राजस्थान: जयपुर के 19 विधानसभा सीटों पर चुनाव कराने के लिेए 4636 मतदान दल हुए रवाना

चुनाव के  एक दिन पहले जिले के 4 हजार 636 मतदान केंद्रों पर मतदान कर्मी मतदान कराने के लिए रवाना हो चुके हैं.

राजस्थान: जयपुर के 19 विधानसभा सीटों पर चुनाव कराने के लिेए 4636 मतदान दल हुए रवाना
जयपुर जिले में मतदान कर्मी EVM और वीवीपैट के साथ हुए रवाना.

दीपक गोयल, जयपुर: 2018 के विधानसभा चुनाव के लिए नेताओं के चुनाव प्रचार का शोर थम सा गया है. 7 दिसंबर को राज्य की जनता उम्मीदवारों के हार-जीत का फैसला करने का जा रही है. गुरूवार को सुबह शुरू होने वाले मतदान में जयपुर जिले के 45 लाख 83 हजार 995 मतदाता 9 घंटे में 347 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला करेंगे. इस चुनाव को संपन्न कराने के लिए जिले के 4 हजार 636 मतदान केंद्रों पर मतदान कर्मी EVM और वीवीपैट के साथ रवाना हो चुके हैं.

जिले के 19 विधानसभा सीटों पर अपने भावी प्रतिनिधि चुनने के लिए होने वाले वोटिंग के लिए गुरुवार को भवानी निकेतन परिसर, झालाना संस्थानिक क्षेत्र व हिदाया मुस्लिम यूनिवर्सिटी (रामगढ़ रोड) से 4636 मतदान दल रवाना हुए हैं. विधानसभा के रिटर्निंग अधिकारियों ने मतदान दलों को ईवीएम-वीवीपैट व मतदान सामग्री के साथ रवाना किया है.

आपको बता दें कि, जयपुर जिले में पहली बार 50 महिला मतदान केंद्र और 19 आदर्श मतदान केंद्र भी स्थापित किए गए हैं. यहां पर सभी मतदानकर्मी महिलाएं ही होगी. वहीं कुछ मतदान दलों में पुरुष व महिलाएं भी शामिल की गई है. इन मतदानकर्मियों ने मतदान केंद्र पर रवाना होने से पहले डाक मतपत्र के जरिए मतदान किया है.

जानिए जयपुर जिले की फैक्ट फाइल 

इस बार सबसे ज्यादा किशनपोल में 46 प्रत्याशी मैदान में हैं. जिले के कुल मतदाताओं में 24 लाख 8 हजार 71 पुरूष मतदाता, वहीं 21 लाख 75 हजार 897 महिला मतदाता का नाम शामिल है. इसके अलावा मतदाता सूची में 27  नाम थर्ड जेंडर के रूप में शामिल है. इसके अलावा 7196 सर्विस मतदाता भी चुनाव में वोटिंग करने जा रहे हैं.जयपुुर के झोटवाड़ा विधानसभा क्षेत्र में सबसे ज्यादा 3 लाख 60 हजार 813 मतदाता है.

जिले में 19 आदर्श मतदान केन्द्र और 50 महिला प्रबंधित मतदान केंद्र भी स्थापित किए गए हैं. वहीं विशेष परिस्थिति में 5106 कंट्रोल यूनिट जिले के मतदान केंद्रों के लिए रिजर्व भी रखा हुआ है. इसके अलावा 7943 बैलट यूनिट और 6035 वीवीपैट की व्यवस्था की गई है. जिले में 1588 मतदान केंद्र को संवेदनशील माना गया है. जिसमें 278 मतदान केन्द्रों पर वेबकास्टिंग के जरिए नजर रखी जाएगी .

मतदानकर्मियों को सुबह 5 बजे संभालना होगा मोर्चा,75 मिनट पहले होगा मॉकपोल

मतदान के लिए मतदान दलों में शामिल अधिकारी, कर्मचारियों को सुबह 5 बजे तैयार होना पड़ेगा. सभी प्रत्याशियों की मौजूदगी में मॉक पोलिंग की तैयारी करने के बाद ईवीएम और वीवीपैट मशीन के सेट तैयार किए जाएंगे. मतदान से पहले मॉक पोलिंग के तहत 50 वोट डाले जाएंगे. इसके बाद मशीनों को क्लियर कर दोबारा मतदान के लिए सेट किया जाएगा. चुनाव आयोग ने सुबह 8 बजे से मतदान शुरू करने के निर्देश दिए हैं.

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close