अजमेर शरीफ दरगाह कमेटी में दान के पैसों में गड़बड़ी की आशंका, खादिम ने लिखी चिट्ठी

शिकायतकर्ता पीर नफ़ीस मिया ने बताया कि उनके द्वारा दाखिल आरटीआई में पता चला कि पेटियां रखने उठाने के संबंध में कोई नोटशीट या प्रोसिडिंग अब तक दरगाह कमिटी ने तैयार नहीं की है. 

अजमेर शरीफ दरगाह कमेटी में दान के पैसों में गड़बड़ी की आशंका, खादिम ने लिखी चिट्ठी
दरगाह की दान पेटियों के रखरखाव और बंटवारा राशि के सवाल पर दरगाह कमेटी पर सवाल खड़े हो रहे हैं. (फाइल फोटो)

रइस खान, अजमेर: अजमेर शरीफ दरगाह कमेटी की कार्यशैली को लेकर फिर से सवाल उठ रहा है. दरगाह के ही खादिम पीर नफ़ीस मिया चिश्ती ने दरगाह की दान पेटियों के रखरखाव और बंटवारा राशि के सवाल पर दरगाह कमेटी को पत्र लिखकर राजस्थान हाईकोर्ट के जारी आदेश को लागू करने की मांग की है.

अपने पत्र में दरगाह के खादिम पीर नफ़ीस मिया चिश्ती ने कहा है कि 2 साल से ज्यादा बीत जाने के बाद भी दरगाह कमेटी ने दीवान और खादिमो में दान में आने वाली राशि के बंटवारें के खुलासा नहीं होने की बात भी कही है. इसके अलावा दानपेटियों को दरगाह परिसर से हटाने और लगाने का काम किसके आदेश पर हो रहा है, इस बात की जानकारी दरगाह कमेटी के कर्मचारी को भी नहीं है. 

इस संबंध में शिकायतकर्ता खादिम पीर नफ़ीस मिया ने बताया कि उनके द्वारा दाखिल आरटीआई में पता चला कि पेटियां रखने उठाने के संबंध में कोई नोटशीट या प्रोसिडिंग अब तक दरगाह कमिटी ने तैयार नहीं की है. इसके अलावा कमेटी में जमा हो रही दानपेटियों को दरगाह परिसर से हटाने और लगाने का काम किसके आदेश पर हो रहा है, इस बात की जानकारी दरगाह कमेटी के कर्मचारी को भी नहीं है.

आरटीआई में इस खुलासे के बाद पीर नफ़ीस दान के पैसों में हेराफेरी की आशंका जताई है. उन्होंने लापरवाही करने वाले कमेटी कर्मियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही करने के लिए दरगाह नाज़िम शकील अहमद को पत्र लिखा है. 

आपको बता दें कि, नज़राना बंटवारा को लेकर दरगाह दीवान और खादिमों में लंबे समय से विवाद चल रहा है. जिस कारण उच्च न्यायालय ने दरगाह नाज़िम को इस मामले में रिसीवर नियुक्त कर पेटियां लगवाने और नज़राना बंटवारा के आदेश दिए थे. दरगाह परिसर में कोर्ट के आदेश वाले बड़े बड़े बोर्ड और आदेश लिखी दानपेटियां भी लगवा रखी है. इसके अलावा दो अलग तरह की दानपेटियां भी दरगाह के अंदर लगी हुई है.