भरतपुर निवासी हेमंत कुमार की कजाकिस्तान में हत्या, MBBS की कर रहा था पढ़ाई

मृतक छात्र कजाकिस्तान के नेशनल मेडिकल कॉलेज अल्माठी में एमबीबीएस का थर्ड ईयर का छात्र था. हत्या का आरोप हॉस्टल में साथ रहने वाले रूम मेट पर है.

भरतपुर निवासी हेमंत कुमार की कजाकिस्तान में हत्या, MBBS की कर रहा था पढ़ाई
परिजन विदेश मंत्रालय सहित भारतीय दूतावास के चक्कर काट रहे हैं.

देवेन्द्र सिंह/भरतपुर: राजस्थान के भरतपुर निवासी एक छात्र हेमंत कुमार की कजाकिस्तान में हत्या हो गई. जिसकी हत्या की सूचना परिजनों को दीवाली के दिन ही मिली .जिसके बाद पूरे परिवार में मातम का माहौल है. मृतक छात्र कजाकिस्तान के नेशनल मेडिकल कॉलेज अल्माठी में एमबीबीएस का थर्ड ईयर का छात्र था. हत्या का आरोप हॉस्टल में साथ रहने वाले रूम मेट पर है.

वहीं मृतक छात्र के शव को लेकर परिजन विदेश मंत्रालय सहित भारतीय दूतावास के चक्कर काट रहे हैं. लेकिन अभी तक उन्हें कोई संतोष जनक जबाब नहीं मिल पाया है. यही नहीं परिजनों ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के ट्विटर पर ट्वीट कर इस घटना की जानकारी दी है और पीएम नरेंद्र मोदी सहित विदेश मंत्री से मदद की गुहार लगाई है. मामले में स्थानीय सांसद बहादुर कोली को भी परिजनों ने घटना की जानकारी देते हुए मदद की गुहार लगाई है.

इस मामले में मृतक छात्र हेमन्त कुमार के पिता दारा सिंह ने बताया है कि घटना के सम्बंध में उनको 8 नवम्बर को पता चला. जिसकी सूचना उनको इसी यूनिवर्सिटी में एमबीबीएस की पढ़ाई करने वाले भरतपुर के ही रहने वाले दूसरे छात्र ने फोन पर दी. मृतक के पिता दारा सिंह ने बताया है कि उसके बेटे के साथ हॉस्टल में मणिपुर के 5 छात्र ओर रहते थे. इनमे से एक टालिन नाम के छात्र के 80 हजार रुपये हॉस्टल के रुम से चोरी हो गए थे. जिसका शक उसको उनके पुत्र पर था.

दारा सिंह के मुातबिक इस सम्बंध में टालिन ने कजाकिस्तान के पुलिस स्टेशन में एफआईआर भी दर्ज कराई थी. जिसके बाद पुलिस ने हॉस्टल पहुंच कर सभी छात्रों के फिंगर प्रिंट लिए थे जिसकी जांच चल रही थी. इस दौरान टालिन ने मृतक छात्र के घर पर भी फोन करके घटना की जानकारी दी और वाट्सअप पर मैसेज किया था कि हेमन्त चोर है. इसके बाद उनको अपने बेटे की हत्या की खबर मिली है.

उधर शव को लेकर परिजन भारतीय दूतावास से सम्पर्क कर रहे है लेकिन छुट्टी होने के चलते कोई जबाब नहीं मिला है. अहम बात यह है कि मृतक के माता -पिता के पास उस यूनिवर्सिटी का कोई भी कॉन्टेक्ट नम्बर तक नहीं है. उन्होंने अपने बेटे को एक एजेंट के जरिये ही विदेश में पढ़ाई करने के लिए भेजा था, जिससे भी वह लगातार संपर्क साध रहे है लेकिन परिजनों की बात अब तक उस एजेंट से नहीं हो पाई है. अब हेमन्त की हत्या हुई या उसने आत्म हत्या की है इस मामले का खुलासा तो पुलिस की पोस्टमार्टम रिपोर्ट से ही हो सकेगा. 

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close