अलवर के अस्पताल में हुआ एक प्लास्टिक बेबी का जन्म, दुर्लभ बीमारी से है ग्रसित

शिशु को जयपुर जे के लोन अस्पताल के लिए रेफर कर दिया गया. इसके बारे में बात करते हुए चिकित्सकों ने बताया इस तरह के केस लाखो में कोई एक होता है. 

अलवर के अस्पताल में हुआ एक प्लास्टिक बेबी का जन्म, दुर्लभ बीमारी से है ग्रसित
कोनोडियल नामक बीमारी से ग्रस्त है शिशु. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

अलवर: राजस्थान के अलवर के साहिल अस्पताल में सोमवार को एक दुर्लभ बच्चे ने जन्म लिया है. यह बच्चा एक दुर्लभ बीमारी से ग्रस्त है. जानकारी के मुताबिक भरतपुर जिले के सीकरी निवासी सिमरन ने इस शिशु को सोमवार शाम 6 बजकर 24 मिनट पर इस बच्चे को जन्म दिया. इस बीमारी के साथ पैदा होने वाले बच्चों को कोलाडियन बेबी कहा जाता है. यह एक दुर्लभ बीमारी है जो 3 लाख बच्चों में किसी एक को ही होती है. 

दरअसल, जिस वक्त महिला को प्रसव पीड़ा शुरू हुई और अस्पताल में उसकी मदद के लिए उसके साथ मौजूद स्टाफ ने जैसे ही बच्चे को देखा तो पूरा स्टाफ घबरा कर कमरे से बाहर चला गया. यहां तक कि बच्चे के परिजन भी उसे देख घबरा गए. जन्म के वक्त बालक के शरीर पर प्लास्टिक जैसी परत चढ़ी हुई थी और जैसे ही वो परत हटने लगी तो शिशु के शरीर से खून निकलने लगा. हालांकि, डॉक्टर द्वारा शिशु को बचा लिया गया है. 

जिसके बाद शिशु को जयपुर जे के लोन अस्पताल के लिए रेफर कर दिया गया. इसके बारे में बात करते हुए चिकित्सकों ने बताया इस तरह के केस लाखो में कोई एक होता है. जिसे प्लास्टिक बेबी भी कहते हैं. यह बालक कोलोडियोंन बीमारी से ग्रस्त है, यह अनुवांशिक बीमारी होती है और सही उपचार मिलने पर यह बीमारी वक्त के साथ ठीक हो जाती है.