ठहराव के समय में कटौती कर चलाई जा सकती हैं 100 से ज्यादा नई ट्रेनें : रेल मंत्री

पीयूष  गोयल ने कहा, ‘‘ विश्लेषण में पाया गया है कि छोटे मार्गों पर लंबे समय तक ठहरने वाली ट्रेनों का इस्तेमाल कर100 से ज्यादा नई ट्रेनें शुरू की जा सकती हैं.’’  

ठहराव के समय में कटौती कर चलाई जा सकती हैं 100 से ज्यादा नई ट्रेनें  : रेल मंत्री
रेल मंत्री पीयूष गोयल (फाइल फोटो)
Play

नई दिल्ली: रेल मंत्री पीयूष गोयल ने शनिवार को कहा कि उनके विभाग की ओर से किए गए एक विश्लेषण में पाया गया है कि‘‘ लेओवर टाइम’’ में कटौती करके छोटे मार्गों पर 100 से ज्यादा नई ट्रेनें चलाई जा सकती हैं. ‘‘ लेओवर टाइम’’ को किसी ट्रेन के अपने प्रारंभिक स्टेशन से रवाना होने से पहले या अंतिम स्टेशन पर पहुंचने के बाद उसके ठहराव के समय के तौर पर परिभाषित किया जाता है.

रेल मंत्री ने दिया गतिमान एक्सप्रेस का उदाहरण
यहां 58 वें राष्ट्रीय लागत सम्मेलन में गोयल ने कहा, ‘‘ विश्लेषण में पाया गया है कि छोटे मार्गों पर लंबे समय तक ठहरने वाली ट्रेनों का इस्तेमाल कर 100 से ज्यादा नई ट्रेनें शुरू की जा सकती हैं.’’  केंद्रीय मंत्री ने हजरत निजामुद्दीन और आगरा के बीच चलने वाली उच्च गति वाली गतिमान एक्सप्रेस का उदाहरण दिया. इस ट्रेन को अब ग्वालियर तक चलाने का फैसला किया गया है. फिर इसका विस्तार झांसी तक किया जाएगा जिससे उसके ठहराव के समय में कटौती होगी.

रेलवे ने बदले ये 7 नियम, भर्ती का फॉर्म भरने से पहले जानना है जरूरी

रेल मंत्री ने कहा कि गतिमान एक्सप्रेस की सेवा में विस्तार किए जाने से बुंदेलखंड क्षेत्र के लोगों को फायदा भी हुआ और कोई अतिरिक्त लागत भी नहीं चुकानी पड़ी. रेल मंत्री ने कहा कि विश्लेषण का ब्योरा जल्द ही घोषित किया जा सकता है.

'भ्रष्टाचार पर लगाम लगाने में लागत लेखाकारों को बड़ी भूमिका निभानी है' 
लागत लेखाकारों( कॉस्ट अकाउंटेंट्स) और लागत निर्धारण( कॉस्टिंग) की भूमिका पर गोयल ने कहा कि भारत में व्यापार और कामकाज करने के बेहतरीन प्रतिस्पर्धी लाभ प्राप्त करने में देश को लागत प्रतिस्पर्धी बनाने में उन्हें अहम भूमिका निभानी है. उन्होंने कहा कि देश में भ्रष्टाचार पर लगाम लगाने में भी लागत लेखाकारों को बड़ी भूमिका निभानी है.

(इनपुट - भाषा)

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close