राहुल गांधी आज से कर्नाटक दौरे पर, जारी रखेंगे 'मंदिर-दर्शन' की राजनीति

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी कर्नाटक में आगामी विधानसभा चुनाव के लिए यानी शनिवार से चुनाव प्रचार शुरू करने वाले हैं.

राहुल गांधी आज से कर्नाटक दौरे पर, जारी रखेंगे 'मंदिर-दर्शन' की राजनीति
राहुल गांधी सॉफ्ट हिंदुत्व' की राजनीति जारी रखेंगे...(फाइल फोटो)
Play

नई दिल्ली: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी कर्नाटक में आगामी विधानसभा चुनाव के लिए यानी शनिवार से चुनाव प्रचार शुरू करने वाले हैं. वह चार दिन तक कर्नाटक में रहेंगे. पार्टी से जुड़े सूत्रों के मुताबिक, राहुल गुजरात की तरह अपनी मंदिर दर्शन की राजनीति को कर्नाटक में भी जारी रखेंगे. यानी 'सॉफ्ट हिंदुत्व' की राजनीति जारी रखेंगे और वोटरों को लुभाने का प्रयास करेंगे. राहुल दौरे की शुरुआत हैदराबाद-कर्नाटक छेत्र के कोप्पल से करेंगे. कोप्पल में जनसभा के बाद राहुल गांधी हुलीगेम्मा मंदिर में पूजा के लिए जाएंगे. शाम को वह लिंगायतों के प्रसिद्ध गवि सिध्देश्वर मठ का दर्शन किए जाने की संभावना है. हुलीगेम्मा दुर्गा मां का मन्दिर है. दोनों ही जगह लिंगायत जाति के लोगों का प्रभाव है. इस इलाके में मुस्लिम समुदाय के लोग भी बहुतायत में हैं. शाम को वह कोपल में कॉर्पोरेशन ग्राउंड पर एक मीटिंग को भी संबोधित करेंगे.   

सूत्रों के मुताबिक, 12 फरवरी को राहुल गांधी कलबुर्गी (गुलबर्गा) के ख्वाजा बंदे नवाज़ की दरगाह भी जाएंगे और 13 को दिल्ली लौटने से पहले बिदर के "अनुभव मंटप्प" का दर्शन करेंगे.

येदियुरप्पा ने राहुल गांधी को ‘चुनावी हिंदू’ बताया
राहुल गांधी कर्नाटक में आगामी विधानसभा चुनाव के लिए आज से चुनाव प्रचार शुरू करने वाले हैं. वहीं, प्रदेश भाजपा प्रमुख बीएस येदियुरप्पा ने कांग्रेस अध्यक्ष को एक ‘चुनावी हिंदू’ बताया है. येदियुरप्पा ने यह दावा भी किया कि राहुल कांग्रेस मुक्त कर्नाटक के भाजपा के सपने को पूरा करेंगे. उन्होंने कहा कि वह चुनावी हिंदू राहुल गांधी का बेल्लारी में हार्दिक स्वागत करते हैं. कांग्रेस अध्यक्ष 'कांग्रेस मुक्त कर्नाटक' के हमारे सपने को पूरा करेंगे. उन्होंने कहा कि अतीत में जहां कहीं भी राहुल ने चुनाव प्रचार किया है वहां कांग्रेस को झटका लगा और भाजपा जीती है. उन्होंने कन्नड़ में एक अन्य ट्वीट में कहा कि राहुल का आना भाजपा के लिए शुभ संकेत है, 

कर्नाटक में बीजेपी और कांग्रेस में कांटे की टक्कर
कर्नाटक में बीजेपी और कांग्रेस में कांटे की टक्कर है. वहीं, जेडीएस के सामने अस्तित्व का संकट है. जेडीएस ने बहुजन समाज पार्टी के साथ सत्ता में वापसी करने के लिए गठबंधन किया है.  

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close