राजस्थान चुनाव: अगर वोटर आई-डी नहीं तो इन दस्तावेजों के सहारे भी कर सकते हैं मतदान

राजस्थान के CEC आनंद कुमार ने बताया कि पहचान पत्र नहीं होने पर 12 वैकल्पिक दस्तावेजों को मतदान केंद्र पर दिखाकर अपना वोट दे सकते हैं. 

राजस्थान चुनाव: अगर वोटर आई-डी नहीं तो इन दस्तावेजों के सहारे भी कर सकते हैं मतदान
राजस्थान मे 7 दिसंबर को विधानसभा चुनाव होने जा रहा है.

भरत राज,जयपुर: लोकतंत्र के महापर्व चुनावों में भाग लेने के लिए अगर आप तैयार हैं तो मतदान के लिए जाने से पहले देख लीजिए, क्या आपके पास मतदाता पहचान पत्र(वोटर आई कार्ड ) है या नहीं. अगर आपके पास  मतदाता पहचान पत्र नहीं है तो आप इन 12 वैकल्पिक दस्तावेजों को साथ लेकर पोलिंग बुथ पर जाकर मतदान कर सकते हैं. भारत निर्वाचन आयोग ने मतदान के लिए वोटर आई कार्ड के अलावा 12 वैकल्पिक दस्तावेजों को भी मान्यता दी है. मुख्य निर्वाचन अधिकारी आनंद कुमार ने बताया कि पहचान पत्र नहीं होने पर आप इन वैकल्पिक दस्तावेजों को मतदान केंद्र पर दिखाकर अपना वोट डाल सकते हैं.

मतदाता पहचान पत्र नहीं होने पर यह होंगे विकल्प

- ड्राइविंग लाइसेन्स,

-राज्य या केन्द्र सरकार, सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों, पब्लिक लिमिटेड कम्पनियो के कर्मचारियों को जारी किए गए फोटोयुक्त सेवा पहचान पत्र,

- बैकों या डाकघरों द्वारा जारी की गई फोटोयुक्त पासबुक,

- पेन कार्ड, आरजीआई एवं एन.पी.आर द्वारा जारी किए गए स्मार्ट कार्ड, मनरेगा जॉब कार्ड,

-श्रम मंत्रालय की योजना द्वारा जारी स्वास्थ्य बीमा स्मार्ट कार्ड,

-फोटोयुक्त पेंशन दस्तावेज,

-निर्वाचन तंत्र द्वारा जारी फोटो मतदाता पर्ची,

-विधायकों, सांसदों को जारी किए सरकारी पहचान पत्र, आधार कार्ड दिखाने होंगे,

वैसे फोटोयुक्त मतदाता पहचान पत्र में लेखनी तथा वर्तनी की अशुद्धि आदि को नजरअन्दाज किया जाएगा. बशर्ते कि मतदाता की पहचान एपिक कार्ड से सुनिश्चित की जा सके. वहीं कोई मतदाता फोटो पहचान पत्र प्रदर्शित करता है, जो कि किसी अन्य विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र के निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी द्वारा जारी किया गया है, ऐसे ईपीआईसी भी पहचान स्थापित करने के लिए स्वीकृत किए जाएंगे, बशर्ते कि निर्वाचक का नाम जहां वह मतदान करने आया है, उस मतदान स्थल से संबंधित मतदाता सूची में उपलब्ध हो,

इसके अवाला मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि यदि मतदाता सूची, फोटो पहचान पत्र, फोटो मतदाता पर्ची में मतदाता की फोटो मेल नहीं करती है. तो मतदाता की पहचान सुनिश्चित करने के लिए मतदाता को निर्वाचन आयोग द्वारा मान्यता प्राप्त किसी एक वैकल्पिक फोटो दस्तावेज भी प्रस्तुत करना होगा.

आपको बता दें कि, राज्य के 199 विधानसभा सीट के लिए मतदाता 7 दिसंबर को मतदान करने जा रहे हैं.

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close