुद्दा बीजेपी को हराना है, आरक्षण नहीं है.

ज़ी न्यूज़ डेस्क ज़ी न्यूज़ डेस्क | Updated: Nov 11, 2017, 12:55 AM IST
हार्दिक पटेल ने खोला एजेंडा, मेरा मुख्य मुद्दा बीजेपी को हराना है, आरक्षण नहीं
हार्दिक ने कहा कि पाटीदार, ओबीसी के खिलाफ नहीं हैं....(फोटो साभार: DNA)

अहमदाबाद: सत्ताधारी बीजेपी के खिलाफ अपने कड़े रुख को उजागर करते हुए पाटीदार अनामत आंदोलन समिति के प्रमुख हार्दिक पटेल ने शुक्रवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में स्पष्ट किया कि मुख्य मुद्दा बीजेपी को हराना है, आरक्षण नहीं है. हार्दिक ने गुजराती भाषा में कहा, "मुद्दो बीजेपी ने हरानाओ चे, अनामत नो नाथी'. उन्होंने संवाद कार्यक्रम के तहत आयोजित एक रैली को संबोधित करने के दौरान यह बात कही जिसमें ज्यादातर पटेल समुदाय के लोग जमा थे. हार्दिक ने दावा किया, "आरक्षण प्रदान के लिए कोई संवैधानिक बाधा नहीं है. मैंने 7 दिन संविधान को पढ़ा था और मुझे कहीं भी ऐसी चीज नहीं मिली जो यह बताती हो कि 50 फीसदी से अधिक आरक्षण नहीं दिया जा सकता." भीड़ ने सभाा में हार्दिक-हार्दिक के नारे लगाए. 

युवा पटेल नेता ने स्पष्ट किया कि वह किसी पार्टी में शामिल होने नहीं जा रहे हैं. यह पूछे जाने पर कि क्या कांग्रेस आरक्षण देने का इरादा रखती है, तो उन्होंने कहा कि यदि उनका इरादा आरक्षण देने का नहीं होता तो वे बातचीत नहीं करते और संभावनों को नहीं तलाशते." हार्दिक ने कहा, "वे मुझसे रात में 12 बजे आकर मिले, हमने तीन घंटे तक बातचीत की. यदि उनका इरादा नहीं होता वे इतनी देर तक बात क्यों करते." 

उन्होंने कहा कि एक और मीटिंग होनी बाकी है, इसके बाद घोषणा की जाएगी. उन्होंने भरोसा दिलाया कि जो भी फैसला लिया जाएगा, वह समुदाय से राय-मशविरा करके ही लिया जाएगा. रूपानी सरकार पर निशाना साधते हुए हार्दिक ने कहा कि किसान बहुत परेशान हैं और उन्हें मिलकर आवाज़ उठाने की जरूरत है. उन्होंने कहा वह अगले पांच दिनों में लोगों से मिलेंगे और उनकी समस्या को समझेंगे. उन्होंने स्पष्ट किया कि पाटीदार, ओबीसी के खिलाफ नहीं हैं.